चुनाव के बाद बंगाल में बढ़ने लगे कोरोना केस, ममता सरकार ने नतीजों से पहले किया आंशिक लॉकडाउन का ऐलान

चुनाव ख़त्म होने के अगले दिन ही ममता सरकार ने पश्चिम बंगाल में आंशिक रूप से लॉकडाउन लगा दिया है।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (पीटीआई)

चुनावी नतीजों के आने से पहले ही पश्चिम बंगाल में ममता सरकार ने आंशिक रूप से लॉकडाउन लगा दिया गया है। विधानसभा चुनाव के बाद ही पश्चिम बंगाल में कोरोना के मामले काफी तेजी से बढ़ने लगे थे। हालांकि अलग अलग जगहों पर मतदान होने के कारण पश्चिम बंगाल में लॉकडाउन नहीं लगाया गया था। अब चुनाव ख़त्म होने के अगले दिन ही ममता सरकार ने पश्चिम बंगाल में आंशिक रूप से लॉकडाउन लगा दिया है। आंशिक रूप से लगाए गए लॉकडाउन के दौरान सिर्फ आवश्यक सेवाओं को ही छूट दी गई है।

पश्चिम बंगाल सरकार द्वारा जारी आदेश का अनुसार लॉकडाउन के दौरान सभी शॉपिंग मॉल, रेस्तरां, ब्यूटी पॉर्लर, जिम, स्पा और स्विमिंग पुल बंद रहेंगे। इसके अलावा अगले आदेश तक सभी सामाजिक, सांस्कृतिक, शैक्षणिक और मनोरंजन संबंधी कार्यक्रमों में लोगों के जुटने पर पाबंदी रहेगी। हालांकि बंगाल में  बाजार, व्यापारिक स्थल सुबह सात बजे से 10 बजे तक और अपराह्न तीन बजे से शाम पांच बजे तक खुलेंगे। साथ ही घर पर सामान की आपूर्ति की इजाजत होगी।

इसके अलावा आदेश में यह भी कहा गया है कि मतगणना से जुड़ी प्रक्रियाएं और जीत की रैली निर्वाचन आयोग के प्रोटोकॉल के अनुसार होंगी। दवा की दुकानें, चिकित्सीय उपकरण, किराना की दुकान और होम डिलीवरी सेवाओं को आदेश से बाहर रखा गया है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने ‘पीटीआई-भाषा’ से कहा, ‘‘प्रशासन द्वारा स्थिति की फिर से समीक्षा करने तक पाबंदियां जारी रहेंगी।’’ आदेश का उल्लंघन करने वालों पर कानून की उपयुक्त धाराओं के तहत कार्रवाई की जाएगी।

पश्चिम बंगाल चुनाव की तारीखों का ऐलान होने के समय कोरोना के इतने ज्यादा मामले सामने नहीं आ रहे थे। हालांकि बाद में चुनाव प्रचार के दौरान नेताओं की रैली में कोरोना प्रोटोकॉल का जमकर उल्लंघन हुआ और सोशल डिस्टेंसिंग की जमकर धज्जियां उड़ाई गई। जिसके बाद पश्चिम बंगाल में कोरोना के मामले काफी तेजी से बढ़ने लगे। इतना ही नहीं चुनाव लड़ रहे कई उम्मीदवार भी कोरोना संक्रमित हो गए।

बीते दिनों पश्चिम बंगाल में एक तृणमूल उम्मीदवार की मौत भी कोरोना संक्रमण की वजह से हो गई थी। इसके अलावा पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में तो संक्रमण अपने चरम पर है। आंकड़ो के अनुसार कोलकाता में कोरोना जांच करवा रहा हर तीसरा शख्स पॉजिटिव पाया जा रहा है। जबकि पिछले साल ये आंकड़े काफी कम हुआ करते थे और राज्य में पॉजिटिविटी रेट भी 9.70 फीसदी ही थी।

पश्चिम बंगाल में पिछले 24 घंटे में 17,411 नए कोरोना के मामले सामने आए। वहीं करीब 96 लोगों की मौत इस महामारी की वजह से ही गई। जारी किए गए आंकड़ो के साथ ही राज्य में अबतक कुल मामले 828366 हो गए हैं। वहीं अबतक करीब 11344 मरीजों की मौत इस महामारी की वजह से हुई है।

Next Stories
1 ‘क्लेवीरा’: कोरोना के कौन से मरीजों को दी जा सकती है यह एंटी वायरल दवा? जानें
2 पिता का शव मांगा तो बेटे को पीटने लगे CMO, देने लगे भद्दी गालियां
3 सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र को लगाई फटकार, कहा- सोशल मीडिया पर ऑक्सीजन, बेड की शिकायत गलत नहीं, कार्रवाई हुई तो अवमानना
यह पढ़ा क्या?
X