ताज़ा खबर
 

मोदी के मंत्री का तंज- सोनिया गांधी का ‘अंकगणित’ कमजोर, सही से जोड़ नहीं पाईं! 

बीजेपी इस बात को लेकर आश्वस्त है कि कल लोकसभा में मोदी सरकार बहुमत साबित कर देगी क्योंकि एनडीए के पास पर्याप्त संख्या बल है। इसके अलावा विपक्षी खेमा टूटने लगा है। बीजेपी इस बात से भी खुश है कि उसका विरोध करने वाली सहयोगी पार्टी शिवसेना भी इस मुद्दे पर उसके साथ है।

सोनिया गांधी व प्रधानमंत्री मोदी। (फाइल)

केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार ने विपक्ष का अविश्वास प्रस्ताव स्वीकार किए जाने के दूसरे ही दिन चुटकी ली है और यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी पर तंज कसा है। अनंत कुमार ने कहा है कि कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष का अंकगणित कमजोर है। उन्होंने मौजूदा दौर में भी साल 1996 की राजनैतिक स्थिति से गुणा-भाग कर लिया है। संसद भवन के बाहर मीडिया से उन्होंने कहा, “हमें पता है कि तब क्या हुआ था लेकिन आज स्थितियां बदली हुई हैं। उनकी गणना गलत साबित होगी क्योंकि मोदी सरकार के पास सदन के अंदर और बाहर दोनों मोर्चों पर बहुमत हासिल है।” कुमार ने कहा, एनडीए अविश्वास मत के खिलाफ वोट करेगा और एनडीए से बाहर के भी कुछ साथी हमें सपोर्ट करेंगे।” बता दें कि एक दिन पहले ही सोनिया गांधी ने कहा था कि कौन कहता है कि उनके पास नंबर नहीं है।

संसदीय कार्य मंत्री ने साल 1999 में सोनिया गांधी के उस बयान पर भी चुटकी ली जिसमें सोनिया ने कहा था कि हमारे पास 272 सांसद हैं और कई हमारे साथ आ रहे हैं। दरअसल, एक वोट से अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार गिरने के बाद सोनिया गांधी ने दावा किया था कि उनके पास बहुमत है क्योंकि 272 सांसद हैं और कुछ सांसद साथ आ रहे हैं लेकिन ऐसा नहीं हो सका और कांग्रेस सरकार नहीं बना पाई। उसी साल हुए आम चुनाव में फिर से एनडीए की जीत हुई और अटल बिहारी वाजपेयी प्रधानमंत्री बने थे।

बीजेपी इस बात को लेकर आश्वस्त है कि कल (शुक्रवार, 20 जुलाई) लोकसभा में मोदी सरकार बहुमत साबित कर देगी क्योंकि एनडीए के पास पर्याप्त संख्या बल है। इसके अलावा विपक्षी खेमा टूटने लगा है। बीजेपी इस बात से भी खुश है कि उसका विरोध करने वाली सहयोगी पार्टी शिवसेना भी इस मुद्दे पर उसके साथ आ गई है। पार्टी के भी कुछ नेता (शत्रुघ्न सिन्हा) जो नाराज चल रहे थे वो इस वक्त पार्टी के साथ खड़े हैं। बीजेपी मौजूदा लोकसभा में 535 सदस्यों में से 312 के समर्थन होने का दावा कर रही है। इनमें से 274 तो अकेले बीजेपी की ही सांसद हैं जबकि बहुमत के लिए मात्र 268 सांसदों के वोट की ही जरूरत है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 नौसेना को निशाना बनाने की तैयारी कर रहा जैश-ए-मोहम्मद, समंदर में आतंकियों को दे रहा ट्रेनिंग
2 जिस पार्टी ने लाया बीजेपी के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव, उसी के सांसद लोकसभा से रहेंगे गैर हाजिर!
3 ईसाई बना दिए जाने की आशंका ने भी मंगल पांडे को बनाया विद्रोही! पढ़ें आजादी की पहली जंग छेड़ने वाले स्वतंत्रता सेनानी की कहानी
ये पढ़ा क्या?
X