ताज़ा खबर
 

टीकाकरण को लेकर विपक्ष ना करे राजनीति- लोकसभा में बोले स्वास्थ्य मंत्री

शुक्रवार को सदन शुरू होने से पहले कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने कहा कि इस स्पाईवेयर को इजरायल ने आतंकियों के खिलाफ हथियार की तरह इस्तेमाल करने के लिए बनाया था। लेकिन प्रधानमंत्री मोदी और गृह मंत्री अमित शाह ने पेगासस का इस्तेमाल भारतीय लोकतंत्र के खिलाफ किया।

Edited By रुंजय कुमार नई दिल्ली | Updated: Jul 23, 2021 1:51:07 pm
लोकसभा में शुक्रवार को स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री मनसुख मंडाविया ने कहा कि देश में कोरोना टीकाकरण अभियान को लेकर राजनीति नहीं होनी चाहिए। (फोटो – पीटीआई)

 लोकसभा में केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री मनसुख मंडाविया ने कहा कि भारत सरकार कोरोना के खिलाफ लोगों के शीघ्र टीकाकरण को लेकर पूरी तरह से प्रतिबद्ध है तथा इस विषय पर विपक्ष को राजनीति करने की बजाय एक साथ मिलकर टीकाकरण अभियान को प्रोत्साहित करना चाहिए एवं भ्रम फैलाने वालों को जवाब देना चाहिए । 

लोकसभा में शुक्रवार को प्रश्नकाल के दौरान स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री मनसुख मंडाविया ने कहा कि देश में कोविड-19 के संदर्भ में टीकाकरण को लेकर राजनीति नहीं होनी चाहिए। कोविड संकट के समय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संघीय ढांचे के अनुरूप सामूहिक प्रयास पर बल दिया । उन्होंने कहा कि कई राज्यों एवं विपक्षी दलों द्वारा सवाल उठाया जाता था कि स्वास्थ्य राज्य का विषय है और इस विषय पर राज्यों को विश्वास में लेना चाहिए । राज्यों ने कहा था कि उन्हें भी टीका खरीदने की अनुमति मिलनी चाहिए ।

इजरायली स्पाईवेयर पेगासस के जरिए पत्रकार, नेताओं और सामाजिक कार्यकर्ताओं की जासूसी का मुद्दा गरमाया हुआ है। शुक्रवार को सदन शुरू से पहले मीडिया से बातचीत करते हुए कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने कहा कि इस स्पाईवेयर को इजरायल ने आतंकियों के खिलाफ हथियार की तरह इस्तेमाल करने के लिए बनाया था। लेकिन प्रधानमंत्री मोदी और गृह मंत्री अमित शाह ने पेगासस का इस्तेमाल भारतीय लोकतंत्र के खिलाफ किया। इसलिए इस पूरे मामले की जांच होनी चाहिए और गृह मंत्री अमित शाह को अपना इस्तीफा देना चाहिए। वहीं आईटी मंत्री अश्विनी वैष्णव से कागज़ छीनने को लेकर TMC के शांतनु सेन को मानसून सत्र के लिए सस्पेंड कर दिया गया है। साथ ही राज्यसभा की कार्यवाही 12 बजे तक स्थगित कर दी गई है।

इस दौरान राहुल गांधी ने कहा कि इस स्पाईवेयर को इजरायल ने आतंकियों के खिलाफ हथियार की तरह इस्तेमाल करने के लिए बनाया था। लेकिन प्रधानमंत्री मोदी और गृहमंत्री अमित शाह ने भारत की संवैधानिक संस्थाओं के खिलाफ पेगासस का इस्तेमाल किया। साथ ही उन्होंने कहा कि मेरा भी फोन टैप किया गया। यह राहुल गांधी की प्राइवेसी का मामला नहीं है, बल्कि वे विपक्ष के नेता हैं और वे लोगों की आवाज उठाते हैं। यह उसपर हमला है। पेगासस के जरिए जनता की आवाज पर आक्रमण हुआ है। सुप्रीम कोर्ट पर पेगासस का इस्तेमाल किया गया। राफेल की जांच को रोकने के लिए इसका इस्तेमाल किया गया। नरेंद्र मोदी ने इस हथियार का इस्तेमाल हमारे देश के खिलाफ किया। इसलिए पेगासस के मामले को लेकर नरेन्द्र मोदी के खिलाफ न्यायिक जांच होनी चाहिए। क्योंकि इसका ऑथराइजेशन PM और गृह मंत्री ही कर सकते हैं।

Live Blog

Highlights

    13:14 (IST)23 Jul 2021
    जंतर मंतर पर दूसरे दिन भी किसान संसद जारी

    12:41 (IST)23 Jul 2021
    राज्यसभा की कार्यवाही दोपहर 2:30 बजे तक के लिए स्थगित

    (फोटो - एएनआई)

    12:28 (IST)23 Jul 2021
    26 जुलाई तक के लिए लोकसभा स्थगित

    लोकसभा को सोमवार 26 जुलाई तक के लिए स्थगित कर दिया गया है।

    12:07 (IST)23 Jul 2021
    कानून वापस होने तक संसद में साझा प्रदर्शन करेगी अकाली दल और बसपा: अकाली नेता सुखबीर सिंह बादल

    शिरोमणी अकाली दल के नेता सुखबीर सिंह बादल ने कहा है कि अकाली दल और बसपा का एक ही एजेंडा है कि किसानों की आवाज सुनी जाए और कानून वापस लिया जाए। जब तक ये कानून रद्द नहीं होते हम दोनो पार्टी सदन के अंदर और बाहर लगातार प्रदर्शन करेंगे और करते रहेंगे।

    11:46 (IST)23 Jul 2021
    दूसरे दिन जंतर-मंतर पहुंचे किसान

    11:28 (IST)23 Jul 2021
    पेगासस मुद्दे को लेकर गांधी मूर्ति के पास विपक्षी सांसदों का विरोध प्रदर्शन शुरू

    11:06 (IST)23 Jul 2021
    पहले किसानों को कहा मवाली, फिर केंद्रीय मंत्री ने वापस लिए अपने शब्द; मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने की इस्तीफे की मांग

    बृहस्पतिवार को केंद्रीय मंत्री और भाजपा नेता मीनाक्षी लेखी ने तीन कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसान संगठनों की आलोचना करते हुए उन्हें ‘‘मवाली’’ करार दिया। टिप्पणी पर विवाद खड़ा होने के बाद लेखी ने ट्वीट किया कि उनकी बात को ‘‘तोड़-मरोड़कर’’ पेश किया गया है और यदि कोई आहत हुआ है तो वह अपने शब्द वापस लेती हैं। पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने केंद्र के तीन कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों को 'मवाली' कहने पर केंद्रीय मंत्री मीनाक्षी लेखी से तत्काल इस्तीफे की मांग की। सिंह के बयान के मुताबिक, सत्ताधारी पार्टी द्वारा असहमति और विरोध की सभी आवाजों को "दबाने" के कथित शर्मनाक प्रयासों को देखते हुए, यह स्पष्ट हो गया है कि केंद्र किसानों की भावना को तोड़ने में विफल रहा है। मीडिया संगठनों पर आईटी के छापे की नवीनतम घटना को लेकर उन्होंने राजग सरकार की उसके खिलाफ बोलने की हिम्मत करने वाली हर एक आवाज को "दबाने" के उसके प्रयासों के लिए फटकार भी लगाई।

    10:34 (IST)23 Jul 2021
    तीनों कानूनों से अडानी अंबानी जैसे लोग बनेंगे जमींदार: कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे

    कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि हमने नरेंद्र सिंह तोमर को बताया कि 3 कानूनों में क्या कमियां हैं। एक ही मकसद है कि तीनों कानून वापस लेकर, सबसे चर्चा करके किस ढ़ंग से कौन से कानून ला सकते हैं। उस समय ईस्ट इंडिया कंपनी शोषण करती थी आज अडानी, अंबानी जैसे बड़े लोग जमींदार बनकर बैठेंगे।

    10:11 (IST)23 Jul 2021
    आईटी मंत्री के हाथों से पेपर छीन कर फाड़ देने की घटना को लेकर उपराष्ट्रपति से मिलेंगे भाजपा नेता

    समाचार एजेंसी एएनआई के सूत्रों के अनुसार राज्यसभा में सदन के नेता पीयूष गोयल, उपनेता मुख्तार अब्बास नकवी और संसदीय मामलों के राज्य मंत्री वी. मुरलीधरन कल टीएमसी सांसद शांतनु सेन के आईटी मंत्री अश्विनी वैष्णव के हाथों से पेपर छीन कर उसे फाड़ देने की घटना को लेकर सभापति एम.वेंकैया नायडू से मिलेंगे। 

    09:45 (IST)23 Jul 2021
    जंतर-मंतर के लिए किसान बस में रवाना

    09:18 (IST)23 Jul 2021
    किसानों को मवाली कहने को लेकर सोशल मीडिया पर भी उठी मीनाक्षी लेखी के इस्तीफे की मांग

    केंद्रीय मंत्री मीनाक्षी लेखी के द्वारा किसानों को मवाली कहने पर विवाद बढ़ता जा रहा है. विरोधी पार्टियों ने मीनाक्षी लेखी के इस्तीफे की मांग की है। वहीं शुक्रवार को सोशल मीडिया पर भी मीनाक्षी लेखी की इस्तीफे की मांग उठने लगी। ट्विटर पर मीनाक्षी लेखी इस्तीफा दो वाला हैशटैग भी ट्रेंड करने लगा।

    08:58 (IST)23 Jul 2021
    किसान संसद के मद्देनजर जंतर मंतर पर भारी सुरक्षाबल तैनात

    08:31 (IST)23 Jul 2021
    अब तक काफी हंगामेदार रहा मानसून सत्र

    संसद का मानसून सत्र अब तक काफी हंगामेदार रहा है। केंद्र के तीन कृषि कानूनों के मुद्दे पर कांग्रेस और कुछ अन्य विपक्षी दलों के सदस्यों के हंगामे के कारण बृहस्पतिवार को लोकसभा की कार्यवाही तीन बार के स्थगन के बाद दिन भर के लिए स्थगित कर दी गई। कांग्रेस नेताओं ने तो संसद परिसर में महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने ही कृषि कानून के विरोध में नारेबाजी की। इस प्रदर्शन में राहुल गांधी भी शामिल हुए।

    08:14 (IST)23 Jul 2021
    दिल्ली की सीमाओं पर प्रदर्शन कर रही महिला किसानों के कल्याण को लेकर गहरी चिंता है : केंद्र

    महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने बृहस्पतिवार को कहा कि दिल्ली की सीमाओं पर विरोध प्रदर्शन कर रही महिला किसानों के कल्याण को लेकर सरकार बहुत चिंतित है। एक प्रश्न के लिखित जवाब में स्मृति ने राज्यसभा को बताया कि कृषि मंत्रालय ने प्रदर्शनकारी किसान संघों से अपील की है कि खराब मौसम और कोविड महामारी को देखते हुए महिलाओं से घर लौट जाने का अनुरोध किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा ‘‘सरकार को महिला किसानों के कल्याण की गहरी चिंता है। कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय ने किसान संघों के साथ चर्चा के दौरान उनसे अपील की कि बच्चों और बुजुर्गों तथा खास तौर पर महिलाओं से, खराब मौसम और कोविड महामारी को देखते हुए घर लौट जाने का अनुरोध किया जाना चाहिए।’’

    08:13 (IST)23 Jul 2021
    प्रदर्शन खत्म करके वार्ता के लिए आएं: तोमर की प्रदर्शनकारी किसानों से अपील

    तीन नये कृषि कानूनों का विरोध करने के लिए कुछ किसानों के जंतर-मंतर पर पहुंचने के बीच केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने बृहस्पतिवार को उनसे आंदोलन का रास्ता छोड़कर वार्ता के लिए आने की अपील की। तोमर ने दावा किया कि देशभर में किसानों ने तीनों कृषि कानूनों का समर्थन किया है। दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल से विशेष अनुमति मिलने के बाद 200 किसानों का एक समूह संसद के मानसून सत्र के बीच केंद्र के तीन कृषि कानूनों के विरोध में मध्य दिल्ली में संसद भवन परिसर के समीप जंतर मंतर पहुंचा। उसे कड़ी सुरक्षा के बीच नौ अगस्त तक प्रदर्शन करने की इजाजत मिली है। जंतर-मंतर पर किसानों के प्रदर्शन के बारे में पूछे जाने पर तोमर ने कहा, ‘‘ मैं आपके (मीडिया के) माध्यम से बताना चाहता हूं कि किसानों को विरोध का रास्ता छोड़कर वार्ता के लिए आना चाहिए। यदि वे विधेयकों में किन्हीं मुद्दों को लेकर आते हैं तो हम उन पर चर्चा करने के लिए तैयार हैं।’’

    05:54 (IST)23 Jul 2021
    किसानों के प्रदर्शन को लेकर पुलिस चौकस

    गणतंत्र दिवस के दिन लाल किले पर हुई हिंसा को ध्‍यान में रखते हुए दिल्‍ली पुलिस ने गुरुवार को जंंतर मंतर पर शुरू हुए किसानों के प्रदर्शन के लिए अपनी चौकसी बढ़ा दी है।

    04:37 (IST)23 Jul 2021
    प्रदर्शन खत्‍म कर वार्ता करेंं किसान : तोमर

    जंतर मंतर पर पहुंचे किसानों से केंद्रीय कृषि मंत्री  नरेंद्र सिंह तोमर ने फिर बातचीत की अपील की। तोमर ने दावा किया कि देशभर के किसानों ने तीनों कृषि कनूनों का समथर्न किया है।

    03:33 (IST)23 Jul 2021
     जंतर-मंतर पर बैठी किसानों की 'संसद', बनाए गए तीन स्पीकर

    कृषि कानून के खिलाफ किसानों का आंदोलन जारी है और अब जंतर-मंतर पर किसान संसद की शुरुआत की गई है। कड़ी सुरक्षा के बीच गुरुवार सुबह किसान जंतर मंतर पहुंचे, किसान नेता राकेश टिकैत का कहना है कि हम बाहर अपना मुद्दा उठा रहे हैं, विपक्ष को सदन में.हमारी आवाज बनना चाहिए।. 

    02:20 (IST)23 Jul 2021
    सम्‍भल: हाईवे पर क‍िसानों के बैठने से वैकल्पिक मार्ग से रवाना क‍िए जा रहे वाहन, वार्ता के प्रयास जारी

    सम्‍भल जिला मुख्यालय पर किसानों के प्रदर्शन के चलते आगरा मुरादाबाद नेशनल हाईवे 509 वनवे हो गया है। इससे भारी वाहनों को निकालने में समस्या आ रही है। हालांकि अभी जाम की स्थिति नहीं है। यातायात पुलिस के द्वारा सक्रियता दिखाते हुए चार अलग-अलग स्थानों से बड़े वाहनों को डायवर्ट किया जा रहा है। माना जा रहा है क‍ि जल्‍द ही प्रशासनिक अधिकार‍ियों से वार्ता के बाद क‍िसानों का प्रदर्शन खत्‍म हो जाएगा। इसके ल‍िए प्रशासनिक स्‍तर पर भी प्रयास शुरू कर द‍िए गए हैं।

    22:21 (IST)22 Jul 2021
    टीएमसी की संस्कृति शोरगुल करने, संसद में प्रतियां फाड़ने की है : नड्डा

    भाजपा अध्यक्ष जे. पी. नड्डा ने राज्यसभा में केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव से टीएमसी सदस्यों द्वारा उनके बयान की प्रति छीनने एवं उन्हें फाड़ने की बृहस्पतिवार को कड़ी आलोचना की और कहा कि उनका आचरण लोकतांत्रिक मूल्यों के खिलाफ एवं निंदनीय है।

    20:30 (IST)22 Jul 2021
    फिर आप उन लोगों को किसान बोल रहे हैं...मवाली हें वह लोग: लेखी

    केंद्रीय मंत्री व नयी दिल्ली से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सांसद मीनाक्षी लेखी ने केंद्र के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ राजधानी दिल्ली की विभिन्न सीमाओं सहित अन्य स्थानों पर आंदोलन कर रहे आंदोलनकारियों को किसान कहने पर आपत्ति जताई और बृहस्पतिवार को कहा कि ‘‘वह लोग मवाली हैं’’।

    19:16 (IST)22 Jul 2021
    राज्यसभा में विपक्षी सदस्यों के ‘दुर्व्यवहार’ के खिलाफ कार्रवाई की मांग करेगी सरकार: सूत्र

    सरकार राज्यसभा में बृहस्पतिवार को सत्ताधारी दल के सदस्यों के साथ कथित तौर पर ‘‘दुर्व्यवहार’’ करने वाले विपक्षी दलों के सदस्यों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करेगी।

    18:19 (IST)22 Jul 2021
    किसानों के लिए इस तरह की टिप्पणी करना गलत, हम किसान हैं, गुंडे नहीं: टिकैत

    मीनाक्षी लेखी की टिप्पणी पर बीकेयू नेता राकेश टिकैत ने कहा कि गुंडे वे हैं जिनके पास कुछ नहीं है। किसानों के लिए इस तरह की टिप्पणी करना गलत है। हम किसान हैं, गुंडे नहीं। किसान हैं जमीन के अन्नदाता। 

    17:08 (IST)22 Jul 2021
    किसान नेताओं के फोन नंबर साल 2020-21 के आंकड़ों में मिलेंगे- योगेंद्र यादव

    स्वराज इंडिया के अध्यक्ष योगेंद्र यादव ने कहा कि किसान नेताओं के फोन नंबर साल 2020-21 के आंकड़ों में मिलेंगे। यादव ने कहा, ‘‘जब यह आंकड़ा सार्वजनिक होगा, निश्चित तौर पर हमारे नंबर भी मिलेंगे।’’

    16:20 (IST)22 Jul 2021
    प्रदर्शनकारी किसानों ने सरकार पर जासूसी कराने का अंदेशा जताया

    केंद्र के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे किसान नेताओं ने बृहस्पतिवार को कहा कि उन्हें आशंका है कि सरकार इजराइली सॉफ्टवेयर पेगासस के जरिए उनकी जासूसी करवा रही है।

    15:24 (IST)22 Jul 2021
    धरी रह गई विपक्ष से निपटने की भाजपा की तैयारियां

    संसद में विपक्ष के हमलों का सामना करने के लिए सुबह भाजपा के कोर ग्रुप की बैठक हुई। इसमें पीएम मोदी के साथ गृह मंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी शामिल रहे। बताया गया है कि बैठक में संसद सत्र को लेकर पार्टी की रणनीति पर विचार हुआ। इस बैठक में मंत्री किरण रिजिजू, नरेंद्र तोमर और भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा भी शामिल हुए थे। हालांकि, विपक्ष के हंगामे के बाद भाजपा की सारी तैयारियां धरी की धरी रह गईं। 

    14:56 (IST)22 Jul 2021
    जंतर-मंतर से बोले टिकैत- संसद में हमारा मुद्दा उठाने वाली पार्टियों पर नजर

    जंतर-मंतर पहुंचने के बाद भाकियू नेता किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि हम यहां पर अपनी आवाज़ उठाएंगे, विपक्ष को सदन के अंदर हमारी आवाज़ बनना चाहिए। उन्होंने कहा कि हमारी हर उस पार्टी पर नजर है, जो संसद में हमारे लिए आवाज उठा रही है। किसान नेता शिव कुमार के मुताबिक, किसान संसद में तीन स्पीकर, तीन डिप्टी स्पीकर बनाए गए हैं। हर किसी को 90 मिनट का वक्त मिला है, एक स्पीकर के साथ एक डिप्टी मौजूद रहेगा।

    14:30 (IST)22 Jul 2021
    विपक्ष के हंगामे के चलते लोकसभा-राज्यसभा की कार्यवाही फिर स्थगित

    विपक्ष ने कृषि कानून से लेकर कोरोनावायरस और पेगासस जासूसी मामले में हंगामा जारी रखा है। इसके चलते राज्यसभा की कार्यवाही कल तक के लिए स्थगित कर दी गई। लोकसभा को भी शाम 4 बजे तक के लिए स्थगित किया गया।

    13:58 (IST)22 Jul 2021
    स्वास्थ्य राज्यमंत्री के खिलाफ कांग्रेस ने भी बढ़ाया प्रस्ताव

    कांग्रेस सांसद केसी वेणुगोपाल ने राज्यसभा में स्वास्थ्य राज्यमंत्री भारती प्रवीण पवार के खिलाफ विशेषाधिकार प्रस्ताव बढ़ाया है। दरअसल, पवार ने एक दिन पहले ही कहा था कि राज्यों ने ऑक्सीजन की कमी से मौतों का डेटा सरकार नहीं भेजा, जिसकी वजह से इससे हुई मौतों का आंकड़ा मौजूद नहीं है। 

    13:29 (IST)22 Jul 2021
    पेगासस जासूसीः यूपी में कांग्रेस का प्रदर्शन, पुलिस से भिड़े कार्यकर्ता

    उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में पेगासस जासूसी के आरोपों को लेकर कांग्रेस ने गुरुवार को जबरदस्त प्रदर्शन किया। देखते ही देखते पार्टी कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच झड़प हो गई, जिसके बाद कई कार्यकर्ता और यूपी कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष को हिरासत में ले लिया गया। बता दें कि कांग्रेस ने आज पेगासस जासूसी को लेकर सभी राज्यों में राजभवन तक मार्च का लक्ष्य रखा है।

    13:10 (IST)22 Jul 2021
    अकाली सांसदों का कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन, तोमर को दिखाए पोस्टर

    शिरोमणि अकाली दल के सांसदों ने गुरुवार को कृषि कानूनों के खिलाफ संसद परिसर में प्रदर्शन किया। इस दौरान सांसदों ने कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर को विरोध के पोस्टर भी दिखाए और नारेबाजी की। 

    12:43 (IST)22 Jul 2021
    प्रदर्शन के लिए जंतर-मंतर पहुंचे किसान संगठन
    12:34 (IST)22 Jul 2021
    संयुक्त किसान मोर्चा बोला- मानसून सत्र के अंत तक चलेगा प्रदर्शन

    संयुक्त किसान मोर्चा ने कहा है कि संसद का मॉनसून सत्र यदि 13 अगस्त को समाप्त होगा तो जंतर-मंतर पर उनका विरोध प्रदर्शन भी अंत तक तक जारी रहेगा। हालांकि, दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने 9 अगस्त तक प्रदर्शन की अनुमति दी है।

    12:08 (IST)22 Jul 2021
    दिल्ली पुलिस ने किसान संगठनों से मांगा हिंसा न होने देने का शपथपत्र

    दिल्ली पुलिस ने कहा है कि कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे किसान यूनियनों का नेतृत्व कर रहे संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) को इस बारे में एक शपथपत्र देने के लिए कहा गया है कि सभी कोविड नियमों का पालन किया जाएगा और आंदोलन शांतिपूर्ण होगा। दूसरी तरफ किसान संगठनों ने आरोप लगाया कि पुलिस जानबूझकर उन्हें घुमा रही है। एक किसान नेता ने कहा कि पुलिसवाले हमारा समय बर्बाद कर रहे हैं। हमारा रूट पहले से तय था। बसों के जरिए सिंघु बॉर्डर से जंतर मंतर जाना था फिर उतरकर पार्लियामेंट जाना था लेकिन कह रहे हैं कि कॉलोनी से जाए। इतने पुलिस बल की ज़रूरत नहीं थी।

    11:48 (IST)22 Jul 2021
    AAP सांसद ने कृषि कानून को लेकर केंद्र पर साधा निशाना

    आम आदमी पार्टी (AAP) के लोकसभा सांसद भगवंत मान ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा, "कृषि कानूनों के वापस लेने के सिवा और कोई विकल्प नहीं है। नरेंद्र सिंह तोमर बयान देते हैं कि हम किसानों से बातचीत करने के लिए तैयार हैं, बस वे 3 कानूनों को वापस लेने की बात न करें। तो फिर और क्या बात करें?"

    11:24 (IST)22 Jul 2021
    विपक्ष के हंगामे के बीच लोकसभा और राज्यसभा स्थगित

    संसद के दोनों सदनों में मानसून सत्र के तीसरे दिन भी हंगामा जारी है। इसके चलते लोकसभा और राज्यसभा को 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया। इससे पहले कांग्रेस ने संसद परिसर में गांधी प्रतिमा के नीचे भी कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन किया।

    11:08 (IST)22 Jul 2021
    संसद परिसर में कृषि कानूनों के खिलाफ कांग्रेस सांसदों का प्रदर्शन

    पंजाब के कांग्रेस सांसदों ने संसद परिसर में महात्मा गांधी की मूर्ति के सामने 3 कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। कांग्रेस सांसद के सुरेश ने गुरुवार को ही लोकसभा में कृषि कानून के मुद्दे पर स्थगन प्रस्ताव भी दिया। 

    10:41 (IST)22 Jul 2021
    पेगासस मुद्दे पर कांग्रेस ने दिया स्थगन प्रस्ताव

    कांग्रेस के लोकसभा सांसद मनीष तिवारी ने पेगासस मुद्दे पर सदन में स्थगन नोटिस दिया है। इसके अलावा सीपीआई ने भी स्वास्थ्य राज्यमंत्री के ऑक्सीजन की कमी से मौतों के रिकॉर्ड नहीं वाले बयान पर राज्यसभा में स्थगन प्रस्ताव दिया है। 

    10:14 (IST)22 Jul 2021
    पेगासस जासूसी विवाद पर क्या रहा था आईटी मंत्री का पक्ष?

    इससे पहले संसद में सोमवार को इस सॉफ्टवेयर के जरिए भारतीयों की जासूसी करने संबंधी खबरों को वैष्णव ने सिरे से खारिज करते हुए कहा था कि संसद के मॉनसून सत्र से ठीक पहले लगाए गए ये आरोप भारतीय लोकतंत्र की छवि को धूमिल करने का प्रयास हैं। लोकसभा में स्वत: संज्ञान के आधार पर दिये गए अपने बयान में वैष्णव ने कहा था कि जब देश में नियंत्रण एवं निगरानी की व्यवस्था पहले से है तब अनधिकृत व्यक्ति द्वारा अवैध तरीके से निगरानी संभव नहीं है।

    09:52 (IST)22 Jul 2021
    जंतर-मंतर जाने के लिए सिंघु बॉर्डर पर इकट्ठा हुए किसान

    दिल्ली में जंतर-मंतर पर 3 कृषि क़ानूनों के ख़िलाफ़ विरोध प्रदर्शन करने जाने के लिए किसान सिंघु (दिल्ली-हरियाणा) बॉर्डर पर इकट्ठे हो गए हैं।

    09:26 (IST)22 Jul 2021
    टिकरी बॉर्डर में भी बढ़ाई गई सुरक्षा

    किसानों के जंतर-मंतर पर प्रदर्शन के लिए जाने से पहले सिंघु बॉर्डर पर कड़ी सुरक्षा बिठाई गई है। हिंसा की आशंका के चलते पुलिसबल ने पहले ही अपनी पोजिशन ले ली हैं, साथ ही चप्पे-चप्पे पर पहरा बिठाया गया है। 

    09:07 (IST)22 Jul 2021
    किसान आंदोलन के मद्देनजर अमेरिका ने अपने नागरिकों के लिए जारी किया अलर्ट

    अमेरिका ने बुधवार को भारत में अपने नागरिकों के लिए एक सुरक्षा अलर्ट जारी किया, जिसमें उन्हें नई दिल्ली में किसानों के विरोध के मद्देनजर अपनी सुरक्षा के लिए कदम उठाने के साथ-साथ प्रमुख क्षेत्रों, भीड़ और प्रदर्शनों से बचने की सलाह दी गई है। दूतावास की ओर से जारी हुई प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि दिल्ली और उसके आसपास सड़कों पर अधिक पुलिस, अतिरिक्त चौकियां और अज्ञात संख्या में प्रदर्शनकारी हो सकते हैं। इसलिए अमेरिकी नागरिक अपनी सुरक्षा करें।

    08:45 (IST)22 Jul 2021
    जिन किसानों के आईकार्ड बने सिर्फ वही जाएंगे जंतर-मंतर

    सिंघु बॉर्डर पर मौजूद किसान नेता मंजीत सिंह राय ने बताया है कि 200 किसान संसद के आगे कृषि क़ानूनों के ख़िलाफ़ प्रदर्शन के लिए जाएंगे। जंतर मंतर पर हमारी बसें रुकेंगी वहां से हम पैदल जाएंगे। जहां पर भी हमें पुलिस रोकेगी वहीं पर हम अपनी संसद लगाएंगे। जिन किसानों के आईकार्ड बन गए हैं वे आगे जाएंगे।

    08:20 (IST)22 Jul 2021
    टिकैत बोले- जंतर-मंतर पर होगी किसान संसद

    गाजीपुर बॉर्डर पर किसान आंदोलन का नेतृत्व कर रहे राकेश टिकैत ने जंतर-मंतर पर प्रदर्शनों को लेकर अपनी योजना बताई है। उन्होंने कहा है कि किसान नेता 200 लोग संसद जाएंगे और वहां किसान संसद लगाएंगे और पंचायत करेंगे। यह सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक चलेगा। हम यहां से सिंघु बॉर्डर जाएंगे और वहां से बसों से जंतर मंतर जाएंगे। जंतर-मंतर पर पंचायत होगी जिसे किसान संसद का नाम दिया गया है।

    Next Stories
    1 ‘प्रवासियों के औपचारिक समावेशन के लिए समाज, सरकार तथा बाजार को एक साथ होना होगा’
    2 जनता को जनार्दन बता पैनलिस्ट ने बीजेपी पर कसा तंज तो गौरव भाटिया ने उन्हीं की नकल कर किया पलटवार
    3 कोरोना मौतों पर कांग्रेस को घेरा तो याद दिलाने लगे चैनल की पुरानी खबरें, एंकर बोलीं- संसद में नहीं बोली जाती अंजना की बात
    यह पढ़ा क्या?
    X