ताज़ा खबर
 

संसद की कैंटीन में अब नहीं मिलेगा सस्ता खाना! सब्सिडी होगी खत्म, सभी दलों ने जताई सहमति

कैंटीन में मिलने वाले सस्ते खाने पर सब्सिडी खत्म करने का सुझाव दिया गया है। संसद की कैंटीन में भोजन सामग्रियों की कीमतें समय समय पर मीडिया में चर्चा का विषय रही है।

संसद की कैंटीन में मिलने वाला खाना मीडिया में रहा चर्चा का विषय रही है। फोटो: PTI

संसद की कैंटीन में मिलने वाली सब्सिडी अब खत्म होगी। सभी दलों ने इस पर सहमति जताई है। कैंटीन में मिलने वाले सस्ते खाने पर सब्सिडी खत्म करने का सुझाव दिया गया है। पार्लियामेंट की कैंटीन को सालाना करीब 17 करोड़ रुपए की सब्सिडी दी जा रही थी, जो अब खत्म हो जाएगी।

मीडिया मेें जारी खबरों के मुताबिक लोकसभा की बिजनेस एडवाइजरी कमेटी में सभी दलों के सदस्यों ने एक राय बनाते हुए इसे खत्म करने पर सहमति जताई है। अब कैंटीन में मिलने वाला खाना तय दाम पर ही मिलेगा। सांसद अब खाने की लागत के हिसाब से ही भुगतान करेंगे। स्पीकर ओम बिरला के सुझाव के बाद इस पर चर्चा की गई।

गौरतलब है कि संसद की कैंटीन में खाने की कीमतें समय-समय पर मीडिया में चर्चा का विषय रही है। हाल में जवाहार लाल नेहरू विश्वविद्यालय में हॉस्टल और कैंटीन में फीस बढ़ोतरी के बाद स्टूडेंट्स ने संसद की कैंटीन में मिलने वाली सब्सिडी की आलोचना की थी जिसके बाद इस सब्सिडी को खत्म किए जाने की चर्चा थी। संसद की कैंटीन के खाने की रेट लिस्ट सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हुई थी।

बता दें कि पिछली लोकसभा में कैंटीन में खाने का दाम बढ़ाया गया था और सब्सिडी का बिल कम कर दिया था। संसद की कैंटीन में मिलने वाले खाने की कीमतें पिछली लोकसभा से बढ़ा दी गई थी। कैंटीन में सब्सिडी वाली कीमतों पर खाने के मिलने को लेकर समय समय पर होने वाले विवादों को देखते हुए कीमतों में बढोत्तरी की गई थी।

गौरतलब है कि कैंटीन की रेट लिस्ट के मुताबिक चिकन करी 50 रुपए में तो वहीं वेज थाली 35 रुपए में परोसी जाती है। वहीं थ्री कोर्स लंच की कीमत 106 रुपए निर्धारित है। बात करें साउथ इंडियन फूड की तो संसद में प्लेन डोसा मात्र 12 रुपए में मिलता है। एक आरटीआई के जवाब में 2017-18 में यह रेट लिस्ट सामने आई थी।

Next Stories
1 Kerala Karunya Plus Lottery KN-293 Today Results Highlights: इन सभी की लगी 70 लाख रुपए तक की लॉटरी, देखें पूरी विनर्स लिस्ट
2 PM मोदी अर्थव्यवस्था पर खुद तो चुप हैं, लेकिन मंत्रियों को शेखी बघारने के लिए छोड़ दिया; चिदंबरम का तंज
3 मनमोहन सिंह के बयान पर पूर्व पीएम के पोते ने जताई नाराजगी- बिना कैबिनेट मंजूरी कैसे बुलाते सेना? लोग पूर्व पीएम पर मार रहे ताने
Coronavirus LIVE:
X