ताज़ा खबर
 

Parliament Attack: संसद हमले की 18वीं बरसी आज, 2001 में आतंकियों ने दहला दी थी देश की राजधानी; पढ़ें खौफनाक मंजर की कहानी

Parliament Attack Anniversary, 13 December: संसद हमले में मृतकों में दिल्ली पुलिस के पांच जवान, केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल की एक महिला जवान, संसद परिसर में तैनात वॉच एंड वार्ड कर्मचारी और एक माली शामिल था। इस घटना में एक पत्रकार भी घायल हो गए थे जिनकी बाद में मौत हो गई।

Author नई दिल्ली | Updated: December 13, 2019 1:50 PM
Parliament attack delhiसंसद हमले की 18वीं बरसी एक्सप्रेस फोटो

Parliament Attack Anniversary, 13 December: देश की राजधानी दिल्ली पर 18 साल पहले 13 दिसंबर की तारीख को लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) के आतंकवादियों ने संसद पर हमला करते हुए खुलेआम गोलीबारी की थी, जिसमें नौ लोगों की जान चली गई थी। बाद में सुरक्षा बलों की कार्रवाई में सभी आतंकवादी ढेर कर दिए गए थे। इस भयावह घटना को याद करते हुए आज भी लोग सिहर उठते हैं। बुधवार को संसद हमले की 18वीं बरसी पर पीड़ितों को देश के लोगों ने श्रद्धांजलि दी। राष्ट्रपति, पीएम नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री, रक्षामंत्री समेत विपक्ष के नेताओं ने भी शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि दी।

इन लोगों की गई थी जान: संसद हमले में मृतकों में दिल्ली पुलिस के पांच जवान, केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल की एक महिला जवान, संसद परिसर में तैनात वॉच एंड वार्ड कर्मचारी और एक माली शामिल था। इस घटना में एक पत्रकार भी घायल हो गए थे जिनकी बाद में मौत हो गई। हमले को अंजाम देने वाले पांचों आतंकवादियों को सुरक्षाबलों ने मार गिराया था। बता दें कि 18 साल पहले 13 दिसंबर को लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) के आतंकवादियों के हमले में कुल नौ लोगों की जान  गई थी। ये आतंकी एक कार में हथियारों से लैस होकर संसद के अंदर दाखिल हुए और अचानक ही संसद भवन परिसर के अंदर ही अंधाधुंध गोलियों की बौछार करने लगे।

Hindi News Today, LIVE Updates: दिन भर की बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

राष्ट्रपति ने दी श्रद्धांजलि: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्वीट में कहा, ‘‘एक कृतज्ञ देश शहीदों की बहादुरी और उनके साहस को नमन करता है जिन्होंने 2001 में संसद भवन की आतंकवादियों से रक्षा करते हुए अपने प्राणों की आहुति दे दी थी। हम आतंकवाद के हर रूप को खत्म करने और उसे हराने के लिए दृढ़ संकल्पित हैं।’’ वहीं केंद्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने ट्वीट किया, ‘‘आज हम उन शहीदों को याद करें जिन्होंने आतंकवादी हमले से संसद को बचाने के लिए अपनी जान न्यौछावर कर दी।’’ साथ ही केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने भी इस हमले में जान गंवाने वाले लोगों का नमन किया।

संसद ने भी दी श्रद्धांजलि: सदन की बैठक शुरू होने पर सभापति एम वेंकैया नायडू ने संसद पर 13 दिसंबर 2001 को हुए आतंकी हमले का जिक्र करते हुए कहा कि आतंकवादियों द्वारा की गई अंधाधुंध गोलीबारी में नौ लोगों की जान चली गई थी। सभापति ने कहा कि सुरक्षा बलों के सर्वोच्च बलिदान को याद करने के साथ साथ हम यह संकल्प दोहराते हैं कि आतंकवाद को किसी भी कीमत पर, किसी भी रूप में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा और आतंकवाद का पूरी दृढ़ता के साथ मुकाबला किया जाएगा। इसके बाद सदन में शहीदों की स्मृति में कुछ पलों का मौन रखा गया।

सीएम ममता ने भी किया ट्वीट: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी ने ट्वीट किया, ‘‘भारत के संसद पर हमले की आज 18वीं बरसी है। इस दिन अपनी जान गंवान वाले लोगों को हृदय से याद कर रही हूं। मेरी संवेदनाएं उन लोगों के प्रति है जो ड्यूटी के दौरान घायल हो गए थे। किसी भी सभ्य समाज में आतंकवाद और हिंसा के लिए कोई जगह नहीं है।’’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ‘मेरे पास मोदी जी का वीडियो क्लिप है, रेप इन इंडिया पर नहीं मांगूंगा माफी’, बोले राहुल गांधी
2 पूर्व पीएम मनमोहन सिंह की भविष्यवाणी हुई सही, पिछले महीने ही चेताया था, मंदी से बिगड़ेंगे हालात
3 UP: वन विभाग की मंजूरी के बाद जेवर एयरपोर्ट के लिए काटे जाएंगे 6800 पेड़, फिर ऐसे की जाएगी पर्यावरण की रक्षा
IPL 2020
X