ताज़ा खबर
 

Pariksha Pe Charcha: मोदी सर की क्लास रहेगी याद, दिन रात मेहनत कर किया खुद को तैयार

मानव संसाधन विकास मंत्रालय की ओर आयोजित इस कार्यक्रम में भाग लेने के लिए 2.68 लाख विद्यार्थियों ने निबंध प्रतियोगिता में भाग लिया था।

Author नई दिल्ली | Published on: January 21, 2020 4:15 AM
इस बार 50 दिव्यांग विद्यार्थियों ने कार्यक्रम में भाग लिया। (फोटो-इंडियन एक्सप्रेस)

तालकटोरा स्टेडियम में सोमवार को आयोजित प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘परीक्षा पे चर्चा 2020’ कार्यक्रम में दो हजार से अधिक विद्यार्थियों ने भाग लिया। मानव संसाधन विकास मंत्रालय की ओर आयोजित इस कार्यक्रम में भाग लेने के लिए 2.68 लाख विद्यार्थियों ने निबंध प्रतियोगिता में भाग लिया था। इस बार 50 दिव्यांग विद्यार्थियों ने कार्यक्रम में भाग लिया। कार्यक्रम में एक हजार से अधिक विद्यार्थी राजस्थान, मध्य प्रदेश, पश्चिम बंगाल, अंडमान निकोबार द्वीप समूह, सिक्किम, अरुणाचल प्रदेश, जम्मू और कश्मीर, लद्दाख, छत्तीसगढ़ व अन्य प्रदेशों से थे। विद्यार्थियों ने कहा कि उन्हें मोदी सर की यह क्लास पूरी जिंदगी याद रहेगी।

नागपुर में केंद्रीय विद्यालय की छात्रा प्रशंसा ने बताया कि उन्होंने परीक्षा पे चर्चा निबंध प्रतियोगिता में भाग लिया था और उसकी वजह से ही मुझे दिल्ली आकर प्रधानमंत्री से मिलने का मौका मिला। उन्होंने बताया कि वैसे तो हमारे अभिभावक भी हमें समय-समय पर पढ़ाई और तनाव को कम करने के बारे में बताते ही हैं लेकिन प्रधानमंत्री की बताई बातें हमें पूरे जीवन याद रहेंगी।

दिन रात मेहनत कर किया खुद को तैयार

‘परीक्षा पे चर्चा 2020’ कार्यक्रम का संचालन इस बार केंद्रीय विद्यालयों के तीन विद्यार्थियों ने किया। इनमें केवी डीआरडीओ बंगलुरु की हृदया एस नायर, केवी रांची साहिल कुमार और केवी रायपुर के श्रेया सिंह शामिल थे। इन विद्यार्थियों के शानदार संचालन की प्रधानमंत्री ने भी खूब प्रशंसा की। ये तीन एक भारत, श्रेष्ठ भारत प्रतियोगिता में हिंदी और अंग्रेजी भाषण प्रतियोगिता के विजेता रहे हैं। साहिल ने बताया कि इससे पहले हमने स्कूल के कार्यक्रमों में ही भाषण दिए हैं या कुछ प्रतियोगिताओं में भाग लिया है। लेकिन प्रधानमंत्री के सामने आकर कार्यक्रम का संचालन की बात तो हमने सोची ही नहीं थी। उन्होंने बताया कि शुरुआत में डर भी लगा लेकिन शिक्षकों की मदद से हमने यह कठिन कार्य पूरा कर ही लिया। हृदया और श्रेया ने भी कहा कि शुरुआत में प्रधानमंत्री के सामने थोड़ा डर लगा लेकिन प्रधानमंत्री ने कार्यक्रम की शुरुआत में ही कहा कि हम उन्हें अपना दोस्त समझें और इस तरह डर खत्म हो गया।

इन बच्चों को संचालन के लिए केवी आरके पुरम सेक्टर-8 की विम्मी सिंह, केवी विकासपुरी की विल्मा बी कुमार और केवी-2 दिल्ली कैंट के वीरेंद्र कुमार ने तैयार किया। वीरेंद्र कुमार ने बताया कि इन बच्चों के उच्चारण में स्थानीय प्रभाव था। इसको दूर करने में हमारे साथ इन बच्चों ने लगातार छह दिनों तक 18-18 घंटे अभ्यास किया है। विम्मी सिंह ने बताया कि इन बच्चों का हौसला ही था कि आज ये इस कार्यक्रम को इतने बेहतर तरीके से संचालित कर पाएं हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 अमेरिका-चीन का 18 महीने तक चला विवाद खत्म, अब किस करवट बैठेगी अर्थव्यवस्था
2 हिमालय की ऊंचाइयों पर नए पौधे
3 26 जनवरी की परेड का नेतृत्व करेंगी तान्या शेरगिल, सेना दिवस पर वायराल हुआ था वीडियो
ये पढ़ा क्या?
X