ताज़ा खबर
 

डॉ. कलाम के सम्मान में याकूब की फांसी को उम्रकैद में बदलें :गोपालकृष्ण गांधी

पश्चिम बंगाल के पूर्व राज्यपाल गोपालकृष्ण गांधी ने हमेशा मृत्युदंड के खिलाफ रहे पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम को ‘उपयुक्त श्रद्धांजलि’ देने के लिए राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से मौत की सजा प्राप्त याकूब मेमन की दया याचिका पर फिर से विचार करने की अपील की है।

Author Published on: July 29, 2015 11:30 PM

पश्चिम बंगाल के पूर्व राज्यपाल गोपालकृष्ण गांधी ने हमेशा मृत्युदंड के खिलाफ रहे पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम को ‘उपयुक्त श्रद्धांजलि’ देने के लिए राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से मौत की सजा प्राप्त याकूब मेमन की दया याचिका पर फिर से विचार करने की अपील की है।

राष्ट्रपति से अपनी अपील में गांधी ने कहा है कि कलाम ने हाल में इस महीने की शुरूआत में मृत्युदंड पर अपना विरोध जताया था।
गांधी ने लिखा है, ‘उन्होंने विधि आयोग में यह विचार प्रकट किया है जो मौत की सजा की वांछनीयता और प्रभावकारिता के बारे में विचार कर रहा है।

मेरा सुझाव है कि यह याकूब मेमन को जिंदगी बख्शना राष्ट्रपति कलाम की मानवीय वसीयत को उपयुक्त श्रद्धांजलि होगी।’राष्ट्रपति मुखर्जी ने पिछले साल याकूब की दया याचिका ठुकरा दी थी। यह उल्लेख करते हुए कि वह तत्काल, सार्वजनिक और जनहित में यह अपील लिख रहे हैं।

पूर्व राज्यपाल ने 1997 के एक मामले का उल्लेख किया जब तत्कालीन राष्ट्रपति शंकर दयाल शर्मा ने महाश्वेता देवी और अन्य गणमान्य शख्सियतों की अपील पर फांसी दिये जाने की पूर्व संध्या पर आंध्रप्रदेश के दो लड़कों को मौत की सजा के पूर्व के फैसले को पलट दिया।

गांधी ने कहा कि यह साबित करता है कि संविधान के अनुच्छेद 73 के तहत शीर्ष संवैधानिक शक्ति भारत के राष्ट्रपति अपने पहले के फैसले को पलट सकते हैं और मौत की सजा बदलने की अंतरात्मा की आवाज सुनी जा सकती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
ये पढ़ा क्या?
X