ताज़ा खबर
 

शिक्षकों पर पप्पू के बोलः कहा, कुत्तों को भी नहीं पढ़ा सकते हैं

बिहार में और देश में कुत्तों पर कम से कम 18 हजार रूपये खर्च होता है लेकिन एक आम आदमी के परिवार की आमदनी 4 से 6 हजार रूपये मात्र है...

Bihar Polls: जब पप्पू ने की शिक्षकों की कुत्तों से तुलना

बिहार में और देश में कुत्तों पर कम से कम 18 हजार रूपये खर्च होता है लेकिन एक आम आदमी के परिवार की आमदनी 4 से 6 हजार रूपये मात्र है, यह कहना है बिहार में जन अधिकार मोर्चा के लीडर पप्पू यादव का।

समस्तीपुर की चुनावी सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि राज्य के 4.2 फीसदी स्कूल में टीचर नहीं है, यदि टीचर है तो वे टीचर इंसान को पढ़ाने के लायक नहीं है।

चुनाव आने में अब कुछ ही दिन शेष रह गए हैं, कि एक के बाद एक नेताओं की जुवान फिसल जाती है। तो पप्पू भला कैसे पीछे रह सकते थे। उन्होंने जनसभा को संबोधित करते हुए टीचर की तुलना कुत्तों से करके नया विवाद खड़ा कर दिया है।

उन्होंने कहा शिक्षकों को जानवर (कुत्तों) तक को पढ़ाने लायक नही माना। इस बयान के बाद मानो जैसे कि शिक्षकों में आक्रोश पैदा हो गया गया। ‘कुत्तों को पढ़ाने के लायक भी नहीं हैं’। उन्होंने कहा, ‘आपको जानकर आश्चर्य होगा एक परिवार 18 रुपया में एक दिन में खाता है और बिहार में कुत्तों पर खर्च कम से कम 18 हजार रुपये है। ये भारत सरकार का सर्वे है और आम आदमी के पास पूरे परिवार पर 6400 रूपये भी खर्च करने की आमदनी नहीं है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App