ताज़ा खबर
 

फडणवीस की और बढ़ेगी मुश्किल! पंकजा मुंडे ने दिए बगावत के संकेत, लिखी फेसबुक पोस्ट

सूत्रों के अनुसार, पंकजा मुंडे का गुस्सा देवेंद्र फडणवीस के खिलाफ है। पंकजा मुंडे ने पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के सामने आरोप लगाए हैं कि वह चुनाव हारी नहीं हैं, बल्कि उन्हें चुनाव हरवाया गया है।

pankaja mundeभाजपा नेता पंकजा मुंडे।

महाराष्ट्र विधानसभा चुनावों में सबसे बड़ी पार्टी होने के बाद भी भाजपा विपक्ष में बैठी है। पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस सीएम बनते-बनते विपक्ष के नेता बन गए हैं। इन झटकों से भाजपा और देवेंद्र फडणवीस अभी उबरे भी नहीं होंगे कि पार्टी की मुश्किलें अभी और बढ़ सकती हैं। दरअसल भाजपा के दिवंगत नेता गोपीनाथ मुंडे की बेटी और पार्टी की कद्दावर नेता मानी जाने वाली पंकजा मुंडे ने एक फेसबुक पोस्ट से बगावत के संकेत दिए हैं। पंकजा मुंडे हालिया विधानसभा चुनावों में मराठावाड़ा की परली सीट से अपने चचेरे भाई और एनसीपी नेता धनंजय मुंडे से चुनाव हार गई थीं।

ऐसी खबरें हैं कि वह अभी तक अपनी हार को नहीं पचा पायी हैं और सूत्रों के अनुसार, पंकजा मुंडे का गुस्सा देवेंद्र फडणवीस के खिलाफ है। पंकजा मुंडे ने पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के सामने आरोप लगाए हैं कि वह चुनाव हारी नहीं हैं, बल्कि उन्हें चुनाव हरवाया गया है। 12 दिसंबर को गोपीनाथ मुंडे की जयंती है और पंकजा मुंडे पर फेसबुक पर एक भावुक पोस्ट लिखकर अपने समर्थकों से 12 दिसंबर को गोपीनाथ गढ़ पहुंचने की अपील की है।

पंकजा मुंडे ने मराठी में यह पोस्ट लिखी, जिसमें लिखा गया है कि “राज्य में बदले राजनैतिक परिदृश्य को देखते हुए यह सोचने और निर्णय लेने की आवश्यकता है कि आगे क्या किया जाए? मुझे स्वयं से बात करने के लिए आठ से 10 दिन की जरुरत है। अब क्या करना है? कौन सा मार्ग चुनना है? हम लोगों को क्या दे सकते हैं? हमारी ताकत क्या हैं? मैं इन सभी पहलुओं पर विचार करूंगी और आपके सामने 12 दिसंबर को आऊंगी।”

पंकजा मुंडे की इस फेसबुक पोस्ट को लेकर कई तरह की चर्चाएं चल रही हैं। कुछ लोग पंकजा मुंडे के पार्टी से बगावत करने की बात कह रहे हैं! हालांकि भाजपा नेताओं का कहना है कि पंकजा मुंडे नाराज जरूर हैं, लेकिन वह पार्टी से बगावत नहीं करेंगी। हालांकि वह किसी व्यक्ति विशेष के खिलाफ प्रत्यक्ष या परोक्ष रुप से अपना गुस्सा जरूर जाहिर कर सकती हैं।

बता दें कि राज्य के ओबीसी मतदाताओं में पंकजा मुंडे का खासा प्रभाव है। ऐसे में यदि पंकजा मुंडे पार्टी में बगावत करती हैं, तो पार्टी को इसका काफी नुकसान उठाना पड़ सकता है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 मध्य प्रदेश: दसवीं की किताब में गांधीजी को बता डाला ‘कुबुद्धि’, कांग्रेस बोली- कड़ा ऐक्शन लेंगे
ये पढ़ा क्या?
X