ताज़ा खबर
 

विदेश से लौटी पंकजा ने दिखाई ताकत, कहा – निर्दोष हूं, साजिश का पर्दाफाश करके रहूंगी

खरीद घोटाले में फंसी महाराष्ट्र की महिला एवं बाल कल्याण मंत्री पंकजा मुंडे ने मंगलवार को कहा कि वे निर्दोष हैं और अपने खिलाफ की जा रही साजिश का पर्दाफाश करके रहेंगी...
Author July 1, 2015 09:24 am
महाराष्ट्र की महिला एवं बाल कल्याण मंत्री पंकजा मुंडे। (फाइल फोटो)

खरीद घोटाले में फंसी महाराष्ट्र की महिला एवं बाल कल्याण मंत्री पंकजा मुंडे ने मंगलवार को कहा कि वे निर्दोष हैं और अपने खिलाफ की जा रही साजिश का पर्दाफाश करके रहेंगी। पंकजा मंगलवार को ही लंदन से लौटीं। हवाई अड्डे पर उनकी आगवानी करने के लिए कार्यकताओं की भीड़ जमा थी। कार्यकताओं ने इस मौके पर महाराष्ट्र विधान परिषद में नेता विपक्ष और पंकजा के चचेरे भाई धनंजय मुंडे के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

हवाई अड्डे के बाहर कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए पंकजा ने कहा कि कार्यकर्ता उनके पीछे खड़े हैं और उनके बल पर वे खुद को निरपराध साबित करेंगी। इससे पहले सोमवार को भी सूबे में राष्ट्रीय समाज पार्टी ने मुंडे के समर्थन में रैली निकाली थी।

मुंबई हवाई अड्डे के बाहर पत्रकारों से बातचीत में पंकजा मुंडे ने फिर से खुद को निर्दोष बताया और कहा कि वे अपने खिलाफ की जा रही साजिश का पर्दाफाश करके रहेंगी। हवाई अड्डे पर उनके समर्थन में उनके चुनाव क्षेत्र बीड और परली से सैकड़ों की संख्या में कार्यकर्ता आए थे। कार्यकर्ताओं ने पंकजा के समर्थन और धनंजय मुंडे के खिलाफ नारेबाजी की।

पंकजा मुंडे पर आरोप है कि उन्होंने एक ही दिन में 24 अध्यादेशों के जरिए 206 करोड़ रुपए की विभागीय खरीद में नियमों की अनदेखी की। मुंडे के खिलाफ कांग्रेस नेता सचिन सावंत ने भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो में शिकायत भी दर्ज कराई है। दूसरी ओर 206 करोड़ रुपए की विभागीय खरीद मामले में पुणे के सामाजिक कार्यकर्ता हेमंत पाटील ने हाई कोर्ट में एक याचिका दायर की है। इसमें भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो, गृह सचिव और मुंडे को प्रतिवादी बनाया गया है।

206 करोड़ रुपए की विभागीय खरीद मामले में कई और तथ्य सामने आ रहे हैं जो इस खरीद पर सवालिया निशान लगा रहे हैं। गंगापुर के जिस एवरेस्ट इंडस्ट्रीज कारखाने से वॉटर फिल्टर खरीदे गए थे, उसके दिए पते पर कोई कारखाना नहीं है। यहां तक कि गांववालों ने कभी वॉटर फिल्टर बनाने के कारखाने के बारे में सुना तक नहीं है। मुंडे के विभाग ने एवरेस्ट इंडस्ट्रीज से 5200 रुपए कीमत के 5000 वॉटर फिल्टर खरीदे थे।

कुछ ऐसी ही स्थिति उस कंपनी- भवानी एंटरप्राइजेज की भी है जिससे मुंडे के विभाग ने 12702 चटाइयां खरीदने का एक करोड़ 80 लाख रुपए का करार किया था। चटाई खरीद का टेंडर सात फरवरी 2015 को निकला। रेट कॉन्ट्रेक्ट 11 फरवरी को मंजूर हुआ। इसी दिन 12702 चटाइयां खरीदने का प्रस्ताव तैयार हुआ और 13 फरवरी को शासकीय आदेश जारी किया गया। परभणी जिले के जिंतूर में भवानी एंटरप्राइजेज-प्लाट नंबर ए-12, एमआईडीसी, जिंतूर- को यह ठेका दिया गया था। इस पते पर चटाई बनाने के कारखाने की जगह स्कूल की बेंच बनाने वाले बढ़ई की दुकान है। प्लास्टिक चटाई कारखाने की बुनियादी मशीनरी यहां नहीं है। मुंडे के समर्थन में मुख्यमंत्री बयान जारी कर चुके हैं। मुख्यमंत्री सोमवार को नौ दिन के अमेरिका दौरे पर गए हुए हैं, जहां वे विभिन्न कंपनियों से सूबे में निवेश करने का आह्वान करेंगे। लिहाजा फिलहाल पंकजा मुंडे को नौ दिनों तक अपने दम पर इस मामले से निपटना होगा।

रेडिको के खिलाफ नोटिस जारी- पंकजा मुंडे और उनके पति की भागीदारी वाली औरंगाबाद की रेडिको कंपनी को खेतों और नदी में जहरीले रसायन छोड़ने को लेकर मुंबई हाई कोर्ट ने नोटिस जारी किया है। रेडिको कंपनी के सभी निदेशकों के साथ प्रदूषण नियंत्रण मंडल को भी नोटिस जारी किया गया है।

औरंगाबाद की सेंद्र औद्योगिक कॉलोनी में यह कंपनी है। बीते दिनों कंपनी ने छह एकड़ खेत और नदी में जहरीले रसायन छोड़े थे, जिसके बाद गांववासी नाराज थे। अदालत ने प्रदूषण नियंत्रण मंडल से कहा कि वह सुखना नदी हर एक किलोमीटर के पानी के नमूने जांच के लिए ले। मंडल ने कंपनी को कामकाज रोकने का निर्देश जारी कर दिया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.