ताज़ा खबर
 

पंपोर एनकाउंटर खत्म: तीसरे दिन मुठभेड़ में सुरक्षा बलों ने दो आतंकियों को किया ढेर

जम्मू-कश्मीर के पंपोर में ईआईडी बिल्डिंग में छिपे आतंकियों के खिलाफ जारी ऑपरेशन को 48 घंटे हो गए हैं। सोमवार सुबह आतंकी सरकारी बिल्डिंग में घुसे थे। आतंकियों की ओर से रुक-रककर फायरिंग की जा रही है। एक आतंकी के मारे जाने की खबर है।
Author श्रीनगर | October 12, 2016 16:31 pm
पंपोर में सरकारी बिल्डिंग पर दूसरी बार आतंकी हमला। (PTI Photo)

जम्मू-कश्मीर के पंपोर में ईआईडी बिल्डिंग में छिपे आतंकियों के खिलाफ आज तीसरे दिन जारी ऑपरेशन खत्म हो गया है। सुरक्षाबलों ने एनकाउंटर में दो आतंकियों को मार गिराया है।  पुलिस सूत्रों के मुताबिक एक आतंकी को बुधवार और दूसरे आतंकी को मंगलवार शाम को मार गिराया गया था। आतंकियों को मार गिराने के बाद सुरक्ष बल बिल्डिंग के अंदर घुस गए हैं और सर्च जारी है। सोमवार सुबह आतंकी सरकारी बिल्डिंग में घुसे थे। इमारत में 2-3 आंतकियों के छिपे होने की आशंका जताई गई थी। सोमवार को आतंकियों के साथ एनकाउंटर में सुरक्षा बल का एक जवान घायल हो गया था। आतंकियों के खात्मे के लिए बिल्डिंग को उड़ाने या फिर कमांडो ऑपरेशन को लेकर विचार हो रहा था। पंपोर की ईआईडी बिल्डिंग पर यह दूसरा हमला है। इससे पहले फरवरी मे भी इस बिल्डिंग को आतंकियों ने निशाना बनाया था।

लगातार तीन दिन तक चला पंपोर एनकाउंटर खत्म; दो आतंकी मारे गए

दो दिनों से पंपोर में जारी ऑपरेशन के दौरान आतंकियों की ओर से रुक-रुककर फायरिंग की जा रही थी। सोमवार देर रात आतंकियों ने दो बार फायरिंग की थी। आंतकियों को मार गिराने के लिए सुरक्षा बलों की ओर से रॉकेट लॉन्चर और ग्रेनेड दागे जा रहे हैं। सुरक्षा बलों ने पूरे इलाके को घेर लिया है। सोमवार को सुबह पम्पोर के सेमपोरा स्थित जम्मू कश्मीर एन्टरप्रेन्योरशिप डवलपमेंट इन्स्टीट्यूट (JKEDI) के हेडक्वॉर्टर के परिसर में बनी इस इमारत में आग लगने की खबर सामने आई थी। अधिकारियों के मुताबिक कि परिसर में घुसने के बाद आतंकियों ने पुलिस और सुरक्षाबलों का ध्यान खींचने के लिए छात्रावास के एक कमरे में कुछ गद्दों में आग लगा दी। भवन से धुआं उठने के चंद मिनट के भीतर ही सुरक्षाबल वहां पहुंच गए। बिल्डिंग के अंदर से पुलिस पार्टी पर फायरिंग की गई। जिसके बाद सुरक्षा बलों ने पूरे इलाके की घेरेबंदी करके ऑपरेशन शुरू किया गया था।

READ ALSO: भारत सरकार का बड़ा फैसला, नहीं दिखाए जाएंगे सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत

गौरतलब है कि आतंकियों की ओर से ईआईडी बिल्डिंग को दूसरी बार निशाना बनाया गया है। इससे पहले फरवरी 2016 में भी ईडीआई भवन को निशाना बनाया था। उस वक्त 48 घंटे तक चले अभियान में दो युवा सैन्य अधिकारियों सहित पांच सुरक्षाकर्मी और संस्थान का एक कर्मचारी मारा गया था। वहीं सुरक्षा बलों ने एनकाउंटर में तीन आतंकियों को मार गिराया गया था।

READ ALSO: आतंकियों को भूल पत्रकार के पीछे पड़ा पाक, डॉन अखबार के पत्रकार के देश छोड़ने पर रोक

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.