ताज़ा खबर
 

सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पाक ने तीन बार किया सीजफायर का उल्लंघन, भारतीय सेना अलर्ट पर

भारत में सीमावर्ती गांवों को खाली कराया जा रहा है।

Author नई दिल्ली | September 30, 2016 12:01 PM
जम्मू से करीब 35 किलोमीटर दूर रणबीर सिंह पुरा के पास भारत-पाकिस्तान सीमा क्षेत्र में पेट्रोलिंग करता सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) का एक जवान। (Photo-AP/File)

भारतीय डीजीएमओ ले. जनरल रणबीर सिंह ने गुरुवार को जानकारी दी थी कि भारतीय सेना ने पीओके में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक किया है। इसके बाद पाकिस्तान ने भारत के इस दावे का खंडन किया। पाकिस्तान ने भारत के डीजीएमओ के दावे का खंडन करते हुए कहा था कि सीमा पर फायरिंग के दौरान दो पाकिस्तानी जवान मारे गए हैं, लेकिन कोई सर्जिकल स्ट्राइक नहीं हुआ। हालांकि, इसके बाद से दोनों देशों में काफी तनाव देखने को मिला है। दोनों देशों की सरकारें हरकत में आ गई हैं। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने कहा था कि हमारी अमन की इच्छा को हमारी कमजोरी ना समाझा जाए। भारत में जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कैबिनट सुरक्षा समिति की बैठक की अध्यक्षता कर सकते हैं तो वहीं पाकिस्तान पीएम नवाज शरीफ ने भी अपने कैबिनेट की बैठक बुलाई है।

वीडियो में देखें सर्जिकल स्ट्राइक पर अमेरिका ने क्या कहा

जम्मू-कश्मीर के हंदवाड़ा के सीमावर्ती इलाकों में भारतीय सेना को अलर्ट पर रखा गया है। गुरुवार रात को अखनूर सेक्टर में पाकिस्तानी सेना ने एलओसी पर छोटे हथियारों से फायरिंग की। यह फायरिंग एलओसी पर बनी पुलिस चौकियों पर की गई है। रात 12.30 बजे शुरू हुई यह फायरिंग एक घंटे में खत्म हो गई। इसमें किसी तरह का कोई नुकसान नहीं हुआ। सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान ने यह तीसरी बार सीज फायर का उल्लंघन किया है।

Read Also: पंजाब: सीमावर्ती गांवों में 1965 और 1971 के युद्ध जैसे हालात, गांवों में रह गए हैं केवल मर्द

गुरुवार शाम को पाकिस्तान की सेना ने भी दावा किया था कि उन्होंने भारतीय सेना के आठ जवान मार गिराए हैं और एक को जिंदा पकड़ा है। हालांकि, भारतीय सेना ने इस दावे का खंडन करते हुए इसे झूठा बताया। भारतीय सेना ने जवान का पाकिस्तानी सेना की हिरासत में होने की जरूर पुष्टि की है। भारतीय सेना ने कहा कि यह जवान गलती से सीमा पार चला गया था।

Read Also: सर्जिकल स्ट्राइक: पीएम मोदी कर सकते हैं कैबिनेट सुरक्षा समिति के संग दोबारा बैठक

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App