ताज़ा खबर
 

भारत-पाक सीमा वार्ता समाप्त होते ही पाक जवानों ने तोड़ा संघर्ष विराम

भारत और पाकिस्तान के सीमा रक्षा बलों की दो दिवसीय वार्ता समाप्त होने के दिन पाकिस्तानी सैनिकों ने जम्मू कश्मीर के पुछं और राजौरी जिलों में नियंत्रण रेखा पर संघर्षविराम...

Author जम्मू | Published on: September 12, 2015 9:01 AM
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतिकात्मक तौर पर किया गया है।

भारत और पाकिस्तान के सीमा रक्षा बलों की दो दिवसीय वार्ता समाप्त होने के दिन पाकिस्तानी सैनिकों ने जम्मू कश्मीर के पुछं और राजौरी जिलों में नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर अग्रिम चौकियों पर गोलीबारी कर तीन बार संघर्ष विराम का उल्लंघन किया।

एक रक्षा प्रवक्ता ने कहा कि पाकिस्तानी सैनिकों ने देर रात को एक घटना को अंजाम देते हुए पुंछ और बालाकोट सेक्टरों में एलओसी पर स्वचालित और छोटे हथियारों से गोलीबारी की। उन्होंने कहा कि भारतीय सैनिकों ने गोलीबारी का जवाब दिया। इलाके से अंतिम खबरें आने तक गोलीबारी जारी थी।

इससे पहले दिन में पड़ोसी देश के सैनिकों ने राजौरी जिले में गोलीबारी की। जम्मू स्थित रक्षा प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल मनीष मेहता ने बताया, ‘‘पाकिस्तानी सैनिकों ने आज तड़के राजौरी जिले के हमीरपुर सेक्टर में बिना किसी उकसावे के संघर्षविराम का उल्लंघन किया।’’ साथ ही उन्होंने कहा, ‘‘किसी के हताहत होने या नुकसान की खबर नहीं है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘पाकिस्तानी सेना ने आज सुबह चार बजे से पांच बजे के बीच संघर्षविराम का उल्लंघन किया।’’ उन्होंने बताया कि पाकिस्तान ने स्वचालित और छोटे हथियारों से भारत की तरफ गोलीबारी की।  मेहता ने बताया, ‘‘हमारी तरफ से उचित जवाब दिया गया लेकिन किसी के हताहत होने या नुकसान की खबर नहीं है।’’

पाकिस्तान की ओर से गोलीबारी दिल्ली में संपन्न भारत-पाक सीमा सुरक्षा वार्ता के दौरान हुयी जिसमें कल संघर्षविराम उल्लंघन की घटनाओं को रोकने के लिए जम्मू कश्मीर में अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास कुछ इलाकों में संयुक्त गश्त जैसी नयी रणनीतियों पर सहमति बनी थी। बीएसएफ और पाकिस्तान रेंजर्स के प्रमुखों की मुलाकात सीमा पर बढ़ते तनाव की पृष्ठभूमि में हुयी।

पाकिस्तानी सैनिक इस साल सितंबर में 11 बार संघर्षविराम का उल्लंघन कर चुके हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories