ग्रुप कैप्टन को वीर चक्र से किया गया सम्मानित तो बौखलाया पाकिस्तान, F-16 जेट को लेकर फिर बोलने लगा झूठ

बालाकोट एयरस्ट्राइक के समय अभिनंदन वर्तमान वायुसेना में विंग कमांडर के तौर पर तैनात थे जिन्हें प्रमोट करके ग्रुप कैप्टन बनाया गया है।

President Kovind presents Vir Chakra to Wing Commander (now Group Captain) Varthaman Abhinandan (Pic- Pres of India)

भारतीय वायु सेना के विंग कमांडर (अब ग्रुप कैप्टन) अभिनंदन वर्तमान को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा वीर चक्र से सम्मानित किया गया तो पाकिस्तान एक बार फिर तिलमिला गया। बालाकोट एयरस्ट्राइक के बाद अभिनंदन वर्तमान ने बहादुरी का परिचय देते हुए पाकिस्तान के एफ-16 लड़ाकू विमान को मार गिराया था। लेकिन पाकिस्तान दुनिया के सामने ये सच स्वीकारने से कतराता रहता है और इसको लेकर बार-बार झूठ बोलता है। अभिनंदन वर्तमान को वीर चक्र से सम्मानित किए जाने के बाद एक बार फिर पाकिस्तान ने अपनी बौखलाहट दिखाई है और भारत के इस दावे को खारिज किया है।

पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा, “पाकिस्तान पूरी तरह से निराधार भारतीय दावों को स्पष्ट रूप से खारिज करता है कि पाकिस्तान द्वारा पकड़े जाने से पहले एक भारतीय पायलट द्वारा एक पाकिस्तानी एफ-16 विमान को मार गिराया गया था। भारतीय पायलट को सम्मानित करने का मामला साफ जाहिर करता है कि भारत अपने देश के लोगों को खुश करना चाहता है और अपनी शर्मिंदगी को छिपाना चाहता है।”

पाकिस्तान की तरफ से कहा गया कि वीरता के ‘काल्पनिक कारनामों’ के लिए सैन्य सम्मान देना सैन्य आचरण के मानदंड के विपरीत है। पाकिस्तान ने कहा कि जाहिर है कि भारत की झूठी कहानी की अंतरराष्ट्रीय समुदाय के सामने कोई विश्वसनीयता नहीं है।

अभिनंदन ने पाकिस्तानी एफ-16 को मार गिराया था

बालाकोट एयरस्ट्राइक के बाद पाकिस्तानी वायुसेना के विमानों ने भारतीय वायु सीमा का उल्लंघन किया था। इसके बाद भारतीय वायुसेना के तब के विंग कमांडर अभिनंदन ने अपने मिग-21 से पाकिस्तानी एफ-16 को मार गिराया। इस दौरान उनका विमान क्रैश होकर पाकिस्तानी सीमा में गिर गया और पाकिस्तानियों ने झूठ बोलकर उन्हें पकड़ लिया। हालांकि, भारतीय कूटनीति के आगे पाकिस्तान को अभिनंदन को छोड़ना पड़ा था।

अभिनंदन वर्तमान को इस अदम्य साहस के लिए के लिए सोमवार, 22 नवंबर को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा वीर चक्र से सम्मानित किया गया। यह अलंकरण समारोह राष्ट्रपति भवन में आयोजित हुआ, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी हिस्सा लिया। परमवीर चक्र और महावीर चक्र के बाद वीर चक्र भारत का तीसरा सबसे बड़ा युद्धकालीन दिया जाने वाला वीरता पुरस्कार है।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
आरटीआइ के तहत सूचना मांगने की वजह बताएं: मद्रास हाई कोर्ट1975 LN Mishra Murder Case
अपडेट