ताज़ा खबर
 

SCO समिट के लिए PM नरेंद्र मोदी इस हवाई रूट से पहुंचे किर्गिस्तान, शी जिनपिंग व व्लादिमीर पुतिन से होगी मुलाकात

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान भी एससीओ समिट में शिरकत करेंगे, लेकिन सम्मेलन के दौरान पीएम मोदी और इमरान खान के बीच कोई बातचीत प्रस्तावित नहीं है।

Author June 13, 2019 3:40 PM
SCO समिट के लिए बिश्केक पहुंचने पर लोगों का अभिवादन स्वीकारते पीएम मोदी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार (13 जून, 2019) को शंघाई कॉरपोरेशन ऑर्गनाइजेशन (एससीओ) की बैठक में हिस्सा लेने के लिए किर्गिस्तान के बिश्केक पहुंचे। वह पाकिस्तान एयर स्पेस के बजाय तुर्किमेनिस्तान, उजबेकिस्तान और तजाकिस्तान वाले रूट से होकर वहां पहुंचे। हालांकि, पीएम पहले पाकिस्तान वाले रास्ते से ही जाने वाले थे, जबकि पाकिस्तान भी उसके लिए राजी हो गया था। पर बाद में भारत की ओर से फैसला बदल दिया गया और पीएम के विमान के लिए नया रूट तय किया गया।

समिट में प्रधानमंत्री मोदी, रुस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ द्विपक्षीय वार्ता में भी शामिल होंगे। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान भी एससीओ समिट में शिरकत करेंगे, लेकिन सम्मेलन के दौरान पीएम मोदी और इमरान खान के बीच कोई बातचीत प्रस्तावित नहीं है। समिट में प्रधानमंत्री मोदी, रुस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ द्विपक्षीय वार्ता में भी शामिल होंगे। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान भी एससीओ समिट में शिरकत करेंगे, लेकिन सम्मेलन के दौरान पीएम मोदी और इमरान खान के बीच कोई बातचीत प्रस्तावित नहीं है। पीएम मोदी ने बुधवार को कहा था की एससीओ समिट के दौरान उनका जोर वैश्विक सुरक्षा स्थिति और आर्थिक सहयोग पर रहेगा। पीएम मोदी गुरुवार को एससीओ समिट में हिस्सा लेने के बाद 14 जून यानि कि शुक्रवार को किर्गिस्तान की आधिकारिक यात्रा पर रहेंगे। इसमें दोनों देशों के बीच रक्षा, सुरक्षा और व्यापार आदि के मुद्दे पर बातचीत होगी।

एससीओ समिट की शुरुआत साल 2001 में हुई थी। शंघाई सहयोग संगठन का मुख्यालय बीजिंग में है। इसमें चीन, रुस, कजाकिस्तान, उज्बेकिस्तान, ताजिकिस्तान और किर्गिस्तान स्थायी सदस्य हैं। भारत और पाकिस्तान को साल 2017 में इस संगठन में स्थायी सदस्यता दी गई।

इससे पहले पीएम मोदी के विमान के पाकिस्तान से गुजरने के मुद्दे पर पाकिस्तान के उड्डयन मंत्री गुलाम सरवर खान ने कहा कि सोमवार को उड्डयन विभाग को भारतीय उच्चायोग से हवाई क्षेत्र को खोलने की अर्जी मिली थी। सरकारी रेडियो पाकिस्तान की खबर के अनुसार उन्होंने एक बयान में कहा कि प्रधानमंत्री इमरान खान ने सभी पक्षों से परामर्श लेने के बाद प्रधानमंत्री मोदी के विमान के लिए हवाई क्षेत्र खोलने का निर्देश दिया।

मंत्री ने कहा कि सद्भावनापूर्ण कदम के तौर पर बिश्केक की मोदी की उड़ान के लिए विशेष रूप से हवाई क्षेत्र को खोला जाएगा। लेकिन भारत ने बुधवार को कहा कि वह प्रधानमंत्री मोदी की बिश्केक की उड़ान के लिए पाकिस्तान के हवाई क्षेत्र का इस्तेमाल नहीं करेगा। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा, ‘‘भारत सरकार ने बिश्केक जाने वाले वीवीआईपी विमान के लिए दो विकल्प सोचे थे। अब फैसला ले लिया गया है कि वीवीआईपी विमान ओमान, ईरान और मध्य एशियाई देशों से होकर बिश्केक जाएगा।’’

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X