ताज़ा खबर
 

Pakistan National Day: पाक की जमीं से आतंकवाद जैसी बुराइयों को पूरी तरह से मिटाया जाएगा- शरीफ

पाकिस्तान के सामने मौजूद आतंकवाद और चरमपंथ के ‘अभूतपूर्व’ खतरे को रेखांकित करते हुए पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने बुधवार को कहा कि इन ‘बुराइयों’ को हराया जाएगा और पाकिस्तान की जमीं से इन्हें पूरी तरह मिटा दिया जाएगा।

Author नई दिल्ली | Published on: March 24, 2016 5:20 AM
Pakistan National Day, Pakistani Prime Minister, Nawaz Sharif, Pakistan Day, 76th Pakistan National Day, 76th Pakistan Day, Pakistan day resolution, Pakistan Terrorism, Pakistan news, International newsपाक पीएम नवाज शरीफ

पाकिस्तान के सामने मौजूद आतंकवाद और चरमपंथ के ‘अभूतपूर्व’ खतरे को रेखांकित करते हुए पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने बुधवार को कहा कि इन ‘बुराइयों’ को हराया जाएगा और पाकिस्तान की जमीं से इन्हें पूरी तरह मिटा दिया जाएगा।

यहां पाकिस्तान उच्चायोग में मनाए जा रहे 76वें पाकिस्तान दिवस के अवसर पर भेजे गए एक लिखित संदेश में शरीफ ने यह भी कहा कि देश ने अपने सभी नागरिकों के लिए स्वतंत्रता, समानता और सामाजिक न्याय सुनिश्चित करने का संकल्प लिया है। शरीफ ने कहा, ‘आज, हमारे सामने चरमपंथ और आतंकवाद के रूप में अभूतपूर्व खतरे और चुनौतियां मौजूद हैं लेकिन हमने इन बुराइयों को हराने का संकल्प लिया है। आतंकवाद और चरमपंथ के खतरे को हमारी जमीं से पूरी तरह खत्म किया जाएगा।’

उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों की सुरक्षा के लिए और महिला सशक्तीकरण के लिए ‘ऐतिहासिक’ कदम उठाए हैं। शरीफ ने कहा, ‘हमारा प्रयास हमारे समाज के हाशिए पर जीने वाले तबकों को मुख्यधारा में लेकर आने का है। क्योंकि हमारा मानना है कि हर पाकिस्तानी इस देश का समान नागरिक है।’ पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने अपने देशवासियों से कहा कि वे एक ‘बहुलतावादी’ समाज बनाने के लिए हर पाकिस्तानी नागरिक के लिए समान अवसर पेश करने का संकल्प लें। एक ऐसा समाज, जहां पुरुष और महिलाएं देश की प्रगति और समृद्धि के लिए मिलकर काम करें। उन्होंने कहा, ‘पाकिस्तान को एक ऐसा देश बनाने की कल्पना की गई थी, जहां लोग बिना किसी डर या खतरे के अपने धर्म का स्वतंत्रता के साथ पालन कर सकें।

मैं इस बात को लेकर आशावान हूं कि बहुलता, समानता और न्याय पर आधारित हमारे साझा प्रयास पाकिस्तान को वैसा ही देश बनाएंगे, जिसका सपना कायदेआजम मुहम्मद अली जिन्ना ने देखा था।’ पाकिस्तान उच्चायोग में आयोजित इस जश्न में भारत में पाकिस्तान के उच्चायुक्त के रूप में तैनात अब्दुल बासित, उनके सहयोगी उबैद उर रहमान निजामनी और अन्य लोग मौजूद थे। उच्चायोग के बयान में कहा गया कि शाम को उच्चायोग में एक स्वागत समारोह भी आयोजित किया जाएगा। इस समारोह में भारतीय मेहमान, यहां राजनयिक दल के सदस्य और पाकिस्तान की महिला क्रिकेट टीम शामिल होगी। पाकिस्तान के राजनयिक अब्दुल बासित ने कहा कि उनका देश ‘पारस्परिक सम्मान और हित’ के आधार पर भारत के साथ ‘सामान्य’ संबंधों की उम्मीद करता है।

उन्होंने ‘शांति व समृद्धि’ सुनिश्चित करने के लिए कश्मीर विवाद सहित सभी लंबित मुद्दों के समाधान का आह्वान किया।
उन्होंने पठानकोट हमले की जांच के लिए पाकिस्तान की पांच सदस्यीय जांच टीम के प्रस्तावित दौरे को एक ‘सकारात्मक घटनाक्रम’ करार दिया और उम्मीद जताई कि वे अपना काम ‘सही ढंग से’ करने में सफल होंगे। पाकिस्तान दिवस समारोह में शाम हुर्रियत कान्फ्रेंस के नेताओं को आमंत्रित किए जाने के मुद्दे पर बासित ने कहा, ‘वे वर्षों से दावत में शामिल होते रहे हैं और पाकिस्तान इसे कोई मुद्दा नहीं मानता।’ उन्होंने कहा, ‘खास तौर पर जम्मू कश्मीर विवाद सहित हमारे सभी मुद्दों का समाधान भी आवश्यक है जिससे कि हमारे संबंध शांति व समृद्धि के अपरिवर्तनीय पथ पर बढ़ सकें। जलवायु परिवर्तन और गरीबी सहित कई समान चुनौतियों के समाधान के लिए सहयोगात्मक संबंध भी आवश्यक हैं।’

पाकिस्तान की पांच सदस्यीय जांच टीम ने पठानकोट आतंकी हमले की जांच के संबंध में भारत आने के लिए मंगलवार को वीजा आवेदन किया था। दोनों देशों के विदेश मंत्रियों ने घोषणा की थी कि टीम 27 मार्च को भारत पहुंचेगी। इस संबंध में बासित ने कहा, ‘टीम को आने दीजिए। हम देखेंगे। मेरा मानना है कि यह एक सकारात्मक घटनाक्रम है। हम उम्मीद करते हैं कि टीम सही ढंग से काम करने में सफल होगी।’ विदेश सचिव स्तर की वार्ता की दिशा में प्रगति के बारे में पूछे जाने पर बासित ने कहा कि अभी ‘कोई तारीख’ तय नहीं हुई है, लेकिन उम्मीद जताई कि वार्ता ‘जल्द से जल्द’ होगी।

अगले सप्ताह वाशिंगटन में हो रहे परमाणु सुरक्षा शिखर सम्मेलन के बारे में पूछे गए सवाल के जवाब में बासित ने कहा कि इसमें पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ शामिल होंगे। उन्होंने कहा कि एक परमाणु ताकत होने के नाते पाकिस्तान के पास निभाने के लिए एक बड़ी भूमिका है। बासित ने उम्मीद जताई कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय मिलकर काम करेगा और इसके सभी पहलुओं में और बिना किसी भेदभाव के परमाणु सुरक्षा सुनिश्चित करेगा। बासित ने ब्रसेल्स में हुए धमाकों की भी निंदा की और कहा कि आतंकी कृयों को किसी भी तरह उचित नहीं ठहराया जा सकता।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Air India के वन क्रू मेंबर पहनेंगे खादी के कपड़े
2 रंग-बिरंगा भारत
3 होली: फूलों से रंगों तक महीने भर की उमंग
ये पढ़ा क्या?
X