ताज़ा खबर
 

Pakistan के F-16 ने लॉन्च की थीं 2 मिसाइल, पहली चूक गई थी निशाना, दूसरी से क्रैश हुआ MiG-21

27 फरवरी को भारतीय वायु सीमा के उल्लंघन के दौरान पाकिस्तानी वायुसेना में शामिल एफ-16 जेट ने 2 मिसाइल लॉन्च की थीं। इसमें एक मिसाइल ने अपना टारगेट मिस कर दिया था, जबकि दूसरी से मिग-21 बायसन क्रैश हो गया था।

भारतीय वायु सेना ने 28 फरवरी को दिखाए थे मिसाइल के टुकड़े। फोटो सोर्स : इंडियन एक्सप्रेस

जम्मू-कश्मीर के राजौरी सेक्टर में 27 फरवरी को भारतीय वायु सीमा के उल्लंघन के दौरान पाकिस्तानी वायुसेना के एफ-16 लड़ाकू विमान ने भारतीय विमानों पर हवा से हवा में मार करने वाली 2 एडवांस्ड AIM-120 मिसाइल (AMRAAMs) छोड़ी थीं।

27 फरवरी को पाकिस्तान ने किया था वायु सीमा का उल्लंघन : इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, सूत्रों ने बताया कि पहली मिसाइल निशाना चूक गई थी और यह एलओसी के पास भारतीय सीमा में गिरी थी। भारतीय सैनिकों ने इसका मलबा भी बरामद किया था। वहीं, दूसरी मिसाइल ने मिग-21 बाइसन को निशाना बनाया था, जिसे विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान उड़ा रहे थे। यह विमान क्रैश होकर एलओसी के पार पाकिस्तानी सीमा में गिरा था। सूत्रों के मुताबिक, भारत की ओर से सबूत के तौर पर मिसाइल के टुकड़े दिखाने पर अमेरिकी एक्सपर्ट्स ने इसकी पुष्टि की है। उनका कहना है कि किसी मिसाइल से इस तरह के टुकड़े तभी मिल सकते हैं, जब वह निशाना चूक जाए।

अभिनंदन ने ढेर किया था एफ-16 जेट : AMRAAM मिसाइल बनाने वाली अमेरिकी कंपनी रेथॉन के मुताबिक, यह पाकिस्तानी हथियारों की सबसे प्रमुख मिसाइल है। सूत्रों के मुताबिक, यह महत्वपूर्ण है कि इस मिसाइल का निशाना चूक गया था। बता दें कि 28 फरवरी को भारतीय वायु सेना ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान इस मिसाइल के मलबे के टुकड़े दिखाए थे। वहीं, 27 फरवरी की प्रेस कॉन्फ्रेंस में इंडियन एयर फोर्स ने बताया था कि भारतीय मिग-21 बायसन ने पाकिस्तान के एफ-16 विमान को मार गिराया था। इस मिग-21 को विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान उड़ा रहे थे, जो अपना विमान क्रैश होने के बाद पाकिस्तानी सीमा में जा गिरे थे। वहां पाकिस्तानी सेना ने उन्हें अपनी गिरफ्त में ले लिया था और 1 मार्च को भारत के हवाले किया था।

पाकिस्तान पर प्रतिबंध का खतरा बढ़ा : सूत्रों का कहना है कि AMRAAMs का इस्तेमाल होना ही अहम सबूत है, क्योंकि इसे सिर्फ एफ-16 फाइटर जेट से ही फायर किया जा सकता है। हालांकि, पाकिस्तान ने आधिकारिक तौर पर दावा किया था कि उन्होंने एयर स्ट्राइक के दौरान एफ-16 का इस्तेमाल नहीं किया था। बता दें कि पाकिस्तान से एफ-16 की डील करते वक्त अमेरिका ने यह शर्त रखी थी कि वह इन विमानों का इस्तेमाल अपने बचाव में कर सकता है, लेकिन किसी भी तरह की सैन्य कार्रवाई में नहीं। ऐसे में अमेरिकी जांच में एफ-16 के इस्तेमाल की पुष्टि होती है तो पाकिस्तान पर कई तरह के प्रतिबंध लग सकते हैं।

Next Stories
1 Hindi News Today, 07 March 2019: PAK ने बैन आतंकी समूहों के 121 सदस्यों को ऐहतियातन हिरासत में लिया
2 कांग्रेस में अब होगा नया बवाल
3 करतारपुर कारिडोर पर भारत और पाक की पहली बैठक 14 को
ये पढ़ा क्या?
X