ताज़ा खबर
 

पाकिस्तान ने नहीं लौटाए विंग कमांडर अभिनंदन के दस्तावेज और पिस्तौल

विंग कमांडर की भारत वापसी के समय पाकिस्तानी अधिकारियों ने वस्तुओं के आदान-प्रदान की जो सूची भारतीय अधिकारियों को दी, उसमें सिर्फ उनकी नीले रंग की कैसियो जी-शॉक कलाई घड़ी, अंगूठी और चश्मे का जिक्र है।

विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान फोटो सोर्सः इंडियन एक्सप्रेस

विंग कमांडर अभिनंदन को रिहा करते वक्त पाकिस्तान ने उनकी पिस्तौल व दस्तावेज समेत कई सामान नहीं लौटाए। भारतीय वायुसीमा में घुसे पाकिस्तान के लड़ाकू विमान को खदेड़ने के दौरान विंग कमांडर अभिनंदन ने दुश्मन का एफ-16 विमान मार गिराया, लेकिन इस दौरान उनका मिग-21 बाइसन विमान गिर गया। इस हादसे में उनकी जान बच गई, लेकिन पैराशूट से कूदते समय वह पाकिस्तान पहुंच गए। विंग कमांडर अभिनंदन जब पाकिस्तान में गिरे उस वक्त उनके पास कुछ जरूरी सामान था, जिनमें से अधिकांश को पाकिस्तान ने नहीं लौटाया।

विंग कमांडर को सौंपते वक्त तैयार किए गए दस्तावेज ‘टेकिंग ओवर सर्टिफिकेट’ में पाकिस्तान ने उन्हें युद्धबंदी लिखा है, जिनका नंबर दिया गया था 27981 और इस दस्तावेज पर पाकिस्तानी रेंजर्स के डिप्टी सुपरिंटेंडेंट शहजाद फैसल के दस्तखत हैं। भारत की ओर से सीमा सुरक्षा बल के असिस्टेंट कमांडेंट संजीव कुमार ने दस्तखत किए हैं। विंग कमांडर की भारत वापसी के समय पाकिस्तानी अधिकारियों ने वस्तुओं के आदान-प्रदान की जो सूची भारतीय अधिकारियों को दी, उसमें सिर्फ उनकी नीले रंग की कैसियो जी-शॉक कलाई घड़ी, अंगूठी और चश्मे का जिक्र है।

साथ में मेडिकल फिटनेस प्रमाणपत्र भी दिया गया। जब अभिनंदन पाकिस्तान पहुंचे तब उनके पास कुछ जरूरी कागजात, उनकी पिस्तौल, घड़ी, अंगूठी और चश्मा थे, इसके अलावा उनका बैग और सरवाइवल किट थी। पैराशूट से कूदकर वह पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में उतरे, जहां ग्रामीणों ने उन्हें पाकिस्तान फौज को सौंप दिया। एक मार्च को रात 9.20 बजे पाकिस्तानी रेंजर्स ने उन्हें भारत को सौंपा, लेकिन उनके कई सामान नहीं लौटाए। पीओके में कुछ ग्रामीणों ने अभिनंदन के साथ मारपीट थी की, तब अभिनंदन ने अपनी पिस्तौल से हवा में गोलियां चलाई थीं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App