ताज़ा खबर
 

सर क्रीक में पाकिस्तान की नई हलचल: दो नए पोस्ट बनाए, मरीन बटालियन और एयर डिफेंस सिस्टम की भी तैनाती

सीमा क्षेत्र के इस विवाद को सुलझाने के लिए दर्जनों बार दोनों मुल्कों के बीच बातचीत हुई, लेकिन हालात जस के तस रहे। इस संबंध में आखिरी बैठक साल 2012 में हुई थी।

Author नई दिल्ली | June 5, 2019 9:42 PM
तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फोटोः Freepik)

भारत में गुजरात और पाकिस्तान में सिंध के बीचो-बीच पानी की तकरीबन 100 किलोमीटर लंबी पट्टी सर क्रीक में पाकिस्तान की तरफ से नई हलचल की गई है। हाल ही में इस विवादित ज्वारीय क्षेत्र के पास पड़ोसी मुल्क ने दो नए पोस्ट बना लिए हैं, जबकि मरीन बटालियन और एयर डिफेंस सिस्टम की तैनाती भी की है। ‘टाइम्स नाऊ’ ने इंटेलिजेंस रिपोर्ट्स के हवाले से कहा कि ये दो पोस्ट्स पीर सहामाधो क्रीक के पश्चिम में हैं, जो कि बांध धोरा और हरमी धोरो इलाके में पड़ते हैं। वहां ये सब बनाने और खास उपकरण लाने में पाकिस्तानी मरीन्स शामिल हैं।

यह भी बताया गया कि पाकिस्तान की पूरी मरीन विंग सर क्रीक इलाके के नजदीक ही तैनात है। इनमें एक मरीन सर क्रीक में, मरीन की एंफिबियस विंग कराची में, जबकि 31 क्रीक बटालियन सुजावाल में (क्रीक के पास) है। पाक ने इसके अलावा तीन मरीन यूनिट ग्वादर में तैनात की हैं, जो कि बलूचिस्तान में पड़ने वाला पोर्ट है और आर्थिक कारणों की वजह से चीन इसमें खासा रुचि रखता है।

दूसरी और तीसरी मरीन के साथ 21 एयर डिफेंस यूनिट भी ग्वादर (ओरमारा के नजदीक) में है, जहां पाकिस्तान का नेवी बेस भी है। दरअसल, पाकिस्तान की नजर हमेशा से इस क्षेत्र को कब्जाने पर रही है, जबकि भारत कहता रहा है कि सरहद क्रीक क्षेत्र के बीच में होनी चाहिए।

नक्शे में देखें कि आखिर कहां पड़ता है विवादित सर क्रीक क्षेत्र। (फाइल फोटो)

वैसे, पाकिस्तान मरीन्स इस इलाके में अगस्त 1999 से तैनात हैं। भारत के मिग-21 लड़ाकू विमान ने तब पाकिस्तानी अटलांटिक प्लेन को देश की सीमा के भीतर मार गिराया था। यह घटना करगिल युद्ध के चंद दिन बाद की है। हालांकि, इस सीमा क्षेत्र के विवाद को सुलझाने के लिए दर्जनों बार दोनों मुल्कों के बीच बातचीत हुई, लेकिन हालात जस के तस रहे। इस संबंध में आखिरी बैठक साल 2012 में हुई थी।

भारत मौजूदा अंतर्राष्ट्रीय कानून के तहत इस विवादित क्षेत्र का सीमांकन करने की मांग करता रहा है, जबकि पाकिस्तान इस मसले के हल के लिए किसी तीसरे पक्ष से मध्यस्थता कराने पर जोर देता रहा है। हालांकि, भारत कह चुका है कि सर क्रीक द्विपक्षीय मुद्दा है और इसे इन्हीं दो देशों को सुलझाना होगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X