ताज़ा खबर
 

भारत के जवाबी हमले से घबराया पाकिस्तान, घुसपैठियों को सुरक्षित ठिकानों पर भेजा, सैन्य चौकियों को भी किया शिफ्ट

पाक सेना अपने अग्रिम चौकियों और आर्मी कैंप को सुरक्षित ठिकानों पर ले गई है। इन चौकियों के जरिये पहले पाक सेना आतंकियों की घुसपैठ भारतीय सीमा में करवाती थी।
पाकिस्तानी बंकर पर हमला करते भारतीय सैनिक (फोटो सोर्स यूट्यूब)

नियंत्रण रेखा पर भारत की कार्रवाई से सहमे पाकिस्तान ने अपनी रणनीति में बदलाव कर दिया है। पाकिस्तान ने लाइन ऑफ कंट्रोल से पाकिस्तानी सीमा में 2 से 3 किलोमीटर अंदर स्थित अपने सैन्य चौकियों को शिफ़्ट कर दिया है। यहीं नहीं पाकिस्तान ने अपनी ओर अग्रिम चौकियों पर जमा हुए घुसपैठियों को भी सुरक्षित स्थान पर ले गया है। पाकिस्तान ने नियंत्रण रेखा पर स्थित अपने लॉन्च पैड को भी वहां से हटा लिया है। पाकिस्तान की ओर से ये कदम भारत द्वारा नौशेरा सेक्टर में बदले की कार्रवाई के बाद की गई है।

अंग्रेजी वेबसाइट dailyexcelsior डॉट कॉम के मुताबिक पाकिस्तानी खेमे अब ये डर सता रहा है कि भारत पाक अधिकृत कश्मीर में ऐसी हमले और भी कर सकता है। सूत्रों के मुताबिक, ‘कुछ दिनों से ये स्पष्ट संकेत मिल रहा है कि LoC के नजदीक लॉन्च पैड पर जमा आतंकी पीछे हट गये हैं, और सेना की कार्रवाई के बाद पाकिस्तान में बैचेनी का माहौल है।’ नौशेरा सेक्टर में भारत की कार्रवाई से पहले नियंत्रण रेखा पर आतंकियों की जबर्दस्त गतिविधियां देखी गई थी, घुसपैठ की आशंका को देखते हुए सेना भी अलर्ट थी। हालांकि सूत्रों के मुताबिक पाकिस्तान की कई अग्रिम चौकियों से हाल के दो तीन दिनों में घुसपैठ की वारदाता कम हो गई है और पाकिस्तान सेना ने इन लॉन्च पैड्स को हटाकर यहां से दो से तीन किलोमीटर पीछे लेकर चली गई है, ताकि अगर भारत की ओर से कोई कार्रवाई भी की जाए तो ये इनका निशाना ना बन पाए।

खबरों के मुताबिक कुछ इलाकों में पाक सेना अपने अग्रिम चौकियों और आर्मी कैंप को सुरक्षित ठिकानों पर ले गई है। इन चौकियों के जरिये पहले पाक सेना आतंकियों की घुसपैठ भारतीय सीमा में करवाती थी। नियंत्रण रेखा से मिल रही सूचनाओं के मुताबिक भारत की कार्रवाई से पाकिस्तान सहमा हुआ है। बता दें कि भारतीय सेना ने 23 मई को एक वीडियो जारी किया था। इस वीडियो से साफ दिख रहा था कि नौशेरा सेक्टर में भारत की कार्रवाई में कई पाकिस्तानी बंकर ध्वस्त हो गये थे, और पाक सेना के कुछ जवान भी मारे गये थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.