ताज़ा खबर
 

ननकाना साहेब जाने के लिए 3300 सिख श्रद्धालुओं को पाकिस्तान ने दिया वीजा, कहा- धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा

गुरु नानक देव का जन्म 15 अप्रैल 1469 को राई भोई की तलवा में हुआ था, जो आज ननकाना साहिब कहलाता है।

Author Updated: November 10, 2016 5:08 PM
अमृतसर से ननकाना साहिब को जाती बस (फाइल फोटो)

पाकिस्तानी उच्चायोग ने आज (गुरुवार को) 3316 सिख श्रद्धालुओं को वीजा जारी किया है ताकि ये लोग पाकिस्तान स्थित ननकाना साहेब में गुरु नानक देव की जयंती समारोह में शामिल हो सकें। 12 से 21 नवंबर तक गुरु नानक की जयंती समारोह है। सिखों के लिए ननकाना साहेब धार्मिक महत्व रखता है। पाक उच्चायोग के काउंसलर मंजूर अली मेमन ने मीडिया से कहा कि पाकिस्तान ने वीजा इसलिए दिया ताकि भारत-पाकिस्तान के बीच लोगों का एक-दूसरे से संपर्क हो और क्षेत्रीय धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा दिया जा सके।

पाकिस्तानी उच्चायोग ने साल 1974 के भारत-पाक द्विपक्षीय समझौते के तहत निर्धारित संख्या से ज्यादा लोगों को इस साल वीजा दिया है। उन्होंने कहा कि हरेक साल सिख श्रद्धालु बड़ी संख्या में पाकिस्तान के ननकाना साहिब जाते हैं। बता दें कि गुरु नानक देव का जन्म 15 अप्रैल 1469 को राई भोई की तलवा में हुआ था, जो आज ननकाना साहिब कहलाता है। यह पाकिस्तान के पंजाब राज्य में स्थित है और लाहौर के नजदीक है।

वीडियो देखिए: पाकिस्तान की दुल्हन ने की जोधपुर के दूल्हे से शादी; विदेश मंत्री सुष्मा स्वराज ने की मदद

गौरतलब है कि उरी हमले के बाद से भारत और पाकिस्तान के रिश्तों में तल्खी है। भारतीय सेना ने 29 सितंबर की रात सर्जिकल स्ट्राइक कर पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में आतंकियों के 7-8 बंकर ध्वस्त कर दिए थे। इसमें 30 से ज्यादा आतंकी मारे गए थे। पाक सेना के दो जवान भी इस हमले में मारे गए थे। इसके बाद से दोनों देशों के बीच राजनयिक स्तर पर कटुता बढ़ती चली गई। पाकिस्तान ने सिख श्रद्धालुओं को वीजा देकर तनाव को कम करने की अच्छी पहल की है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 केजरीवाल का मोदी सरकार पर निशाना, कहा- स्विस बैंक में जमा कालेधन पर कार्रवाई क्यों नहीं?
2 बैन नोट जमा कराने के दौरान सरकार को शक हुआ और आपका पैसा काला धन साबित हुआ तो क्‍या हो सकती है कार्रवाई, जानिए
3 नए नोटों में नहीं होगी कोई जीपीएस चिप: वित्तमंत्री अरूण जेटली