ताज़ा खबर
 

पद्मावत विवाद: अर्नब गोस्‍वामी के चैनल ने किया भाजपा नेता का स्टिंग, बोले- करणी सेना को हमने ही खुला छोड़ा ताकि राजस्‍थान जीत सकें

फिल्म पद्मावत को लेकर बुधवार देर रात एक चौंकाने वाला खुलासा स्टिंग ऑपरेशन के जरिए सामने आया। यह स्टिंग पत्रकार अर्नब गोस्वामी के चैनल रिपब्लिक टीवी ने किया था। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विधायक और महाराष्ट्र विधानसभा में मुख्य सचेतक (चीफ विप) राज पुरोहित ने इसमें कबूला कि करणी सेना को उन्हीं की सरकार […]

स्टिंग ऑपरेशन में राज पुरोहित बोले कि पहले करणी सेना को कोई जानता नहीं था, मगर आज वह देश भर में सुर्खियों में छाई हुई है। (फोटोः टि्वटर/रिपब्लिक टीवी)

फिल्म पद्मावत को लेकर बुधवार देर रात एक चौंकाने वाला खुलासा स्टिंग ऑपरेशन के जरिए सामने आया। यह स्टिंग पत्रकार अर्नब गोस्वामी के चैनल रिपब्लिक टीवी ने किया था। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विधायक और महाराष्ट्र विधानसभा में मुख्य सचेतक (चीफ विप) राज पुरोहित ने इसमें कबूला कि करणी सेना को उन्हीं की सरकार ने खुला छोड़ दिया, ताकि वे लोग राजस्थान में चुनाव जीत सकें। स्टिंग में भाजपा नेता बोले, “सरकार उन्हें नुकसान पहुंचाने के मूड में नहीं है। अगर वाहन फूंके जाते हैं तो ये अच्छा है।” बता दें कि चार राज्यों को छोड़ कर फिल्म पद्मावत आज (25 जनवरी) को देशभर में रिलीज हो गई। हालांकि, फिल्म को विभिन्न प्रकार के प्रदर्शनों और विरोध का सामना करना पड़ा। करणी सेना ने कहीं पर बच्चों से भरी बस पर ईंटे-गुम्मे चलाए तो कहीं पर तलवार लहराकर हंगामा किया।

पत्रकार से बातचीत के दौरान उन्होंने आगे कहा, “कई बार कुछ चीजें फैशनेबल बन जाती हैं। छह महीने पहले कौन जानता था करणी सेना को? लेकिन उन्होंने मुद्दा उठाया। 24-25 राजपूत विधायकों में से एक भी उनके साथ नहीं था। मगर जब हिंसा को जज्बातों से जोड़ा गया, तो आप जानते ही हैं कि मैं क्या कहना चाह रहा हूं? यह राजनीति है। जज्बातों के आगे सारे कारण खो गए। मेरे नाम से मत छापना ये बात। यह राजनीति है।”

स्टिंग के तीसरे हिस्से में वह इस मसले पर और भी हैरान करने वाली बातों से पर्दा उठाते हैं। बकौल पुरोहित, “भाजपा की अपनी मजबूरी है। यहां समर्थन का सवाल नहीं है। यह मजबूरी है। भाजपा के पास इसके अलावा क्या विकल्प है। वह उनके खिलाफ भी तो नहीं जा सकती? बड़े स्तर पर हिंदू लोग उन्हें समर्थन दे रहे हैं। वे क्यों दे रहे हैं साथ? क्या भगवान का अपमान करने के लिए?”

भाजपा विधायक स्टिंग के आखिरी हिस्से में यह पूछे जाने पर कि यह मसला राजस्थान के चुनाव पर असर डालेगा? पुरोहित इस पर कहते हैं, “बिल्कुल। वे भाजपा के साथ जाएंगे। कारण यह है कि यह धार्मिक गतिविधियों का हिस्सा है। यह दक्षिणपंथी विचारधारा से मेल खाता है और भाजपा की सोच दक्षिणपंथी है।” सुनिए पुरोहित ने आगे और क्या कहा-

गौरतलब है कि इस साल छत्तीसगढ़, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, मेघालय, मिजोरम, नागालैंड, त्रिपुरा और राजस्थान में विधानसभा चुनाव होने हैं। चुनाव आयोग ने गुरुवार (18 जनवरी) को उत्तर पूर्वी राज्य मेघालय, त्रिपुरा और नागालैंड में विस चुनाव की तारीखों का ऐलान किया था। त्रिपुरा में 18 फरवरी को मतदान होगा, जबकि मेघालय और नागालैंड में 27 फरवरी को वोटिंग होगी। तीनों राज्यों में 3 मार्च को वोटों की गिनती होगी। आगे राजस्थान में भी विधानसभा चुनाव होंगे, जिसके लिए अभी तारीख का आधिकारिक ऐलान नहीं हुआ है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App