सरकार के खिलाफ हाईकोर्ट पहुंचे हार्दिक, जारी रहेगा आंदोलन - Jansatta
ताज़ा खबर
 

सरकार के खिलाफ हाईकोर्ट पहुंचे हार्दिक, जारी रहेगा आंदोलन

गुजरात में पटेल अथवा पाटीदार समुदाय को आरक्षण दिलाने की मांग को लेकर आंदोलनरत पाटीदार अनामत आंदोलन समिति...

Author अहमदाबाद | September 24, 2015 1:55 PM
सरकार के खिलाफ हाईकोर्ट पहुंचे हार्दिक, जारी रहेगा आंदोलन

गुजरात में पटेल अथवा पाटीदार समुदाय को आरक्षण दिलाने की मांग को लेकर आंदोलनरत पाटीदार अनामत आंदोलन समिति (पास) के संयोजक हार्दिक पटेल गुजरात हाईकोर्ट में पेशी के लिए अपने वकील के साथ आज वहां पहुंच गये, जबकि राज्य सरकार राजधानी गांधीनगर में राज्य के आर्थिक रूप से पिछडे लोगों और छात्रों के लिए एक विशेष पैकेज की घोषणा कर सकती है।

हाईकोर्ट जाने से पूर्व पत्रकारों से बातचीत में हार्दिक ने कहा कि उनके भाइयों और बहनो पर हुए अत्याचार के विरोध में आंदोलन जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि वह देखेंगे कि पुलिस उन्हें गिरफ्तार करती है अथवा नहीं और इस आधार पर आगे की रणनीति तय करेंगे।

उन्होंने कहा कि अगर सरकार आर्थिक पैकेज की घोषणा करेगी तो वह इसका अध्ययन करने के बाद अपनी प्रतिक्रिया देंगे। हार्दिक ने कहा कि उनके समुदाय के लोग बैंको और कई सरकारी योजनाओं से अपने पैसे वापस लेकर आर्थिक विरोध जाहिर कर रहे हैं।

दो दिन पूर्व अरवल्ली जिले के तेनपुर में बिना अनुमति के एक सभा करने के बाद पुलिस की धरपकड से बचने के लिए भागते हुए लापता हो गये हार्दिक कल रात नाटकीय अंदाज में अपने वकील बाबूभाई मांगुकिया के साथ अहमदाबाद में मीडिया के सामने आये थे।

मांगुकिया ने परसो ही आधी रात के बाद हाई कोर्ट में हार्दिक को सामने लाने के लिए बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका दाखिल की थी जिस पर न्यायमूर्ति एम आर शाह ने आज 11 बजे अगली सुनवाई का समय दिया था।

बताया जा रहा है कि हार्दिक आज अदालत में उनके अपहरण का मामला उठायेंगे तथा अदालत से इस पूरे प्रकरण की जांच के आदेश देने का आग्रह करेंगे।

उन्होंने दावा किया था कि पुलिस की तरह लगने वाले लोगों ने उन्हें अपनी गाडी में उठा लिया था तथा जान से मारने की धमकी देते हुए आरक्षण आंदोलन छोडने और ग्रामीण इलाकों में सभा नहीं करने की बात कही थी।

हार्दिक ने दावा किया था कि इन लोगों ने रात भर गाडी में रख कर धमकाने के बाद कल दिन में साढे ग्यारह बजे हडवद के निकट सडक पर अपनी गाडी से उतार दिया था।

हालांकि गृह राज्य मंत्री रजनी पटेल ने उनके दावे को खारिज कर दिया था। हार्दिक के खिलाफ अरवल्ली जिले के आंबलियारा थाने में धारा 188 के तहत मामला दर्ज है। सरकार ने उनकी गिरफ्तारी की भी बात कही है।

मांगुकिया ने कहा कि पुलिस कह रही है कि उसने हार्दिक को नहीं उठाया पर यह जांच का विषय है। हम इस मामले में अदालत से आग्रह करेंगे। उन्होंने कहा कि हार्दिक का पता चल जाने के बाद अब बंदी प्रत्यक्षीकरण चायिका का कोई अर्थ नहीं है, अब अदालत में हार्दिक अपना पक्ष रखेंगे।

उधर, राज्य सरकार आज राज्य के आर्थिक रूप से पिछडे वर्ग और छात्रों के लिए विशेष आर्थिक पैकेज की घोषणा कर सकती है। बताया जा रहा है कि इस पैकेज में पटेल और आरक्षण की मांग कर रहे अन्य समुदायों के साथ बातचीत के लिए गठित स्वास्थ्य मंत्री नीतिन पटेल की अध्यक्षता वाली सात सदस्यीय मंत्री समिति की सिफारिशों और मुख्यमंत्री तथा विशेषज्ञों के सुझावों का समावेश किया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App