ताज़ा खबर
 

पी साईंनाथ बोले- राफेल से बड़ा घोटाला है एनडीए की फसल बीमा योजना

"पूरी फसल खराब हो गई और बीमा कंपनी ने दावों का भुगतान किया। रिलायंस ने एक जिले में 30 करोड़ रुपये का भुगतान किया और उसे शुद्ध लाभ 143 करोड़ रुपये हुआ, जबकि उसका निवेश एक भी रुपया नहीं था।"

Author November 4, 2018 3:43 PM
प्रख्यात पत्रकार पी. साईंनाथ (फोटो सोर्स : Indian Express)

प्रख्यात पत्रकार व किसानों के मुद्दों के मुद्दों को लेकर मुखर रहने वाले पी. साईंनाथ ने शुक्रवार को यहां कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की सरकार की फसल बीमा योजना राफेल से बड़ा घोटाला है। साईंनाथ ने कहा, “वर्तमान सरकार की नीति किसान विरोधी है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना राफेल घोटाले से भी बड़ा गोरखधंधा है। रिलायंस, एस्सार, जैसी चुनींदा कंपनियों को फसल बीमा प्रदान करने का काम सौंपा गया है।”

साईंनाथ यहां शुक्रवार से चल रहे तीन दिवसीय किसान स्वराज सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। महाराष्ट्र का उदाहरण देते हुए साईंनाथ ने कहा, “2.80 लाख किसानों ने सोयाबीन की खेती की। एक जिला में किसानों ने 19.2 करोड़ रुपये का भुगतान किया। राज्य सरकार और केंद्र सरकार ने 77-77 करोड़ रुपये का भुगतान किया। कुल राशि 173 करोड़ रुपये हुई जो रिलायंस बीमा को भुगतान किया गया।”


उन्होंने कहा, “पूरी फसल खराब हो गई और बीमा कंपनी ने दावों का भुगतान किया। रिलायंस ने एक जिले में 30 करोड़ रुपये का भुगतान किया और उसे शुद्ध लाभ 143 करोड़ रुपये हुआ, जबकि उसका निवेश एक भी रुपया नहीं था।”

गौरतलब है कि, करीब हर साल बाढ़, आंधी, ओले और तेज बारिश से उनकी फसल खराब हो जाती है। इसके चलते किसानों को काफी नुकसान उठाना पड़ता है। इसी को देखते हुए मोदी सरकार ने प्रधानमत्री फसल बीमा योजना शुरू की थी। किसानों को राहत देने वाली इस योजना को 13 जनवरी 2016 को शुरू किया गया था। इसके तहत किसानों को खरीफ की फसल के लिये 2 फीसदी प्रीमियम और रबी की फसल के लिये 1.5% प्रीमियम का भुगतान करना पड़ता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X