ताज़ा खबर
 

इस सरकार के लिए झूठ ही ऑक्सिजन, ईश्वर दोषी, मोदी जी निर्दोष- अपना प्राइम टाइम विडियो शेयर कर रवीश कुमार ने पीएम पर मारा ताना

रवीश कुमार ने लिखा कि इस सरकार के लिए झूठ ही ऑक्सीजन है। जिसकी कभी कमी नहीं थी और अब तो गंगा ही बह रही है। सरकार की यह बात एलान कर रही है कि उसकी निगाह में जनता ख़त्म हो चुकी है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (फोटो सोर्स – पीटीआई)

कोरोना पर चर्चा के दौरान संसद में सरकार की तरफ से कहा गया कि ऑक्सिजन की कमी से देश में किसी की भी मौत नहीं हुई। सरकार की तरफ से दिए गए बयान के बाद से देश भर में लोग इसकी आलोचना कर रहे हैं। एनडीटीवी के पत्रकार रवीश कुमार ने प्राइम टाइम विडियो शेयर करते हुए तंज किया कि इस सरकार के लिए झूठ ही ऑक्सिजन है पूरे मामले के लिए ईश्वर दोषी हैं और मोदी जी निर्दोष हैं।

रवीश कुमार ने लिखा कि इस सरकार के लिए झूठ ही ऑक्सीजन है। जिसकी कभी कमी नहीं थी और अब तो गंगा ही बह रही है। सरकार की यह बात एलान कर रही है कि उसकी निगाह में जनता ख़त्म हो चुकी है। सरकार जो कहेगी जनता वही सोचेगी। वही मानेगी। एक दिन सरकार कह देगी कि कोई मरा ही नहीं था। इस बात के लिए समर्थक आ जाएँगे और कमेंट बॉक्स में रैली करने लगेंगे कि हाँ हाँ कोई नहीं मरा था। मृत्यु तो ईश्वर के हाथ में है। ईश्वर दोषी है। मोदी जी निर्दोष हैं।

गौरतलब है कि सरकार ने मंगलवार को राज्यसभा को सूचित किया कि दूसरी लहर के दौरान विशेष रूप से राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों ने ऑक्सीजन की कमी के कारण किसी की भी मौत की जानकारी नहीं है। सरकार की तरफ से दिए गए बयान के बाद कांग्रेस ने मंगलवार को स्वास्थ्य राज्य मंत्री भारती प्रवीण पवार पर ”गलत सूचना” देकर संसद को गुमराह करने का आरोप लगाया।

कांग्रेस की तरफ से कहा गया कि पार्टी मंत्री के खिलाफ विशेषाधिकार हनन नोटिस लेकर आएगी क्योंकि उन्होंने सदन को ‘गुमराह’ किया है।वेणुगोपाल ने कहा कि सभी ने देखा है कि राष्ट्रीय राजधानी सहित कई राज्यों में ऑक्सीजन की कमी के कारण कैसे लोगों की मौत हुई।

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ”दरअसल, मंत्री ने सदन को गुमराह किया और मैं निश्चित रूप से मंत्री के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव पेश करूंगा क्योंकि मंत्री ने गलत जानकारी देकर सदन को गुमराह किया।” सरकार पर कटाक्ष करते हुए, कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि सरकार में ”संवेदनशीलता और सच्चाई की भारी कमी” है।

Next Stories
1 भारी पड़े महामारी के पहले 14 महीने, एक लाख से ज्यादा भारतीय बच्चे हुए अनाथ
2 ‘घूसखोर’ इंजीनियर ने लिखी किताब, गुजरात के शिक्षा मंत्री ने किया विमोचन; RAS टॉप लिस्ट में शिक्षा मंत्री के रिश्तेदार, हो रही जांच की मांग
3 ऑक्सीजन की कमी से मौत नहीं, सरकार के बयान पर बोले कुमार विश्वास- यह लोकतंत्र का शोकपर्व
ये पढ़ा क्या ?
X