A होता तो ताऊ, बी टीम है इसलिए बीजेपी का चाचू जान ओवैसी, बोले राकेश टिकैत

एआईएमआईएम प्रमुख ने कहा था कि वह यूपी की 403 सीटों में से लगभग 100 सीटों पर उम्मीदवार उतारने की योजना बना रहे हैं।

rakesh tikait, bku, india news
किसान नेता राकेश टिकैत (फाइल फोटोः पीटीआई)

भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने AIMIM नेता असदुद्दीन ओवैसी को बीजेपी का चाचू जान बताया है। टिकैत ने कहा कि ओवैसी बीजेपी के चाचू जान हैं और यूपी में उनके मेहमान बनकर आए हैं। उन्होंने कहा कि गांव में मुझे लोगों ने बताया कि ओवैसी बीजेपी की बी टीम है। इसलिए ओवैसी बीजेपी के चाचू जान हैं। अगर ए टीम होते तो ताऊ होते। टिकैत ने स्पष्ट किया कि उनका आंदोलन किसानों का आंदोलन है और इसका राजनीति से लेना देना नहीं है।

इससे पहले एआईएमआईएम प्रमुख ने कहा था कि वह यूपी की 403 सीटों में से लगभग 100 सीटों पर उम्मीदवार उतारने की योजना बना रहे हैं। जब उनका ध्यान अतीक अहमद जैसे आपराधिक इतिहास वाले लोगों को पार्टी में शामिल किए जाने पर हो रहीं आलोचना की ओर खींचा गया, तो उन्होंने कहा, “और क्या प्रज्ञा ठाकुर दूध की धुली हैं?”

उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि बीजेपी के कई विधायकों का आपराधिक रिकॉर्ड है। ओवैसी ने कहा, “अगर वे सम्मानित जनप्रतिनिधि हैं …. तो अतीक अहमद भी कुछ अप्रमाणित आरोपों वाले इस देश के नागरिक हैं और इसलिए चुनाव लड़ने के योग्य हैं।” उन्होंने योगी आदित्यनाथ की “अब्बा जान” वाली टिप्पणी का उल्लेख करते हुए चुटकी लेते कहा कि यह “बाबा” की ओर से ध्रुवीकरण की रणनीति थी।

मालूम हो कि योगी आदित्यनाथ ने बीते रविवार को कुशीनगर में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए दर्शकों से पूछा था कि क्या उन्हें राशन मिल रहा है और 2017 से पहले यह राशन उन्हें कहां से मिल रहा था? मुख्यमंत्री ने कहा था, ”क्योंकि तब ‘अब्बा जान’ कहे जाने वाले लोग राशन को खा जाते थे। कुशीनगर का राशन नेपाल और बांग्लादेश जाता था। आज अगर कोई गरीब लोगों के राशन को हथियाने की कोशिश करेगा, तो वह निश्चित रूप से जेल चला जाएगा।”

वहीं, कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के ‘अब्बा जान’ वाले बयान को लेकर उन पर निशाना साधा और कहा कि कोरोना महामारी के समय गंगा में लाशें तैरने के समय योगी कहीं नहीं नजर नहीं आए, लेकिन अब चुनाव नजदीक आने पर अपने पुराने ढर्रे पर जाकर ‘अब्बा जान’ को याद करने लगे हैं।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट