यूपी में साथ आएंगे ओवैसी और भीम आर्मी के चंद्रशेखर, ओपी राजभर का दावा

राजभर ने बातचीत में कहा कि ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) प्रमुख असदउद्दीन ओवैसी और भीम आर्मी प्रमुख चन्द्रशेखर से लखनऊ में मंगलवार को उनकी मुलाकात हुई है।

Uttar Pradesh, Yogi Adityanath
सुभासपा पार्टी के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर (फोटो सोर्स – पीटीआई)

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के पूर्व सहयोगी दल सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष पूर्व मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने बुधवार को दावा किया कि भीम आर्मी के मुखिया चन्द्रशेखर उर्फ रावण उनकी अगुवाई वाले ‘भागीदारी संकल्प मोर्चा’ में शामिल होने के लिए राजी हो गए हैं और 27 अक्टूबर को मऊ जिले में होने वाली रैली में इसकी औपचारिक घोषणा की जाएगी।

राजभर ने बातचीत में कहा कि ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) प्रमुख असदउद्दीन ओवैसी और भीम आर्मी प्रमुख चन्द्रशेखर से लखनऊ में मंगलवार को उनकी मुलाकात हुई है। इस मुलाकात के दौरान चंद्रशेखर ने भागीदारी संकल्प मोर्चा में शामिल होने पर अपनी रजामंदी दे दी है।

उन्होंने बताया कि दोनों नेताओं से बातचीत के दौरान उत्तर प्रदेश विधानसभा के आगामी चुनाव को लेकर रणनीति पर चर्चा हुई है। यह तय किया गया है कि भागीदारी संकल्प मोर्चा की पहली बड़ी रैली सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के स्थापना दिवस के मौके पर 27 अक्टूबर को मऊ जिले के हलधरपुर में होगी।

राजभर ने कहा कि इस रैली में चन्द्रशेखर भागीदारी संकल्प मोर्चा में शामिल होने की औपचारिक रूप से घोषणा करेंगे। उन्होंने बताया कि इस रैली के बाद मोर्चा की अगली रैली 27 नवम्बर को हरदोई जिले के संडीला में होगी। इसके बाद कानपुर, मुरादाबाद और बस्ती में रैली होगी।

प्रदेश के पूर्व कैबिनेट मंत्री ने बताया कि इन सभी रैलियों को ओवैसी और चन्द्रशेखर के साथ ही मोर्चा में शामिल सभी दलों के नेता सम्बोधित करेंगे। विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) के मोर्चे में शामिल होने को लेकर पूछे जाने पर उन्होंने बताया कि इस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं बिहार के कैबिनेट मंत्री मुकेश सहनी ने 15 अक्टूबर तक मोर्चा में शामिल होने के मसले पर स्थिति स्पष्ट करने की बात कही है।

उन्होंने सम्भावना जताई है कि सहनी भी 27 अक्टूबर को मऊ जिले के हलधरपुर में आयोजित होने वाली रैली में शामिल हो सकते हैं। उन्होंने सपा से गठबंधन से जुड़े एक सवाल के जबाब में स्पष्ट किया है कि उनकी अभी तक समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव से कोई मुलाकात या बात नहीं हुई है।

बता दें कि सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी ने 2017 का विधानसभा चुनाव भाजपा के साथ गठबंधन में लड़ा था और चार सीटों पर जीत हासिल की थी।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट