ताज़ा खबर
 

गुरुवार को देश में कोरोना के 1.85 लाख से ज्यादा मामले, संक्रमण से 3,644 लोगों की मौत

सबसे अधिक मामले तमिलनाडु में दर्ज किए गए। तमिलनाडु स्वास्थ्य विभाग के मुताबित राज्य में कोरोना के 33,361 नए मामले सामने आए जबकि 474 लोगों की मौत हुई।

Edited By Sanjay Dubey नई दिल्ली | Updated: May 28, 2021 6:21 AM
नई दिल्ली स्थित क्रिश्चियन सिमेट्री में कोरोना से मरने वाले अपने परिजन की अंत्येष्टि के दौरान लोग। (फोटोः पीटीआई)

देश में गुरुवार को कोरोना विषाणु संक्रमण के मामले दो लाख से कम दर्ज किए गए। गुरुवार रात ग्यारह बजे तक 33 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में कोरोना के 1,85,997 नए मामले सामने आए। इस दौरान 3,644 लोगों की मौत संक्रमण की वजह से हुई। ये आंकड़े राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के स्वास्थ्य विभागों की ओर से जारी किए गए थे।

गुरुवार को तमिलनाडु में सबसे अधिक मामले दर्ज किए गए। तमिलनाडु स्वास्थ्य विभाग के मुताबित राज्य में कोरोना के 33,361 नए मामले सामने आए जबकि 474 लोगों की मौत हुई। तमिलनाडु के बाद कर्नाटक में 24,214, केरल में 24,166, महाराष्ट्र में 21,273, आंध्र प्रदेश में 16,167, पश्चिम बंगाल में 13,046, ओड़ीशा में 6,736, असम में 5,704, पंजाब में 3,914, राजस्थान में 3,454, उत्तर प्रदेश में 3,278 दिल्ली में 1,072 मामले सामने आए।

केंद्र ने गुरुवार को कहा कि देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर मंद पड़ रही है और साथ उम्मीद जतायी कि आगामी दिनों में प्रतिबंधों में अधिक ढील देने के बावजूद भी मामलों में कमी जारी रहेगी। लेकिन साथ ही कहा कि अब भी उपचाराधीन मामले बहुत ज्यादा हैं। केंद्र ने इस बात पर भी जोर दिया कि राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों द्वारा प्रतिबंधों में किसी भी तरह की छूट को लेकर उचित समय पर चरणबद्ध तरीके से विचार किया जा सकता है।

नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) वी के पॉल ने संवाददाता सम्मेलन में बताया कि देश के अधिकतर हिस्से में ज्यादा जांच के बावजूद नए मामलों और संक्रमण दर के लिहाज से दूसरी लहर स्थिर हो रही है। स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, देश में उपचाराधीन मरीजों की संख्या और गिरकर 24,19,907 हो गई है, जो संक्रमण के कुल मामलों का 8.84 प्रतिशत है।

गृह मंत्रालय ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को कोविड-19 के मौजूदा दिशा-निर्देशों को 30 जून तक जारी रखने का आदेश देते हुए उनसे कहा कि जिन जिलों में कोरोना वायरस के मामलों की संख्या अधिक है, वहां पर गहन एवं स्थानीय स्तर पर नियंत्रण के उपाय किए जाएं। एक नए आदेश में, केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने कहा कि नियंत्रण के उपायों को सख्ती से लागू करने से दक्षिण और पूर्वोत्तर के कुछ इलाकों को छोड़कर सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में नए और उपचाराधीन मामलों में गिरावट आई।

Next Stories
1 मंदिरों, मस्जिदों और चर्चों में लाउडस्पीकरों के इस्तेमाल पर रोक लगाई जाए-इलाहाबाद हाइकोर्ट में याचिका दायर
2 मोदी सरकार की हिंदुत्व पॉलिटिक्स पर अमेरिका के पूर्व NSA से बोले जयशंकर- जो तस्वीर दिखाई जा रही वो गलत
3 कभी ब्लोटिंग एम्नीज़िया से पीड़ित हुआ तो बाबा रामदेव की ही शरण में आऊंगा-हारवर्ड के मेडिकल प्रोफेसर ने दिया स्वामी जी के सवालों का जवाब
ये पढ़ा क्या?
X