ताज़ा खबर
 

हाल-ए-रेल: प्रतीक्षा सूची के एक करोड़ लोगों की छूूटी रेल

रेलवे ने अधिक यात्री वाले मार्गों पर विशेष ‘क्लोन ट्रेनें’ भी पेश की हैं। इन ट्रेनों का सीमित संख्या में ही ठहराव/हाल्ट है। इनमें मुख्य रूप से तृतीय श्रेणी के एसी डिब्बे शामिल हैं जो उसी मार्ग पर पहले से संचालित हो रहीं ‘स्पेशल ट्रेनों’ से पहले परिचालित होंगी। इन ‘क्लोन ट्रेनों’ की अग्रिम बुकिंग अवधि 10 दिनों की है।

Author नई दिल्‍ली | Updated: November 2, 2020 9:57 PM
भारतीय रेलवे। फाइल फोटो।

प्रतीक्षा सूची के एक करोड़ से अधिक यात्री आरक्षण कन्फर्म नहीं हो पाने के कारण 2019-20 में रेल यात्रा से महरूम रहे। सूचना का अधिकार (आरटीआइ) कानून के तहत दायर एक अर्जी के जरिए यह जानकारी सामने आई है। इससे यह संकेत भी मिलता है कि देश में व्यस्त रेल मार्गों पर रेलगाड़ियों की कमी है।

अर्जी के जवाब में यह बताया गया है कि 2019-20 में कुल 84,61,204 ‘पैसेंजर नेम रिकार्ड’ (पीएनआर) प्रतीक्षा सूची में रह जाने के चलते खुद-ब-खुद रद्द हो गए। इन पीएनआर के जरिए सवा करोड़ से अधिक यात्रियों के यात्रा करने का कार्यक्रम था। रेल मंत्रालय ने निजी क्षेत्र की ट्रेनें पेश कर पहली बार ट्रेन यात्रा के लिए प्रतीक्षा सूची को घटाने की दिशा में कदम उठाया है।

रेलवे ने अधिक यात्री वाले मार्गों पर विशेष ‘क्लोन ट्रेनें’ भी पेश की हैं। इन ट्रेनों का सीमित संख्या में ही ठहराव/हाल्ट है। इनमें मुख्य रूप से तृतीय श्रेणी के एसी डिब्बे शामिल हैं जो उसी मार्ग पर पहले से संचालित हो रहीं ‘स्पेशल ट्रेनों’ से पहले परिचालित होंगी। इन ‘क्लोन ट्रेनों’ की अग्रिम बुकिंग अवधि 10 दिनों की है।

पीएनआर के रद्द हो जाने के बाद टिकट बुकिंग की रकम यात्रियों को वापस मिल जाती है। मध्य प्रदेश के आरटीआइ कार्यकर्ता चंद्र शेखर गौड़ द्वारा दायर आरटीआइ अर्जी के जवाब में कहा गया है कि पिछले पांच वर्षों में करीब पांच करोड़ पीएनआर प्रतीक्षा सूची में रह जाने के कारण स्वत: ही रद्द हो गए।

वर्ष 2014-15 में, रद्द हुए पीएनआर की संख्या 1,13,17,481 थी, 2015-2016 में 81,05,022, 2016-2017 में 72,13,131, इसके बाद के साल में 73,02,042 और 2018-2019 में यह संख्या 68,97,922 थी। आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार 2019-20 में प्रतीक्षा सूची में 8.9 फीसद की औसत कमी आई। वहीं, व्यस्त अवधि के दौरान 13.3 फीसद यात्रियों को कन्फर्म टिकट नहीं मिल सका।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 40 रुपए के टिकट पर इस नंबर को मिला 75,00,000 रुपए का इनाम
2 कमलनाथ को सुप्रीम कोर्ट ने दी राहत! EC द्वारा स्टार प्रचारक का दर्जा छीनने के फैसले पर लगायी रोक
3 फ्रांस अटैकः शायर मुनव्वर राणा के खिलाफ UP में केस, इंटरव्यू के दौरान हिंसा का किया था समर्थन
यह पढ़ा क्या?
X