ताज़ा खबर
 

अनिल वाजे को गृह मंत्री ने दिया उगाही का टार्गेट- परमबीर सिंह के आरोप के बाद अनिल देशमुख के इस्तीफे की मांग

भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता गौरव भाटिया ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि यह आवश्यक हो गया है कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे बिना एक मिनट का समय गंवाए हुए यह जवाब दें कि यह वसूली कैसे हो रही थी

maharashtra, home minister, anil deshmukh, parambir singhमुंबई पुलिस के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह के खुलासे के बाद महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख के इस्तीफे की मांग उठने लगी है। (एक्सप्रेस फोटो/अमित चक्रवर्ती/गणेश सिर्सेकर)

मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख पर गंभीर आरोप लगाए हैं। परमबीर सिंह का दावा है कि अनिल देशमुख ने पुलिस अफसर सचिन वाजे को हर महीने 100 करोड़ रुपए उगाही करने के लिए कहा था। परमबीर सिंह के इस खुलासे के बाद गृह मंत्री अनिल देशमुख के इस्तीफे की मांग शुरू हो गई है। इस संबंध में भाजपा ने प्रेस कांफ्रेंस कर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री से जवाब मांगा और अनिल देशमुख से इस्तीफा देने को कहा है।

भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता गौरव भाटिया ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि यह आवश्यक हो गया है कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे बिना एक मिनट का समय गंवाए हुए यह जवाब दें कि यह वसूली कैसे हो रही थी। साथ ही गृहमंत्री अनिल देशमुख तुरंत अपने पद से इस्तीफा दें। वहीं महाराष्ट्र की सरकार में शामिल कांग्रेस पार्टी के नेता राशिद अल्वी ने भी अनिल देशमुख से इस्तीफा मांगा है। राशिद अल्वी ने कहा कि ये बहुत ही गंभीर आरोप है और यह कांग्रेस पार्टी की इज्जत का सवाल है।

शनिवार को मुंबई के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह की चिट्ठी मिली जो उन्होंने राज्यपाल भगत कोश्यारी और मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को लिखी थी। इस चिट्ठी में परमबीर सिंह ने दावा किया है कि गृहमंत्री अनिल देशमुख ने एंटीलिया मामले में फंसे पुलिस अफसर सचिन वाजे को कई बार मिलने के लिए घर पर बुलाया था। साथ ही अनिल देशमुख ने सचिन वाजे को हर महीने 100 करोड़ की वसूली करने को कहा था। सचिन को हर पब से 2-3 लाख रुपए की वसूली करने को भी कहा गया था और सभी हुक्का पार्लरों पर भी छापा मारने को कहा गया था।

हालांकि इस मामले पर गृहमंत्री अनिल देशमुख ने तुरंत अपने ट्विटर हैंडल से प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने खुद को बचाने के लिए झूठे आरोप लगाए हैं क्योंकि मुकेश अंबानी और मनसुख हिरेन केस में सचिन वाजे के हाथ स्पष्ट रूप से नजर आ रहे हैं और इसके तार परमबीर सिंह से भी जुड़ रहे हैं।

परमबीर सिंह की चिट्ठी सामने आते ही महाराष्ट्र में सियासत गरमा गई है। महाराष्ट्र भाजपा के नेता किरीट सोमैया ने भी गृह मंत्री अनिल देशमुख को हटाने की मांग की है। सोमैया ने कहा है कि अनिल देशमुख सचिन वाजे से मिलते थे इसलिए यह प्रतीत होता है कि गृह मंत्री अनिल देशमुख वसूली कर रहे थे। सोमैया ने यह भी कहा कि अनिल देशमुख तो तुरंत गृह मंत्री के पद से हटा देना चाहिए। बता दें कि अनिल देशमुख को महाराष्ट्र की महाविकास अघाड़ी की सरकार में एनसीपी कोटे से मंत्री बनाया गया था।

Next Stories
1 परमबीर सिंह के लेटर पर नया पेंच, महाराष्ट्र CMO का दावा- अनाधिकारिक मेल आईडी और बिना हस्ताक्षर के मिला पत्र
2 जब बड़े बात करते हैं तब बच्चे बीच में नहीं बोलते, लाइव डिबेट में TMC प्रवक्ता से बोले पैनलिस्ट
3 कांग्रेस के साथ समझौता क्यों किया? सवाल पर बोले संजय राऊत- मोदी लहर दिखी तो सीट बंटवारे का व्यापार करने लगे
ये पढ़ा क्या?
X