ताज़ा खबर
 

नोटबंदी के खिलाफ सड़क पर विपक्ष, आप ने किया जन संवाद

वाम दलों ने भारत बंद की अपील के साथ किया प्रदर्शन, फैसले को बताया गरीब विरोधी और कॉरपोरेट समर्थक।
Author नई दिल्ली | November 29, 2016 01:42 am
लेफ्ट पार्टी के कार्यकर्ताओं ने पुदुच्चेरी में मंगलोर एक्सप्रेस ट्रेन को रोक कर विरोध-प्रदर्शन किया (फोटो-PTI)

नोटबंदी के खिलाफ विपक्षी दलों ने सोमवार को दिल्ली की सड़कों पर उतर कर केंद्र सरकार का पुरजोर विरोध किया। वाम दलों ने जहां ‘भारत बंद’ की अपील के तहत प्रदर्शन कर केंद्र की इस नीति को ‘गरीब विरोधी और कॉरपोरेट समर्थक’ बताया, वहीं कांग्रेस ने ‘जन आक्रोश दिवस’ के तहत सरकार के खिलाफ मोर्चा खोला और प्रधानमंत्री को ‘संवेदनहीन’ बताया। इसके अलावा आम आदमी पार्टी ने भी जन संवाद कर ‘नोट नहीं पीएम बदलो’ की नारेबाजी की। नोटबंदी के खिलाफ इस विरोध प्रदर्शन से मंडी हाउस, जंतर मंतर और कनॉट प्लेस की ओर यातायात प्रभावित रहा। भारत बंद के तहत मंडी हाउस से जंतर-मंतर तक प्रदर्शन करते हुए माकपा और भाकपा सहित सात वाम दलों ने नोटबंदी को ‘गरीब विरोधी और कॉरपोरेट समर्थक’ बताया। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आरोप लगाया कि वे देश को एक ‘अभूतपूर्व वित्तीय संकट’ में धकेल रहे हैं। संसद से प्रधानमंत्री की कथित गैर-मौजूदगी को लेकर उन पर हमला जारी रखते हुए वाम दलों ने सदन में उनकी ‘चुप्पी’ पर भी सवाल उठाया और उन्हें ‘नरेंद्र मौन मोदी’ कहा। वाम दलों ने मांग की है कि जब तक नए नोट उपलब्ध नहीं हो जाते, तब तक सरकार लोगों को पुराने नोट का इस्तेमाल करने दे।

माकपा महासचिव सीताराम येचुरी ने विरोध प्रदर्शन के दौरान कहा, ‘90 फीसदी लोग रोजाना नकद लेन-देन करते हैं। उनके जीवन पर बहुत असर पड़ा है। हम इस सब के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं।’ येचुरी ने दावा किया कि 8 नवंबर के फैसले से किसानों और दिहाड़ी मजदूरों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है, लेकिन नोटबंदी के बताए जा रहे मकसद के हासिल होने की संभावना नहीं है। उन्होंने यह आरोप दोहराया कि भाजपा और जिनके पास कालाधन है, वे प्रधानमंत्री के कदम से ‘वाकिफ’ थे। राज्यसभा सदस्य ने सरकार से उन लोगों पर कार्रवाई करने को कहा जिनका विदेश स्थित बैंकों में कालाधन है। उन्होंने बैंकों के कर्ज चुकाने में नाकाम रहे कॉरपोरेट घरानों के खिलाफ भी कार्रवाई करने की मांग की।
आप ने किया जन संवाद

आम आदमी पार्टी ने भी कनॉट प्लेस के सेंट्रल पार्क में जन संवाद का आयोजन किया और पार्टी के लोगों से अपील की कि वे गली-मोहल्लों में जाकर लोगों की परेशानियां जानें। जन संवाद में आप सरकार के मंत्री और नेताओं ने आरोप लगाया कि नोटबंदी ने दूसरे तरह के भ्रष्टाचार को जन्म दिया है और आम लोगों के पैसों से अदाणी-अंबानी की जेबें भरी जा रही हैं।
जनता दल (युनाइटेड) ने भी नई दिल्ली से संसद भवन तक जनप्रतिरोध मार्च निकाला और आरोप लगाया कि नोटबंदी के नाम पर देश की अर्थव्यवस्था बहुराष्ट्रीय कंपनियों को सौंपने की साजिश है। प्रदर्शन के कारण जंतर-मंतर की ओर जाने वाली सड़कों पर यातायात काफी देर तक जाम रहा। वहीं कनॉट प्लेस के इनर सर्किल में वाहनों की संख्या काफी ज्यादा रही।

 

 

 

दिल्ली: नोटबंदी के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों को पुलिस ने हिरासत में लिया

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.