ताज़ा खबर
 

…जब बीजेडी सांसद ने कहा- अंधेरी रात में चमकते इकलौते तारे की तरह हैं नितिन गडकरी, बाकी विपक्ष ने भी बांधे तारीफों के पुल

लोकसभा में शुक्रवार को यातायात नियमों के उल्लंघन और जुर्माने के संबंध में एक बिल पेश किया गया था

विपक्ष के अन्य सांसदों ने भी गडकरी के काम की तारीफ की, जिससे मंत्री के चेहरे पर मुस्कान आ गई। (Express Archives photo)

यातायात नियमों में कड़े सुधारों वाले एक बिल को लोकसभा में शुक्रवार को सभी का समर्थन मिला। इस बिल में नियमों का उल्लंघन करने पर कड़ा जुर्माना लगाने और डिजाइन में कमी के लिए निर्माता को जिम्मेदार ठहराने जैसे कानून थे। नितिन गडकरी के काम से खुश होकर लोकसभा में बीजेडी के एक सांसद ने उन्हें अंधेरी रात में चमकते इकलौते तारे की तरह बताया। इस पर विपक्ष ने भी केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी की जमकर तारीफ की और उन्हें एक बेहतरीन मंत्री बताया।

मोटर वाहन (संसोधन) बिल 2016 को लोकसभा में 9 अगस्त 2016 को पेश किया गया था, जिसे परिवहन, पर्यटन और संस्कृति पर बनी स्थाई समिति को भेज दिया गया था। गडकरी ने कहा कि उन्होंने समिति द्वारा बताए गए अधितकर सुझावों को सम्मिलित किया है। बिल पर चर्चा के दौरान कांग्रेस नेता के सी वेणुगोपाल ने गडकरी को इमानदार नेता बताते हुए कहा कि वो परिवहन क्षेत्र में आने वाली अधिकतर समस्याओं को सुलझाने की कोशिश कर रहे हैं। वहीं, बीजडी सदस्य तथागता सत्पथी ने गडकरी को मेहनती बताते हुए कहा कि अच्छे काम तब भी किए जा सकते हैं जबकि सरकार बुरी हो। उन्होंने कहा, “रात के घने अंधेरे में भी अकेला सितारा भी चमकता है।”

हालांकि इस दौरान थोड़ी आलोचना भी की गई। वेणुगोपाल ने कहा, “गडकरी अच्छे व्यक्ति हैं लेकिन गोवा में उन्होंने विलेन की भूमिका अदा की।” इस पर गडकरी ने कांग्रेस की विफलता की जिम्मेदारी दिग्विजय सिंह पर डालते हुए उनका नाम लिए बिना कहा, ‘‘ आप मुझे क्यों दोष दे रहे हैं? आपका हीरो सारी रात सोता रहा। आपकी फिल्म चल जाती यदि आपका हीरो रातभर सोता नहीं रहता।’’

लोकसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे, तृणमूल कांग्रेस के दिनेश त्रिवेदी और विपक्ष के अन्य सांसदों ने भी गडकरी के काम की तारीफ की, जिससे मंत्री के चेहरे पर मुस्कान आ गई। हालांकि खड़गे ने कहा कि सत्ता पक्ष की सीटें खाली पड़ी हैं और सदन में कोरम भी नहीं है तो ऐसे में इस महत्वपूर्ण बिल की चर्चा के प्रति बीजेपी की गंभीरता का अंदाजा लगाया जा सकता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App