ताज़ा खबर
 

टीवी चैनल ने बताया देश का ताजा मूड- राजस्‍थान, मध्‍य प्रदेश में कांग्रेस सरकार

सर्वे के मुताबिक राजस्थान की तस्वीर भी कुछ ऐसी ही है। अगर यहां अभी चुनाव हो तो बीजेपी को 39 प्रतिशत, कांग्रेस को 44 प्रतिशत और अन्य को 17 प्रतिशत वोट मिलता दिख रहा है। इस तरह से राजस्थान में कांग्रेस के वोट प्रतिशत में बीजेपी के मुकाबले 5 फीसदी का इजाफा दिख रहा है।

23 मई को बेंगलुरु में जेडीएस नेता एचडी कुमारस्वामी के शपथ ग्रहण कार्यक्रम के दौरान मौजूद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और सोनिया गांधी (PTI Photo)

केन्द्र की बीजेपी सरकार अब अपनी चौथी सालगिरह मना रही है। इसी साल के अंत तक देश के तीन राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं। ये राज्य हैं, राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़। हिन्दी न्यूज चैनल एबीपी ने इन राज्यों के लिए ओपिनियन पोल किया है। ओपिनियन पोल के मुताबिक अगर इस वक्त राजस्थान और मध्य प्रदेश में चुनाव हुए तो दोनों ही राज्यों से बीजेपी की छुट्टी हो सकती है। सर्वे के मुताबिक राजस्थान और मध्य प्रदेश दोनों ही राज्यों में कांग्रेस जोरदार वापसी कर सकती है। सर्वे के मुताबिक अगर इस वक्त मध्य प्रदेश में चुनाव हुए तो बीजेपी को 34%, जबकि कांग्रेस को 49 प्रतिशत वोट मिल सकता है, जबकि अन्य के खाते में 17 फीसदी वोट जाने का अनुमान है। बता दें कि 2013 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी को मध्य प्रदेश में 45 फीसदी, कांग्रेस को 36 फीसदी जबकि अन्य को 19 प्रतिशत वोट मिले थे।

सर्वे के मुताबिक राजस्थान की तस्वीर भी कुछ ऐसी ही है। अगर यहां अभी चुनाव हो तो बीजेपी को 39 प्रतिशत, कांग्रेस को 44 प्रतिशत और अन्य को 17 प्रतिशत वोट मिलता दिख रहा है। इस तरह से राजस्थान में कांग्रेस के वोट प्रतिशत में बीजेपी के मुकाबले 5 फीसदी का इजाफा दिख रहा है। 2013 में यहां बीजेपी को 45 प्रतिशत, कांग्रेस को 33 प्रतिशत और अन्य को 22 प्रतिशत वोट मिले थे।

एबीपी न्यूज के इस सर्वे के मुताबिक अगर इस वक्त राजस्थान में लोकसभा चुनाव के लिए मतदान हुआ तो एनडीए के खाते में 45 फीसदी, यूपीए के खाते में 42 फीसदी और अन्य के हिस्से में 13 प्रतिशत वोट जाने का अनुमान है। लेकिन यहां पर 2014 के लोकसभा चुनाव में एनडीए को 55 फीसदी, यूपीए को 30 फीसदी और अन्य को 15 प्रतिशत वोट मिल रहा है। इस तरह से अगर अभी चुनाव हो तो एनडीए को 2014 के मुकाबले 10 प्रतिशत वोटों का नुकसान हो दिख रहा है।  इसी तरह से अगर एमपी में अभी लोकसभा चुनाव के वोट डाले जाएं तो एनडीएन को नुकसान होता दिख रहा है। सर्वे के आंकड़े बताते हैं कि इस वक्त एनडीए को 40 फीसदी, यूपीए को 50 फीसदी और अन्य को 10 परसेंट वोट मिल रहा है। यहां पर 2014 के लोकसभा चुनाव में एनडीए को 54 फीसदी वोट मिला था। इस तरह से साल 2014 के मुकाबले एनडीए को 14 प्रतिशत वोट का नुकसान होता दिख रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App