ताज़ा खबर
 

अब पाक अफसरों के खेतों-मकानों को कर रहे टारगेट, BSF के ऑपरेशन अर्जुन से घुटनों पर पाकिस्तानी सेना

पाकिस्तानी रेंजर्स पंजाब के डीजी मेजर जनरल अजगर नवीद हयात खान ने बीएसएफ के डायरेक्टर केके शर्मा को पिछले हफ्ते में दो बार फोन किया

indian army2015 -17 में सुरक्षा बलों के करीब 400 जवानों ने जान गंवाई (File Pic)

भारतीय सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) ने सीमा के करीब स्थित पाकिस्तानी सेना के वर्तमान और पूर्व सैन्य अफसरों के घरों और खेतों पर निशाना लगाकर हमला कर रही है जिससे पाकिस्तानी सेना संघर्ष विराम के लिए अनुरोध करने पर विवश हो गयी। टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार भारत ने पाकिस्तानी स्नाइपरों द्वारा भारतीय सैनिकों को मारने और सीमावर्ती गांवों और ग्रामीणों पर गोलीबारी के बाद “ऑपरेशन अर्जुन” नामक अभियान शुरू किया। भारत के इस अभियान के बाद पाकिस्तानी सेना घुटनों पर आ गयी है और शांति चाहती है। पाकिस्तानी सेना संघर्ष विराम चाहते हैं।

टीओआई की रिपोर्ट के अनुसार भारतीय सेना ने रिटायर हो चुके पाकिस्तानी सेना एवं पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के अधिकारियों और पाकिस्तानी रेंजर्स के घरों और खेतों को खास तौर पर निशाना बनाया। पाकिस्तानी सेना ने अपने रिटायर हो चुके अफसरों को सीमा के नजदीक जमीनें दी हैं ताकि वो वहां से घुसपैठ कराने में अपने अनुभव से मदद कर सकें और भारती विरोध अभियानों के संचालन में मदद दे सकें।

बीएसएफ की कार्रवाई के बाद पाकिस्तानी रेंजर्स पंजाब के डीजी मेजर जनरल अजगर नवीद हयात खान ने बीएसएफ के डायरेक्टर केके शर्मा को पिछले हफ्ते में दो बार फोन किया और गोलीबारी रुकवाने का अनुरोध किया। रिपोर्ट के अनुसार शर्मा ने पाकिस्तानी डीजी हयात खान को पाकिस्तान की तरफ से की जा रही गोलीबारी पर कड़ा एतराज जताया। बगैर किसी उकसावे के पाकिस्तानी सैनिकों द्वारा की गयी गोलीबारी में भारतीय आम नागरिकों के जानो माल का नुकसान होता रहा है। रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तानी डीजी ने बीएसएफ के डायरेक्टर शर्मा को पहली बार 22 सितंबर को फोन किया था और फिर दोबारा सोमवार (25 सिंतबर) को भी कॉल की।

डायरेक्टर शर्मा ने पाकिस्तानी डीजी हयात खान से कहा कि उनके जूनियर लेफ्टिनेंट कर्नल इरफान जो कि 12 चेनाब रेंजर्स के कमांडिंग अफसर हैं उकसाने वाली कार्रवाई करते रहे हैं जिससे भारत की तरफ से जवाबी कार्रवाई करने की आशंका बढ़ती है। ऑपरेशन अर्जुन के तहत बीएसएफ ने छोटे और मझोले आकार के बमों और हथियारों का प्रयोग किया। भारतीय सीमा सुरक्षा बल के इस ऑपरेशन में सात पाकिस्तानी रेंजर्स और 11 नागरिक मारे गये। भारतीय सैनिकों ने सीमा के करीब स्थित कई पाकिस्तानी चौकियों और तबाह कर दिया।

 

Next Stories
1 विदेशी छात्रों और शिक्षकों की कमी से रैंकिंग में पिछड़े भारतीय संस्थान
2 दिल्ली हाईकोर्ट ने हनीप्रीत की अग्रिम जमानत याचिका खारिज की, कहा- सरेंडर करो
3 शिवसेना का पीएम नरेंद्र मोदी निशाना- महंगाई बढ़ रही है, बेटियां पिट रही हैं, आप कब तक चुप रहेंगे
ये पढ़ा क्या?
X