ताज़ा खबर
 

सर्जिकल स्ट्राइक पर PM मोदी का आदेश, सिर्फ डीजीएमओ ही मीडिया से करेंगे बात

प्रधानमंत्री ने आगे की रणनीति का खाका तैयार करते हुए सभी वरिष्ठ मंत्रियों को कहा है कि वो अपने मातहत सभी वरिष्ठ अधिकारियों से लगातार संपर्क में रहें।

सुरक्षा मामलों की कैबिनेट कमिटी की बैठक करते प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (फोटो-PMO)

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सुरक्षा मामलों की कैबिनेट कमिटी के सदस्यों को सर्जिकल स्ट्राइक पर मीडिया में कुछ भी नहीं बोलने की सलाह दी है। प्रधानमंत्री ने कहा कि इस मामले पर सिर्फ डायरेक्टर जनरल ऑफ मिलिट्री ऑपरेशंस (डीजीएमओ) प्रेस से बात करेंगे। वही मीडिया को कोई भी सूचना देंगे। प्रधानमंत्री ने आगे की रणनीति का खाका तैयार करते हुए सभी वरिष्ठ मंत्रियों को कहा है कि वो अपने मातहत सभी वरिष्ठ अधिकारियों से लगातार संपर्क में रहें। पीएम मोदी ने गृह मंत्री राजनाथ सिंह को भारत-पाकिस्तान की सीमा से सटे राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बातचीत करते रहने को कहा है जबकि वित्त मंत्री अरुण जेटली को कहा गया है कि वो विदेशी निवेशकों और फंड मैनेजर्स से संपर्क साधें और उन्हें वास्तविक स्थिति से अवगत कराएं। उन्हें भरोसा में लें कि भारत में विदेशी निवेश के लिए माहौल संतोषजनक और अनुकूल है और घबराने की जरूररत नहीं है।

वीडियो देखिए: क्या है सर्जिकल स्ट्राइक की अहमियत?

प्रधानमंत्री मोदी ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को विश्वास में लेने और उन्हें सरकार द्वारा उठाए गए कदमों की जानकारी देते रहने को कहा है जबकि विदेश सचिव एस जयशंकर को निर्देश दिया गया है कि वो चुनिंदा देशों के राजनयिकों को हालात की जानकारी दें। इससे पहले कल (गुरुवार को) भी राजनाथ सिंह ने कई मुख्यमंत्रियों और विपक्षी नेताओं से बात की थी और उन्हें सेना के सर्जिकल स्ट्राइक के बारे में जानकारी दी थी। प्रधानमंत्री ने खुद राष्ट्रपति, उप राष्ट्रपति और जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल से बात की थी।

Read Also-कश्‍मीर: पीओके में मारे गए पाकिस्‍तानी सैनिकों को दी श्रद्धांजलि, पाकिस्‍तानी झंडा दिखा कर लगाए भारत विरोधी नारे, सिपाहियों पर किया हमला

गौरतलब है कि भारतीय सेना ने बुधवार देर रात पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) में घुसकर आतंकियों के लॉन्च पैड तबाह कर दिए। स्पेशल फोर्सेज के कमांडो ने सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम देते हुए PoK में आतंकियों के 7 कैंप तबाह किए थे। करीब 4 घंटे चले इस ऑपरेशन में 38 आतंकी मारे गए थे। आतंकियों को बचाने के चक्कर में इस स्ट्राइक में 2 पाकिस्तानी सैनिक भी मारे गए थे।

वीडियो देखिए: तनाव के बाद भी जारी है बस सेवा

Read Also- पाकिस्तान के कब्जे में फंस गया चंदू बाबूलाल, खबर बर्दाश्त नहीं कर पाई नानी, हुई मौत

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App