ताज़ा खबर
 

सात महीने में केवल 37 फीसदी खर्च हुआ PM-KISAN का पैसा, जानिए क्या कहते हैं आंकड़ें

मंगलवार (19 नवंबर, 2019) को कृषि और किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने लोकसभा में बताया कि वित्त वर्ष 2019-20 में किसानों के लिए योजना के तहत 75,000 करोड़ रुपए का फंड जारी किया गया और अक्टूबर के आखिर तक 27,937.26 करोड़ की राशि खर्च की गई।

Author नई दिल्ली | Updated: November 20, 2019 9:01 AM
खेतों में किसान, प्रतीकात्मक तस्वीर (फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस)

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (PM-KISAN) योजना के तहत किसानों को मिलने वाले फंड के आंकड़े जारी हुए हैं। इसके मुताबिक जारी हुए कुल फंड में से मौजूदा वित्त वर्ष के शुरुआती सात महीनों में महज 37 फीसदी किसानों को इसका लाभ मिल पाया। मंगलवार (19 नवंबर, 2019) को कृषि और किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने लोकसभा में बताया कि वित्त वर्ष 2019-20 में किसानों के लिए योजना के तहत 75,000 करोड़ रुपए का फंड जारी किया गया और अक्टूबर के आखिर तक 27,937.26 करोड़ की राशि खर्च की गई। बता दें कि चालू वित्त वर्ष समाप्त होने में अब मुश्किल से पांच महीने कुल बचे हैं। ऐसे में इस बात की अपार संभावना है कि पीएम-किसान योजना के तहत जो राशि जारी की गई उसमें बहुत सा धन बच जाए।

एक सवाल के जवाब में तोमर ने लिखित में जवाब दिया, ‘वित्त वर्ष 2019-20 के लिए जारी किए गए 75,000 करोड़ रुपए के फंड में से 31-10-2019 तक करीब 29,937.26 करोड़ रुपए की राशि खर्च की जा चुकी है। इसमें राज्यों को दिया गया प्रशासनिक खर्ज भी शामिल है।’ योजना के तहत धीमी गति से राशि खर्च होने का कोई स्पष्ट कारण नहीं बताते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘PM-KISAN एक सतत और वर्तमान में लागू योजना है, जिसमें वित्तीय लाभ लाभार्थियों के बैंक खातों में तब स्थानांतरित किए जाते हैं, जब उनका सही और सत्यापित डेटा पीएम-किसान वेब-पोर्टल पर संबंधित राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों द्वारा अपलोड किया जाता है। इसलिए संख्या में थोड़ी कमी हो सकती है। वित्त वर्ष 2019-20 की समाप्ति के बाद फंड की वास्तविक स्थिति का पता लगाया जा सकेगा।’

उल्लेखनीय है कि वित्त वर्ष 2018-19 में सरकार ने कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय के संशोधित अनुमानों के लिए पीएम-किसान योजना के लिए 20,000 करोड़ रुपए आवंटित किए थे। हालांकि, इस साल 25 जून को लोकसभा में तोमर द्वारा दिए गए एक लिखित जवाब से पता चलता है कि लाभार्थियों को पिछले वित्तीय वर्ष में पहली किस्त के रूप में 6,662 करोड़ रुपए का भुगतान किया गया था।

बता दें कि पीएम किसान योजान के तहत सरकार सरकार योग्य लाभार्थी को 6,000 रुपये प्रति वर्ष की सहायता प्रदान करती है, जो कि 2,000 रुपए की तीन मासिक किस्तों में दिए जाते हैं। राशि सीधे लाभार्थियों के बैंक खातों में ऑनलाइन भेजी जाती है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस साल एक फरवरी को 2019-20 के अंतरिम बजट में किसानों के लिए पीएम-किसान योजना की शुरुआत की थी। सरकार ने बताया कि किसान की योजना एक दिसंबर 2018 से प्रभारी रूप से लागू कर दी गई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Video: प्रियंका गांधी ने जिसे बताया था अधमरा, वह अचानक लगा दौड़ने; योगी सरकार के प्रवक्ता बोले- झूठ के भागते पांव
2 West bengal: मिशनरी स्कूल टीचर ने लड़कियों को लेगिंग उतारने पर किया मजबूर, मंत्री ने दिए जांच के आदेश
3 Weather Forecast Today: कश्मीर-हिमाचल-लद्दाख-उत्तराखंड में आज होगी बारिश, दिल्ली-एनसीआर में भी बढ़ेगा प्रदूषण का स्तर, जानिए देशभर के मौसम का सटीक अनुमान
जस्‍ट नाउ
X