ताज़ा खबर
 

सत्ता में मोदी का पहला साल देश के लिए त्रासदी भरा रहा: येचुरी

पहले साल में नरेंद्र मोदी सरकार के प्रदर्शन को त्रासदी भरा करार देते हुए माकपा महासचिव सीताराम येचुरी ने कहा कि केंद्र की राजग सरकार संसदीय प्रक्रियाओं की अनदेखी करने के लिए बेहतर...

Author May 20, 2015 12:22 AM
मोदी पर निशाना साधते हुए येचुरी ने कहा कि उनकी सरकार ने एक ही रिकॉर्ड स्थापित किया है और वह है अप्रत्याशित संख्या में विदेश यात्रा पर जाना।(फाइल फ़ोटो-पीटीआई)

पहले साल में नरेंद्र मोदी सरकार के प्रदर्शन को त्रासदी भरा करार देते हुए माकपा महासचिव सीताराम येचुरी ने कहा कि केंद्र की राजग सरकार संसदीय प्रक्रियाओं की अनदेखी करने के लिए बेहतर जानी जाएगी।

येचुरी ने कहा, ‘‘हम एक साल पहले भाजपा के सत्ता में आने के बाद से बेहद खतरनाक और तबाह करने वाली प्रवृत्ति उभरते देख रहे हैं। हम नव उदारवादी आर्थिक नीतियों, संसदीय प्रक्रियाओं की अनदेखी और सांप्रदायिक शक्तियों के उभार की तीन तरफा समस्या का सामना कर रहे हैं।’’ वह यहां एक ‘आदिवासी’ रैली को संबोधित करने के बाद संवाददाताओं से बातचीत कर रहे थे।

मोदी पर निशाना साधते हुए येचुरी ने कहा कि उनकी सरकार ने एक ही रिकॉर्ड स्थापित किया है और वह है अप्रत्याशित संख्या में विदेश यात्रा पर जाना। गौरतलब है कि मोदी ने एक साल में 18 देशों की यात्रा की है।

विभिन्न क्षेत्रों में वृद्धि हासिल करने के भाजपा के दावे पर सवाल खड़े करते हुए माकपा नेता ने कहा, ‘‘क्या महंगाई कम हुई जैसा वादा किया गया था। सच्चाई यह है कि जोतायी के कुल रकबे में कमी आई है। इन सबके बावजूद हमारे प्रधानमंत्री हैं जिनकी विदेश में विपक्ष को अपमानित करने में दिलचस्पी है।’’

HOT DEALS
  • Apple iPhone 6 32 GB Space Grey
    ₹ 24990 MRP ₹ 30780 -19%
    ₹3750 Cashback
  • Apple iPhone SE 32 GB Gold
    ₹ 20099 MRP ₹ 26000 -23%
    ₹0 Cashback

येचुरी ने कहा कि सरकार ने राज्यसभा की अनदेखी का नया तरीका ढूंढ निकाला है, जहां यह अल्पमत में है। वह ज्यादातर विधायी कदमों को ‘धन विधेयक’ घोषित कर रही है। उन्होंने पूछा, ‘‘अब ज्यादातर विधेयक जिन्हें राज्यसभा में अवरुद्ध किया जा सकता है उन्हें धन विधेयक घोषित किया जा रहा है। अगर आप इन विधेयकों को उच्च सदन और संसदीय समिति के पास नहीं भेज सकते तो राज्यसभा सदस्यों के पास क्या काम बचेगा।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App