ताज़ा खबर
 

कोरोना से रोज 20-22 मौतें हो रहीं, पर डेटा नहीं दिया जा रहा- पत्रकारों ने पूछा; बोले हरियाणा CM- आंकड़ों से खेलना नहीं है, मृत हमारे शोर मचाने से जीवित तो नहीं हो जाएगा

सीएम से पत्रकारों ने सवाल पूछा था कि रोजाना 20-22 मौतें हो रही हैं, पर डेटा नहीं दिया जा रहा है। सीएम का कहना था कि ये वैश्विक महामारी है। इसके बारे में किसी को नहीं पता था। जो हुआ अचानक हुआ। अब हमारा जोर लोगों की जान बचाने पर है।

HARYANA, CM ML KHATTAR, CORONA, COVID DEATH, HARYANA GOVERNMENTहरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर (फोटो सोर्सः ट्विटर@cmoharyana)

हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने कहा है कि हमारा ध्येय लोगों को राहत पहुंचाना है। सरकार की कोशिश है कि ज्यादा से ज्यादा लोगों को बचाया जा सके। उनका कहना था कि मरा हुआ व्यक्ति हमारे शोर मचाने से जीवित तो नहीं हो जाएगा।

दरअसल, सीएम से पत्रकारों ने सवाल पूछा था कि रोजाना 20-22 मौतें हो रही हैं, पर डेटा नहीं दिया जा रहा है। सीएम का कहना था कि ये वैश्विक महामारी है। इसके बारे में किसी को नहीं पता था। जो हुआ अचानक हुआ। अब हमारा जोर लोगों की जान बचाने पर है। कैसे स्वास्थ्य सेवाएं दुरूस्त रहें और लोगों को राहत मिलती रहे। सरकार इसी दिशा में लगातार और शिद्दत से काम कर रही है।

हरियाणा में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है। सोमवार को प्रदेश में 11 हजार 504 लोग महामारी की चपेट में आए। बीते 24 घंटों के दौरान 75 मरीजों की मौत हो गई। इसके साथ ही प्रदेश में मृतकों की संख्या 3842 पहुंच गई है जिनमें 2540 पुरुष और 1301 महिलाएं हैं। इसके अलावा 1308 लोगों की हालत ङ्क्षचताजनक बनी हुई है जिनमें 1154 मरीज आक्सीजन तथा 154 लोग वेंटिलेटर पर हैं। प्रदेश में फिलहाल 79 हजार 466 एक्टिव केस हैं।

सरकार के रिकार्ड के अनुसार, बीते 24 घंटों के दौरान हिसार में नौ, गुरुग्राम और सिरसा में सात-सात, फतेहाबाद, फरीदाबाद और सोनीपत में छह-छह, अंबाला, रोहतक, भिवानी और जींद में चार-चार, करनाल, पानीपत व रेवाड़ी में तीन-तीन, कैथल, यमुनानगर, कुरुक्षेत्र, पंचकूला में दो-दो और नूंह में एक मरीज की मौत हुई है। जबकि सूत्र कहते हैं कि मरने वालों का आंकड़ा इससे कहीं ज्यादा है। दिल्ली की तरह हरियाणा सरकार इसे छिपा रही है।

उधर, हरियाणा में भी हेल्थ सिस्टम लाचार साबित हो रहा है। सरकार ने संक्रमण की रफ्तार को रोकने के लिए शाम 6 बजे के बाद दुकानें खोलने पर पाबंदी लगा दी है। केवल आवश्यक की श्रेणी की दुकानों को खोलने की अनुमति दी गई है। लेकिन मरीजों की रफ्तार में तेजी से वृद्धि हो रही है। हालांकि, सूबे के गृह मंत्री अनिल विज पल्ला झाड़कर कहते हैं कि दिल्ली से लगते जिलों में ही कोरोना के मरीज ज्यादा हैं। लेकिन तस्वीर का दूसरा पहलू डराने वाला है। संक्रमण का दायरा गांवों तक जा पहुंचा है।

Next Stories
1 हिंदुओं की हत्या पर कभी भगवाधारी योगी ने दिया था उकसाने वाले बयान, सफाई में कहा था- शास्त्र के साथ शस्त्र का मिला है प्रशिक्षण, हाथ में माला के साथ भाला भी है
2 रिटायरमेंट के 7 महीने बाद तक SC के पूर्व जज अरुण मिश्रा ने खाली नहीं किया सरकारी बंगला; कभी नरेंद्र मोदी को बताया था- ‘ग्लोबल सोचने’ वाला
3 Hanuman Jayanti पर PM मोदी ने कहा- कोरोना के खिलाफ मिलता रहे बजरंगबली का आशीर्वाद, लोग बोले- धर्म भी हमें नहीं बचा पा रहा है
ये पढ़ा क्या?
X