ताज़ा खबर
 

शमशान में नहीं मिल रही जगह, ऐंकर बोले, कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा- दीदी…दीदी चिल्ला रहे मोदी, मंत्री चिल्ला रहे योगी…योगी

वैक्सीन की कमी के मुद्दे पर भाजपा प्रवक्ता घुमाने लगे बात, तो एंकर बोले- क्या इंतजार कर रहे थे कि जब कोई बोलेगा तब हम ऐसा करेंगे।

Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र नई दिल्ली | Updated: April 14, 2021 3:23 PM
एंकर रोहित सरदाना और भाजपा प्रवक्ता जफर इस्लाम।

भारत में कोरोनावायरस के बढ़ते केसों के साथ ही देश में वैक्सीन की कमी और खराब स्वास्थ्य व्यवस्था का मुद्दा फिर सिर उठाने लगा है। विपक्षी कांग्रेस पार्टी लगातार भाजपा पर हमलावर रुख अपनाए हुए है। वैक्सीन की कमी पर हाल ही में राहुल गांधी ने सरकार को सुझाव दिया था कि वह विदेशी वैक्सीनों को भी मंजूरी दे। पहले राहुल के सुझाव का विरोध करने के बाद आखिरकार एक्सपर्ट पैनल ने सरकार को विदेशी टीकों को मंजूरी देने का सुझाव दिया है। हालांकि, इस पर एक टीवी डिबेट के दौरान कांग्रेस प्रवक्ता के साथ एंकर रोहित सरदाना ने ही भाजपा पर हमला बोल दिया और सरकार की वैक्सीनों को मंजूरी देने की इस देरी पर सवाल उठा दिए।

वैक्सीन की कमी पर भाजपा प्रवक्ता से सवाल: देश में वैक्सीन की कमी के मुद्दे पर रोहित सरदाना ने भाजपा प्रवक्ता जफर इस्लाम से पूछा- “परसों राहुल गांधी ने जब कहा कि वैक्सीन दुनियाभर के मुल्कों में जो मिल रही है, उसे क्यों नहीं मंगाया गया, तो आपकी तरफ से मंत्रीजी आए और कहा कि ये कमीशन खाना चाहते हैं। दो दिन बाद ही ये खुद ही सबके लिए दरवाजे खोलने लगे। ये पहले क्यों नहीं हुआ?”

कांग्रेस प्रवक्ता ने साधा निशाना: इस पर पहले तो कांग्रेस प्रवक्ता अभय दुबे ने सरकार पर हमला बोला। उन्होंने कहा, “इस देश की जनता के साथ भाजपा सरकार ने इतना बड़ा षड़यंत्र किया है। पहले तो मैंने आग्रह किया है कि प्रधानमंत्री जी आप पश्चिम बंगाल चुनाव में हैं। रोज दीदी-दीदी चिल्ला रहे हैं। योगीजी भी वहीं लगे हैं। एक बार उनको पुकार लीजिए, उनका ही मंत्री सवाल उठा रहा है संसाधनों पर योगी-योगी।”

भाजपा प्रवक्ता ने पलटी मारी, तो एंकर ने घेरा:  भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि मंजूरी मिलने की भी एक प्रक्रिया है। हालांकि, इस पर एंकर ने पूछा कि क्या दो दिनों में प्रॉसेस पूरा हो गया, जब विपक्ष ने सवाल उठाना शुरू किया या इंतजार कर रहे थे कि जब कोई बोलेगा तब हम करेंगे, तो भाजपा प्रवक्ता ने अचानक ही मुद्दे को राहुल गांधी और कांग्रेस पार्टी की कमियों पर मोड़ दिया। हालांकि, इसके बाद भी एंकर भाजपा को बख्शने के मूड में बिल्कुल नहीं दिखे।

रोहित सरदाना ने आगे कहा, “मसला मुझे आश्वासन देने का नहीं है। मसला उस गरीब आदमी को अस्पताल में पलंग देने का है, जो अस्पताल के बाहर खड़ा है। उसे अस्पताल में एंट्री नहीं मिल रही, क्योंकि डॉक्टर कह रहे कि हमारे पास जगह नहीं है। मसला उस आदमी को शमशान घाट में अपने परिवार के व्यक्ति के दहन के लिए स्थान दिलाने का है, जिसे सुबह से शाम तक इंतजार करना पड़ रहा है लेकिन उसे जगह नहीं मिल रही है।”

Next Stories
1 जब ऐंकर ने कहा लाला रामदेव, जवाब मिला, आप हैं, मैं नहीं अरबपति, ज़मीन जायदाद भी नहीं
2 संविधान सभा के अंतिम भाषण में बाबा साहेब आंबेडकर ने जताई थी चिंता, उठाए थे कई सवाल
3 कोरोना वैक्सीन का टोटा: असम में दूसरा डोज लेने गए लोगों को भी लौटाया, ओड़िशा के 1500 में से 1000 टीका केंद्र बंद
ये पढ़ा क्या?
X