ताज़ा खबर
 

केंद्र ने उन वादों को तोड़ दिया जिसके तहत कश्मीर का भारत में विलय हुआ था: उमर अब्दुल्ला

उमर अब्दुल्ला ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के घाटी में शांति लाने के लिए उठाए गए किसी भी कदम से शांति आएगी।

Author नई दिल्ली | Updated: July 24, 2016 1:09 AM
Omar Abdullah, PM narendra Modi, Kashmir Unrest, Omar Abdullah Twwets, Omar Abdullah News, Omar Abdullah latest news, Kashmir Burhan Waniजम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। (फाइल फ़ोटो)

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने शनिवार (23 जुलाई) को कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के घाटी में शांति लाने के लिए उठाए गए किसी भी कदम से शांति आएगी लेकिन अगर कदम नहीं उठाए गए तो इसका समाधान करना कठिन हो जाएगा। उन्होंने पूर्व गृह मंत्री पी. चिदंबरम के विचार से सहमति जताई कि केंद्र ने उन मुद्दों पर वादों को तोड़ दिया जिसके तहत कश्मीर का भारत में विलय हुआ था। उन्होंने कहा कि वे ‘जम्मू-कश्मीर के लोगों के साथ ईमानदार नहीं रहे।’

इंडिया टुडे टीवी पर उन्होंने करण थापर से कहा, ‘इससे सहयोग मिलेगा। इससे निश्चित रूप से तनाव कम होगा लेकिन आज कुछ वर्ष पहले की तुलना में काफी संदेह है। क्योंकि इसका पालन नहीं हो रहा है, हर समय इस तरह की समस्या उठ खड़ी होती है, फिर इस पर लगाम लगाना कठिन हो जाता है।’ वे इस सवाल का जवाब दे रहे थे कि क्या प्रधानमंत्री द्वारा कोई बड़ी पहल घाटी में स्थिति को सामान्य करने में सहायक हो सकती है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 वायुसेना के लापता विमान का अब तक नहीं मिला कोई सुराग, तलाश जारी-चिंताएं बढ़ी
2 यूपी: कांग्रेस की बस यात्रा को शुरुआत में ही झटका, सीएम कैंडिडेट शीला की बिगड़ी तबीयत, बीच रास्‍ते से लौटीं
3 काबुल में अगवा की गई भारतीय महिला स्वदेश पहुंची, नरेंद्र मोदी-सुषमा स्वराज से की मुलाकात
ये पढ़ा क्या?
X