scorecardresearch

Rahul Gandhi: मेरे फोन की जासूसी हो रही थी, मुझे अधिकारियों ने बताया था- कैंब्रिज विश्वविद्यालय में छात्रों से बोले कांग्रेस सांसद राहुल गांधी

Rahul Gandhi At Cambridge: कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने कहा कि भारतीय लोकतंत्र पर हमला हो रहा है। हम लोकतंत्र पर हमले का बचाव करने की कोशिश कर रहे हैं।

Rahul Gandhi | rahul speech in cambridge | Rahul Gandhi News
Rahul Gandhi कैंब्रिज यूनिवर्सिटी में संबोधन देते हुए (फ़ोटो सोर्स: @INCIndia)

Rahul Gandhi speech in Cambridge University: कांग्रेस सांसद राहुल गांधी (Congress MP Rahul Gandhi) लंदन दौरे पर हैंl उन्होंने शुक्रवार को कैंब्रिज विश्वविद्यालय में संबोधन दियाl अपने व्याख्यान के दौरान शुक्रवार को राहुल गांधी ने कहा कि लोकतंत्र के लिए जरूरी संस्थागत ढांचा बाधित होता जा रहा है और भारतीय लोकतंत्र के बुनियादी ढांचे पर हमला हो रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि सरकार उनकी जासूसी करने के लिए पेगासस का इस्तेमाल कर रही है।

राहुल गांधी, जो कैंब्रिज जज बिजनेस स्कूल (Cambridge JBS) के विजिटिंग फेलो हैं। उन्होंने ’21 वीं सदी में सुनने के लिए सीखना’ विषय पर विश्वविद्यालय में छात्रों को व्याख्यान दिया। कांग्रेस सांसद ने कहा, “भारतीय लोकतंत्र पर हमला हो रहा है। हम लोकतंत्र पर हमले का बचाव करने की कोशिश कर रहे हैं।”

राहुल गांधी ने विश्वविद्यालय के छात्रों से कहा, “मेरे फोन पर पेगासस था। बड़ी संख्या में राजनेताओं के फोन पर पेगासस था। मुझे फोन पर बात करते समय सावधान रहने के लिए कहा गया था।”

अपने व्याख्यान में राहुल गांधी ने सरकार पर मीडिया और न्यायपालिका को नियंत्रित करने, निगरानी करने, डराने-धमकाने, अल्पसंख्यकों, दलितों और आदिवासियों पर हमले करने का आरोप लगाया। राहुल गांधी ब्रिटेन के एक सप्ताह के दौरे पर हैं और कैंब्रिज यूनिवर्सिटी में बिग डेटा एंड डेमोक्रेसी और भारत-चीन संबंधों (India-China relations) पर बंद कमरे में कुछ सत्र में हिस्सा लेने वाले हैं।

बता दें कि राहुल गांधी इंडियन ओवरसीज कांग्रेस (IOC) यूके चैप्टर के प्रतिनिधियों के साथ बातचीत करेंगे और लंदन में “भारतीय प्रवासी सम्मेलन” को भी संबोधित करेंगे।

राहुल गांधी से पूछा गया कि क्या आप नरेन्द्र मोदी की उन अच्छी नीतियों के बारे में बता सकते हैं जो भारत के हित में हैं? इसके जवाब में राहुल ने कहा, “भारत राज्यों का संघ है भारत में धार्मिक विविधता है। भारत में सिख, मुस्लिम, ईसाई सभी हैं, लेकिन मोदी इन्हें दूसरे दर्जे का नागरिक समझते हैं। मैं इससे सहमत नहीं हूं। जब आपका विरोध इतना बुनियादी हो तो फ़र्क़ नहीं पड़ता कि आप किन दो, तीन नीतियों से सहमत हैं। हमने कन्याकुमारी से कश्मीर तक भारत जोड़ो यात्रा की। इस यात्रा के दौरान मुझे समझ आया कि मेरे पास का स्पेस सुरक्षित हो ताकि जो लोग यात्रा से जुड़ें वो सुरक्षित महसूस कर सकें।”

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 03-03-2023 at 10:05 IST
अपडेट