ताज़ा खबर
 

indian Airforce Day: शक्तिशाली लड़ाकू विमानों की पायलट बनेंगी बेटियां, आसमान में भरेंगी उड़ान

भारतीय वायुसेना अब महिलाओं को लड़ाकू विमानों की कमान सौंपने की योजना बना रही है। यह जानकारी वायुसेना प्रमुख अरूप राहा ने आज दी।

Author नई दिल्ली | October 8, 2015 1:00 PM

भारतीय वायुसेना अब महिलाओं को लड़ाकू विमानों की कमान सौंपने की योजना बना रही है। यह जानकारी वायुसेना प्रमुख अरूप राहा ने आज दी।

भारतीय वायुसेना की 83वीं वर्षगांठ के जश्न के अवसर पर एयर चीफ मार्शल राहा ने यहां कहा, हमारे यहां महिलाएं परिवहन विमान और हेलीकॉप्टरों को पहले से ही उड़ा रही हैं। अब भारत की युवा महिलाओं की महत्वाकांक्षाओं को पूरा करने के लिए हम उन्हें लड़ाकू विमान ईकाई में भी नियुक्त करने की योजना बना रहे हैं।

देश की तीनों सेवाओं में से भारतीय वायुसेना पहली सेवा है, जिसमें महिलाओं को लड़ाकू शाखा में शामिल करने की योजना बनाई जा रही है। इससे पहले ये सेवाएं महिलाओं को लड़ाकू भूमिका में लेने के विचार से सहमत नहीं थी।

फिलहाल भारतीय वायुसेना सात क्षेत्रों में महिलाओं को तैनात करती है। ये क्षेत्र हैं- प्रशासन, साजोसामान, मौसम विभाग, नेविगेशन, शिक्षा, एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग-मैकेनिकल और इलेक्ट्रिकल और अकाउंटस।

एयरफोर्स में इस समय लगभग 1500 महिलाएं तैनात हैं। इनमें से 94 पायलट हैं और 14 नेविगेटर हैं। यह कदम वैश्विक चलन के अनुरूप है और यह भारतीय वायुसेना के समक्ष चल रही लड़ाकू विमान शाखा में अधिकारियों की कमी की समस्या से उबरने में भी मदद करेगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वायुसेना को आज उसकी 83वीं वर्षगांठ पर शुभकामनाएं देते हुए कहा कि उसने अदम्य साहस के साथ भारत की सेवा की है और वह देश की वायुसीमा की सुरक्षा करने और आपदाओं के समय मदद करने में हमेशा अग्रणी रही है।

मोदी ने ट्वीट किया, मैं वायुसेना दिवस पर वायुसेना के हमारे जवानों को सलाम करता हूं। उन्होंने हमेशा अदम्य साहस एवं प्रतिबद्धता से देश की सेवा की है।

उन्होंने कहा, हमारी वायुसेना ने बहुत महत्वपूर्ण योगदान दिया है। वह हमेशा आगे रही है, फिर भले ही वह हमारी वायु सीमा की रक्षा का मामला हो या आपदाओं में मदद करने की बात हो।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App