ताज़ा खबर
 

सिपाही चंदू चव्‍हाण के भाई ने कहा- गांव में खुशी, अब दादी की अस्थियों का विसर्जन होगा

गलती से पाकिस्‍तानी सीमा में चले गए भारतीय सेना के जवान सिपाही चंदू चव्‍हाण वापस लौट आए हैं। वापस आने के बाद उनके परिवार में खुशी का माहौल है।

Author Published on: January 21, 2017 9:26 PM
सिपाही चंदू बाबूलाल च्वहाण के गांव के बाहर लगी एक सैनिक की मूर्ति। (Source: Express photo by Amit Chakravarty)

गलती से पाकिस्‍तानी सीमा में चले गए भारतीय सेना के जवान सिपाही चंदू चव्‍हाण वापस लौट आए हैं। वापस आने के बाद उनके परिवार में खुशी का माहौल है। चव्‍हाण के भाई भूषण ने कहा कि चंदू का गांव में स्वागत करने के लिए तैयारियां शुरू हो गई हैं और पटाखे छोड़े जा रहे हैं। अपने गांव बोरवीहिर से उन्होंने बताया, ‘‘चंदू को पाकिस्तान द्वारा पकड़ने की खबर सुनकर मेरी दादी का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया था। हमने निर्णय किया था कि चंदू के वापस लौटने तक दादी की अस्थियों का नदी में विसर्जन नहीं किया जाएगा। अब वह दिन आ गया है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे सुभाष भामरे (रक्षा राज्य मंत्री एवं स्थानीय सांसद) का फोन आया था और उन्होंने हमें चंदू की रिहाई के बारे में सूचना दी।’’ उन्होंने कहा कि वह रक्षा मंत्री और डीजीएमओ के सभी अधिकारियों के प्रति आभारी हैं जिन्होंने चंदू की रिहाई के लिए लगातार प्रयास किए। भूषण चव्हाण ने पाकिस्तान स्थित मानवाधिकार संगठनों को भी पत्र लिखकर अपने भाई की रिहाई में मदद का आग्रह किया था। उन्होंने कहा, ‘‘मैंने संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान के राजदूत को भी ट्वीट किया था और उनकी मदद मांगी थी।’’ वहीं चंदू के भारत लौटने के बाद उनका चिकित्सकीय परीक्षण किया गया।

चंदू की रिहाई के बारे में रक्षा राज्य मंत्री सुभाष भामरे ने कहा कि उनका मंत्रालय और डीजीएमओ जवान की रिहायी सुनिश्चित करने के लिए लगातार प्रयासरत थे ‘‘जो नियंत्रण रेखा गलती से पार करने के बाद पाकिस्तान की हिरासत में था। विदेश मंत्रालय भी इसमें शामिल था। सैनिक की रिहाई सुनिश्चित करने के लिए सभी प्रयास किये गए और परिणाम आज उसकी रिहायी के तौर पर आया।’’

पाकिस्तानी सेना ने दिन में इससे पहले एक बयान जारी करके भारतीय सैनिक को सौंपने की घोषणा की थी। उसने कहा कि सैनिक ने नियंत्रण रेखा के पार ‘‘अपने कमांडरों के खिलाफ कुछ शिकायतों’’ के चलते अपनी चौकी छोड़ दी थी और उसे ‘‘वापस स्वदेश लौटने के लिए राजी किया गया।’’ पाकिस्तानी सेना के मेजर जनरल आसिफ गफूर ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘पाकिस्तानी सेना भारतीय सैनिक को एक सद्भाव के तहत लौटा रही है।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 पीएम नरेंद्र मोदी के काम से खुश मौलाना आजाद के पोते, बोले- शब्‍द नहीं उनका काम बोल रहा है
2 सुषमा स्‍वराज मुसलमानों को वीजा देने में प्रायोरिटी देने के आरोप पर भड़कीं, कहा- सभी मेरे अपने हैं
3 वीडियो: बीजेपी विधायक की गाड़ी हटाने की सजा, पैर छूकर मांगनी पड़ी माफी
ये पढ़ा क्‍या!
X