लॉकडाउन में सिर्फ रामायण की नहीं बढ़ी टीआरपी, न्यूज चैनलों के व्यूअरशिप में भी 200% से ज्यादा की उछाल, वेबसाइट यूजर में भी इजाफा

गुरुवार को जारी BARC-Nielsen रिपोर्ट के चौथे एडिशन के आंकड़ों के अनुसार अगर इस साल जनवरी से तुलना करें तो चार अप्रैल से दस अप्रैल के बीच टीवी चैनलों के औसतन दर्शकों की संख्या में 219 फीसदी तक बढ़ोतरी देखी गई है।

देशभर में लागू लॉकडाउन के बीच न्यूज चैनलों की व्यूअरशिप में भारी बढ़ोतरी देखी गई है। रिपोर्ट के मुताबिक इस साल जनवरी से समाचार चैनलों के दर्शकों में 200 फीसदी से अधिक वृद्धि दर्ज की गई है। गुरुवार को जारी BARC-Nielsen रिपोर्ट के चौथे एडिशन के आंकड़ों के अनुसार अगर इस साल जनवरी से तुलना करें तो चार अप्रैल से दस अप्रैल के बीच टीवी चैनलों के औसतन दर्शकों की संख्या में 219 फीसदी तक बढ़ोतरी देखी गई है। आकंड़ों से यह भी पता चला है कि जनवरी की तुलना में पिछले कुछ हफ्तों में टेलीविजन की कुल व्यूअरशिप रिकॉर्ड 38 फीसदी बढ़कर 1.2 खरब (ट्रिलियन) मिनट हो गई है।

Coronavirus in India LIVE

व्यूअरशिप के आंकड़ों से पता चलता है कि इस सप्ताह बिजनेस समाचार सबसे अधिक देखे गए और इसमें 66 फीसदी तक की बढ़ोतरी दर्ज की गई। इसके अलावा फिल्मों के दर्शकों में भी 73 फीसदी की बढ़ोतरी देखी गई। डेटा में यह भी पता चलता है कि प्रीमियम दर्शकों के बीच न्यूज ऐप्स में 83 फीसदी की वृद्धि हुई है। इसके अलावा समाचार वेबसाइटों के यूजर्स में प्रति सप्ताह 28 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। इसके अलावा कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन विस्तार पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संबोधन चार अरब मिनट देखा गया।

कोरोना वायरस से जुड़ी अन्य जानकारी के लिए इन लिंक्स पर क्लिक करें | गृह मंत्रालय ने जारी की डिटेल गाइडलाइंस | क्या पालतू कुत्ता-बिल्ली से भी फैल सकता है कोरोना वायरस? | घर बैठे इस तरह बनाएं फेस मास्क | इन वेबसाइट और ऐप्स से पाएं कोरोना वायरस के सटीक आंकड़ों की जानकारी, दुनिया और भारत के हर राज्य की मिलेगी डिटेलक्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस?

BARC-Nielsen के गुरुवार को जारी आंकड़ों से पता चलता है कि दूरदर्शन राष्ट्रीय स्तर पर सबसे ज्यादा देखा जाने वाला चैनल बना रहा। पिछले सप्ताह भी चैनल नंबर वन था। उसके बाद सन टीवी और दंगल टीवी का नंबर था। चौथे एडिशन की रिपोर्ट के मुताबिक रामायण का दोहराव सभी हिंदी जीईसी शो में सबसे अधिक 73 फीसदी और 83 फीसदी साप्ताहिक दोहराव रहा। रिपोर्ट में यह भी बताया गया कि 22 फीसदी बच्चे अपने दादा-दादी और घर के वरिष्ठ नागरिकों के साथ रामायण देख रहे हैं।

Next Stories
1 ‘नरेंद्र मोदी सरकार हेलीकॉप्टर से गिराएगी पैसे’, शो दिखाने पर टीवी चैनल को I&B मिनिस्ट्री ने थमाया शोकॉज नोटिस
2 ‘तबलीग के लिए मुसलमान जिम्मेदार तो इनके लिए कौन?’ धार्मिक समारोह की तस्वीर शेयर कर बोले आशुतोष, लोग कर रहे ट्रोल
3 India Coronavirus: राष्ट्रीय औसत से ज्यादा है महाराष्ट्र में कोरोना पॉजिटिव की संख्या, टेस्ट में 5 फीसदी मिले संक्रमित, 75% में लक्षण भी नहीं दिखे
यह पढ़ा क्या?
X