ताज़ा खबर
 

बारिश, बर्फबारी व कोहरे की चपेट में उत्तर भारत, अगले दो-तीन दिन में दिल्ली सहित आसपास के सभी राज्यों में हल्की बारिश के आसार

हिमाचल प्रदेश के केलांग में तापमान शून्य से नीचे 7.3 डिग्री सेल्सियस रहा। पहाड़ों में तापमान अभी भी शून्य से कई डिग्री नीचे चल रहा है। श्रीनगर में पारा -5.9 डिग्री, काजीगुंड में -6.1, पहलगांव में -8.4, गुलमर्ग -7.5, करगिल में -20.4, लेह में -15.6 और नुब्रा में -18 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

Author नई दिल्ली | Updated: January 3, 2021 3:43 AM
Weatherराष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में शनिवार सुबह हल्की बारिश हुई।

उत्तर भारत में चल रही शीतलहर के बीच शनिवार को अधिकतर भागों में हल्की बारिश और बर्फबारी दर्ज की गई। पंजाब और हरियाणा में शनिवार को भी मौसम सर्द बना रहा। हरियाणा के हिसार में तापमान गिरकर दो डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया। दोनों ही राज्यों के कई हिस्सों में शुक्रवार की रात भारी बारिश हुई।

वहीं, हिमाचल प्रदेश के केलांग में तापमान शून्य से नीचे 7.3 डिग्री सेल्सियस रहा। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के हिस्सों में शनिवार सुबह हल्की बारिश हुई जबकि बादल छाए रहने के चलते न्यूनतम तापमान बढ़कर सात डिग्री सेल्सियस हो गया। उधर, पहाड़ों में तापमान अभी भी शून्य से कई डिग्री नीचे चल रहा है। दिल्ली, हरियाणा, पंजाब, हिमाचल सहित अन्य इलाकों में आगे भी बारिश के आसार हैं। दिल्ली के सफदरजंग में मध्यम स्तर के कोहरे के चलते दृश्यता घटकर 201 मीटर रह गई।

यह जानकारी भारत मौसम विज्ञान विभाग (आइएमडी) ने दी। विभाग ने कहा कि हमारे पूर्वानुमान के अनुसार, पश्चिमी विक्षोभ का असर दिल्ली सहित उत्तर-पश्चिम भारत पर शुरू हो गया है। पालम में 0.4 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई है। रिज, आयानगर और लोधी रोड में बूंदाबांदी हुई है। पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव के चलते दिल्ली में अगले दो से तीन दिनों में न्यूनतम तापमान बढ़कर 9 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचने की संभावना है। शुक्रवार को, पारा गिरकर 1.1 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया था, जो जनवरी में 15 साल में सबसे कम था और बहुत घने कोहरे के चलते दृश्यता शून्य मीटर तक हो गई थी। आइएमडी ने कहा कि पिछले साल जनवरी में सबसे कम न्यूनतम तापमान 2.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था।

आइएमडी के क्षेत्रीय पूर्वानुमान केंद्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने कहा कि न्यूनतम तापमान तीव्र पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव में बढ़ने लगा है, जो छह जनवरी तक उत्तर पश्चिम भारत को प्रभावित करेगा। उन्होंने कहा कि अगले दो से तीन दिनों के दौरान दिल्ली सहित आस-पास के सभी राज्यों में हल्की बारिश हो सकती है।

वहीं उत्तर प्रदेश के अनेक इलाके पिछले 24 घंटों के दौरान जबरदस्त ठंड और शीतलहर की चपेट में रहे। आंचलिक मौसम केंद्र की रिपोर्ट के मुताबिक पिछले 24 घंटों में प्रदेश के अलग-अलग क्षेत्रों में जबर्दस्त शीतलहर चली और कई क्षेत्र घने कोहरे के प्रभाव में रहे। प्रदेश की राजधानी लखनऊ में न्­यूनतम तापमान 6.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जबकि इलाहाबाद में न्यूनतम तापमान 9.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। इसके अलावा सुल्तानपुर में 5.2, बांदा में 5.0, बाराबंकी में 4.0 और मुजफ्फरनगर में न्यूनतम तापमान 3.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। राज्य में बरेली सबसे ठंडा स्थान रहा, जहां पारा 3.7 डिग्री सेल्सियस तक गिर गया। पूर्वी उत्तर प्रदेश में तीन जनवरी तक अलग-अलग स्­थानों पर बिजली और गरज के साथ बारिश की संभावना है जबकि चार और पांच जनवरी को बारिश के आसार हैं।

चंडीगढ़ में 0.6 मिलीमीटर, अंबाला में दो मिलीमीटर, करनाल में 2.8 मिलीमीटर, सिरसा में 0.6 मिलीमीटर, लुधियाना में 0.4 मिलीमीटर, पटियाला में 0.4 मिलीमीटर और हलवाड़ा में पांच मिलीमीटर बरसात हुई। मौसम विभाग ने बताया कि हिसार में तापमान सामान्य से पांच डिग्री नीचे गिरकर दो डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। पंजाब के अमृतसर में तापमान सामान्य से एक डिग्री कम 2.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वहीं, चंडीगढ़ में तापमान सामान्य से एक डिग्री अधिक 6.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

श्रीनगर में पारा -5.9 डिग्री, काजीगुंड में -6.1, पहलगांव में -8.4, गुलमर्ग -7.5, करगिल में -20.4, लेह में -15.6 और नुब्रा में -18 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। उत्तर भारत के पूरे मैदानी इलाके कोहरे की चपेट में रहे। पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, राजस्थान व उत्तराखंड में कोहरे की परत छाई रही।

Next Stories
1 अग्रिम मोर्चे के तीन करोड़ कर्मियों को मुफ्त टीका, दिल्ली में पूर्वाभ्यास के दौरान केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन का एलान
2 काले कानूनों की आड़ में 22 किसानों की करोड़ों की उपज हड़प ली, पात्रा से ‘जीरो’ पूछने वाले गौरव वल्लभ का दावा
3 बीजेपी सांसद ने कहा- बेहतर ट्रायल के बावजूद देसी वैक्सीन से पहले विदेशी को दी मंज़ूरी, पीएमओ में भ्रष्ट अफ़सरों की भरमार
ये पढ़ा क्या?
X