ताज़ा खबर
 

उत्तर भारत शीत लहर की चपेट में, स्कूल बंद, रेल ट्रैफिक हुआ प्रभावित नए साल पर दिल्ली में हो सकती है बारिश

मौसम विभाग ने कहा कि उम्मीद के अनुसार उत्तर-पश्चिम से पश्चिम की ओर हवा का रुख होना शुरू हो गया है और रविवार से सर्द दिनों तथा शीत लहर में कमी शुरू हो गयी है।

Author Edited By Anil Kumar नई दिल्ली | Published on: December 29, 2019 10:05 PM

उत्तर भारत में रविवार को भी ठंड का प्रकोप बना रहा। पूरा उत्तर भारत शीत लहर की चपेट में है। कड़ाके की ठंड को देखते हुए हरियाणा में अधिकारियों ने स्कूल बंद करने का फैसला किया। घने कोहरे की वजह से ट्रेनों के परिचालन पर असर पड़ा है। श्रीनगर में इस मौसम की सबसे सर्द रात रही वहीं जयपुर में पिछले करीब पांच दशक में सबसे न्यूनतम तापमान दर्ज किया गया।

हालांकि पिछले 22 साल में सबसे अधिक सर्द दिनों का दीदार करने वाली दिल्ली को सोमवार को हवाओं की दिशा में बदलाव के बाद से शीत लहर से राहत मिलने के आसार हैं। मौसम विभाग ने कहा कि उम्मीद के अनुसार उत्तर-पश्चिम से पश्चिम की ओर हवा का रुख होना शुरू हो गया है और आज से सर्द दिनों तथा शीत लहर में कमी शुरू हो गयी है।

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में 14 दिसंबर से कड़कड़ाती ठंड का प्रकोप जारी था और रविवार को सुबह शहर का न्यूनतम तापमान 3.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो साल के इस समय के सामान्य तापमान से चार डिग्री सेल्सियस कम है। दिल्ली के आयानगर में 2.5 डिग्री सेल्सियस, लोधी रोड में 2.8 डिग्री सेल्सियस, पालम में 3.2 डिग्री सेल्सियस और सफदरजंग में 3.6 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया।
1901 के बाद हो सकता है दूसरा सबसे ठंडा दिसंबर: मौसम विभाग के अनुसार इस साल दिसंबर में रविवार तक का औसत तापमान 19.07 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया और यह 1901 के बाद दूसरा सबसे ठंडा दिसंबर हो सकता है। इससे पहले दिसंबर 1997 में औसत तापमान 17.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था।

मौसम विज्ञानियों ने सोमवार को सुबह घने कोहरे का पूर्वानुमान व्यक्त किया है। मौसम विभाग के अनुसार दिल्ली-राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में एक जनवरी से तीन जनवरी तक रात में हल्की बारिश की संभावना है और दो जनवरी को ओले भी पड़ सकते हैं।

13 घंटे देरी से चली ट्रेनें: कोहरे के कारण राजधानी में जहां 13 ट्रेनें छह घंटे से अधिक की देरी से चलीं, वहीं दिल्ली हवाई अड्डे पर परिचालन सामान्य रहा और किसी उड़ान को रद्द नहीं किया गया या उसका मार्ग नहीं बदलना पड़ा। एक सरकारी बयान के अनुसार हरियाणा में कुछ स्थानों पर तापमान शून्य डिग्री सेल्सियस के आसपास है और राज्य सरकार ने 30 तथा 31 दिसंबर को स्कूल बंद रखने का फैसला किया है। इसमें कहा गया कि एक जनवरी से 15 जनवरी के बीच राज्य के सभी स्कूल र्सिदयों की छुट्टियों के चलते बंद रहेंगे।’’

श्रीनगर में तापमान में गिरावट का सिलसिला जारी है। मशहूर डल झील के कई हिस्से बर्फ में तब्दील हो गए और रात में श्रीनगर का तापमान शून्य से 6.2 डिग्री सेल्सियस नीचे चला गया। मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि लद्दाख के लेह शहर में तापमान शून्य से 19 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया, जबकि द्रास शहर में तापमान शून्य से 28.7 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया।

हिमाचल प्रदेश में भी नये साल की पूर्वसंध्या पर बर्फबारी हो सकती है। मनाली, सोलन, सुंदरनगर और कालपा में तापमान शून्य डिग्री सेल्सियस से नीचे दर्ज किया गया। राजस्थान के कई हिस्सों में कड़ाके की सर्दी और शीतलहर के कारण आम जनजीवन प्रभावित हो गया है। राज्य के एकमात्र पर्वतीय पर्यटक स्थल माउंट आबू में रविवार को इस मौसम का सबसे कम तापमान रहा। यहां न्यूनतम तापमान शून्य से तीन डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया।

Next Stories
1 भारत 2026 तक बन जाएगा 5 ट्रिलियन डॉलर की इकॉनोमी: रिपोर्ट
2 CAA, NRC के विरोध में रंगोली बनाना पड़ा भारी, एक महिला को आधा दर्जन पुलिसकर्मियों ने घेरा, वायरल हो रहा वीडियो
3 झारखंड में खराब प्रदर्शन के बाद बिहार में भाजपा पर दबाव, प्रशांत किशोर बोले- बिहार विधानसभा चुनाव में जदयू को मिलें 50 फीसदी से अधिक सीटें
ये पढ़ा क्या?
X