ताज़ा खबर
 

कोरोना, लॉकडाउन डाल रहा था Delhi Riots जांच में खलल! अमित शाह के मंत्रालय का हस्तक्षेप, 800 गिरफ्तार

पुलिस चीफ एसएन श्रीवास्तव ने उन्हें हालात से रूबरू कराया था। गृह मंत्रालय ने उसी दौरान साफ कहा था कि स्थिति कैसी भी हो, पर पुलिस ये गिरफ्तारियां जारी रखे।” इस बारे में सभी जांच टीमों को संदेश भी दिया गया कि वे जांच और अरेस्ट करने की कार्रवाई जारी रखें।

Delhi Riots: ये सांप्रदायिक हिंसा उत्तर पूर्वी दिल्ली में हुई थी। (फाइल फोटो)

दिल्ली के उत्तर पूर्वी हिस्से में सांप्रदायिक हिंसा मामले में गृह मंत्रालय के हस्तक्षेप के बाद 800 लोग गिरफ्तार किए गए हैं। दरअसल, अमित शाह के मंत्रालय ने पुलिस से यह सुनिश्चित करने को कहा था कि कोरोना संकट और लॉकडाउन के चलते केस की जांच धीमी नहीं पड़नी चाहिए। मंत्रालय का यह निर्देश तब आया, जब क्राइम ब्रांच की कुछ टीमों ने घर से ही काम करना शुरू कर दिया था और वहीं उन्होंने जांच के दौरान कैंप ऑफिस बना लिया था। चूंकि, वे लोग उत्तर पूर्वी जिला नहीं जाते थे, लिहाजा गिरफ्तारी की संख्या भी धीमी पड़ गई थी।

एक सूत्र के मुताबिक, “दो हफ्ते पहले ही हालात बदल गए थे। उस दौरान गृह मंत्रालय के सीनियर अधिकारियों द्वारा बैठक बुलाई गई थी, जिसमें दिल्ली पुलिस की ओर से की जाने वाली लॉकडाउन को लेकर तैयारियों पर चर्चा हुई थी। मीटिंग में उन लोगों से दिल्ली दंगों की जांच के सिलसिले में भी पूछा गया था। पुलिस चीफ एसएन श्रीवास्तव ने उन्हें हालात से रूबरू कराया था। गृह मंत्रालय ने उसी दौरान साफ कहा था कि स्थिति कैसी भी हो, पर पुलिस ये गिरफ्तारियां जारी रखे।” इस बारे में सभी जांच टीमों को संदेश भी दिया गया कि वे जांच और अरेस्ट करने की कार्रवाई जारी रखें।

India Lockdown Extension LIVE Updates

खबर लिखे जाने तक 802 लोग गिरफ्तार किए जा चुके थे। क्राइम ब्रांच मौजूदा समय में 42 हत्या के मामलों की जांच कर रही है और उसने अब तक 182 लोग अरेस्ट किए हैं, जबकि उत्तर पूर्वी दिल्ली पुलिस ने दंगों से जुड़ी 620 गिरफ्तारियां की हैं। इनमें 182 अरेस्ट किए गए हैं, जबकि 50 लॉकडाउन के दौरान दबोचे गए हैं।

COVID-19 in India State LIVE News

गुरुवार को भी दयालपुर में हिंसा से जुड़े हत्या के मामलों की जांच करने वाली एक टीम संदिग्ध के घर पहुंची, पर कुछ ही मिनटो बाद अधिकारियों को वहां से खुद को सैनिटाइज करते हुए निकलना पड़ा, क्योंकि संदिग्ध के पिता को तेज बुखार और कफ की समस्या थी। बता दें कि ये चीजें कोरोना के लक्षणों में गिनी जाती हैं।

Coronavirus in India LIVE Updates

एक अधिकारी के मुताबिक, “उन्हें (जांच टीम) टेंप्रेचर मापने वाली गन लेकर जाने के लिए कहा जाता है। संदिग्धों की पहचान के बाद टीम उन्हें मास्क और सैनिटाइजर मुहैया कराती है। वे मजिस्ट्रेट के सामने आरोपी को ले जाने से पहले उनका स्क्रीनिंग टेस्ट करते हैं।”

Covid-19 World LIVE News

गिरफ्तारियों पर पुलिस सूत्रों ने बताया- पहले तीन चार मर्डर केस को लेकर एफआईआर दी गई थी। अब हर केस के लिए अलग से एफआईआर आ रही है। क्राइम ब्रांच ने भी यूपी के संभल से दो लोगों को अरेस्ट किया है और इन लोगों का कनेक्शन आईबी कर्मचारी अंकित शर्मा की हत्या के मामले से जुड़ा है।

Coronavirus से जुड़ी जानकारी के लिए यहां क्लिक करें: कोरोना वायरस से बचना है तो इन 5 फूड्स से तुरंत कर लें तौबा | जानिये- किसे मास्क लगाने की जरूरत नहीं और किसे लगाना ही चाहिए |इन तरीकों से संक्रमण से बचाएं | क्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस?

Next Stories
1 कोरोना वायरस संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर 10 हजार के पार, मृतकों की संख्या 358 हुई
2 Coronavirus संकटः लॉकडाउन हटाना नहीं है आसान, जिन जिलों में थे 10 केस, वहां आंकड़ा पहुंचा 200 पार; 100 से अधिक वाले जिलों में केस दोगुने
3 कोरोना से बचाव के लिए तुरंत शुरू हो बीसीजी टीकाकरण
ये  पढ़ा क्या?
X