ताज़ा खबर
 

खादी उद्योग के कैलेंडर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर पर बीजेपी बोली-कोई नहीं ले सकता बापू की जगह

इस कदम से क्षुब्‍ध KVIC कर्मचारियों ने गुरुवार को विले-पार्ले मुख्‍यालय में शांतिपूर्वक प्रदर्शन करने का फैसला किया।
पीएम मोदी की इसी तस्वीर पर बवाल मचा है।

खादी ग्राम उद्योग आयोग (KVIC) द्वारा साल 2017 के लिए प्रकाशित कैलेंडर और टेबल डायरी से इस बार राष्‍ट्रपिता महात्‍मा गांधी के गायब रहने पर लोगों का गुस्सा साफ दिखा। खुद केवीआईसी के कर्मचारी भी यह कैलेंडर देखकर हैरान रह गए। वहीं बीजेपी सरकार ने शुक्रवार (13 जनवरी) को इस बारे में सफाई देते हुए कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जगह कोई नहीं ले सकता। केंद्रीय मंत्री कलराज मिश्र ने कहा कि मैंने अब तक कैलेंडर नहीं देखा है उन्होंने कहा कि कैलेंडर पूरे 12 महीने का है और सिर्फ एक ही पेज पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का फोटो है। मिश्र ने कहा कि इसका मतलब यह नहीं है कि मोदी ने बापू की जगह ले ली है। वहीं खादी ग्राम उद्योग आयोग ने कहा कि एेसा कोई नियम नहीं है कि कैलेंडर पर बापू की तस्वीर होनी ही चाहिए। मोदी की यह तस्‍वीर गांधी के सूत कातने वाले क्‍लासिक पोज में है। जहां एक साधारण से चरखे पर अपने ट्रेडमार्क पहनावे में खादी बुनते गांधी की ऐतिहासिक तस्‍वीर थी, वहां अब कुर्ता-पायजामा-वेस्‍टकोट पहने मोदी नया चरखा चलाते दिखते हैं।

आपको बता दें कि इस कदम से क्षुब्‍ध KVIC कर्मचारियों ने गुरुवार को विले-पार्ले मुख्‍यालय में शांतिपूर्वक प्रदर्शन करने का फैसला किया और भोजनावकाश के समय मुंह पर काली पट्टी बांधी। इस संबध में जब KVIC चेयरमैन विनय कुमार से पूछा गया तो उन्‍होंने कहा कि यह ‘असामान्‍य’ नहीं है और पूर्व में भी ऐसा होता रहा है। वहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इस तस्वीर पर पीएम की आलोचना करते हुए कहा कि गांधी बनने के लिए वर्षों की तपस्या चाहिए। सिर्फ चरखा चलाने की एक्टिंग कर ही कोई गांधी नहीं बन जाता।

सक्‍सेना ने आईएएनएस से बातचीत में कहा, ”पूरा खादी उद्योग की गांधीजी के दर्शन, विचारों और आदर्शों पर टिका हुआ है, वह KVIC की आत्‍मा हैं। इसलिए उन्‍हें नजरअंदाज करने का सवाल ही नहीं है।” उन्‍होंने कहा कि मोदी लंबे समय से खादी पहनते रहे हैं और उन्‍होंने इसे देश में और विदेशी हस्तियों के बीच लोकप्रिय बनाया है, वह खादी के इर्द-गिर्द अपना स्‍टाइल गढ़ते रहे हैं। सक्‍सेना ने कहा, ”दरअसल, वह (मोदी) खादी के सबसे बड़े दूत हैं और उनका विजन KVIC से मिलता है, गांवों को आत्‍मनिर्भर बनाकर ‘मेक इन इंडिया’ का। ग्रामीण जनता के बीच रोजगार सृजित कर ‘स्किल डेवलपमेंट’ का, खादी के बुनने, मार्केटिंग के लिए आधुनिक तकनीक लाना, इसके अलावा पीएम यूथ आइकन हैं।”

 

खादी ग्राम उद्योग के कैलेंडर में महात्मा गांधी की जगह पीएम मोदी की तस्वीर; केजरीवाल और तुषार गांधी ने किया विरोध, देखें वीडियो ः

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. अनंत
    Jan 13, 2017 at 12:39 pm
    यह देश के अन्य नेतागन मान्य के लिए एक आदर्श है की जब स्वयं प्रधानमंत्री गाँधी को इज्जत देते है और उनकी बातो का अनुसरण करते है. तो बाकि नेतागण को भी इनका अनुसरण करना चाहिए.
    (0)(1)
    Reply
    1. B
      bitterhoney
      Jan 13, 2017 at 11:29 am
      नरभक्षी गाँधी बनने के सपने देख रहा है.
      (0)(0)
      Reply
      1. S
        sach
        Jan 14, 2017 at 4:08 am
        इसे इज्जत देना कहते हैं...? या सेल्फी ए्शन?
        (0)(0)
        Reply
        1. S
          sach
          Jan 14, 2017 at 3:52 am
          जब नोटबंदी कर सकते हैं तो गांधी जी की फोटोबंदी कौन सी बड़ी बात है?
          (0)(0)
          Reply
          1. S
            sach
            Jan 14, 2017 at 3:54 am
            जाइये भाई साहब यूट्यूब पर "अच्छे दिन" का गाना सुनिए... पर ध्यान रखियेगा ...गलती से बाबू बजरंगी के विडियो पर मत पहुँच जाइएगा...
            (0)(0)
            Reply
            1. L
              Lakhan
              Jan 13, 2017 at 12:47 pm
              Jaise beta bap ki jagah lekar khandan ki Nam roshan karta hai . samaj me sir to uchan khandan ki hi hogi.
              (0)(0)
              Reply
              1. V
                Vijay S
                Jan 13, 2017 at 11:52 am
                PM का नही तो काया केजरीवाल और राहुल बाबा का फोटो लगेगा?
                (0)(1)
                Reply
                1. S
                  sach
                  Jan 14, 2017 at 4:08 am
                  गांधीजी की फोटो में का ाई थी?
                  (0)(0)
                  Reply
                2. V
                  Vijay S
                  Jan 13, 2017 at 11:54 am
                  हिंदुस्तान मैं हो इसी लिए इतना कुछ बोल पा रहे हो . कही पकिस्तान या किसी और देश मैं होते तो आब तक उलटे लटके होते.
                  (0)(0)
                  Reply
                  1. Load More Comments