ताज़ा खबर
 

राजनाथ सिंह की उग्रवादियों को दो टूक, हिंसा और वार्ता साथ-साथ नहीं

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने आज दो टूक कहा कि हिंसा में शामिल उग्रवादी समूहों के साथ कोई बातचीत नहीं होगी, हालांकि दूसरों के साथ बातचीत के दरवाजे खुले हुए हैं। सिंह ने यहां 19वें राष्ट्रीय युवा महोत्सव के समापन समारोह को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘चर्चा के लिए दरवाजे खुले हुए हैं। हम […]

Author January 12, 2015 6:04 PM
मसर्रत आलम पर कार्रवाई करें मुफ्ती सरकार: राजनाथ सिंह (फ़ाइल फ़ोटो)

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने आज दो टूक कहा कि हिंसा में शामिल उग्रवादी समूहों के साथ कोई बातचीत नहीं होगी, हालांकि दूसरों के साथ बातचीत के दरवाजे खुले हुए हैं।

सिंह ने यहां 19वें राष्ट्रीय युवा महोत्सव के समापन समारोह को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘चर्चा के लिए दरवाजे खुले हुए हैं। हम बातचीत करेंगे लेकिन किसी भी परिस्थिति में हिंसा में शामिल उग्रवादी संगठनों के साथ बातचीत नहीं होगी। हम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार में ऐसे चरमपंथी समूहों के साथ बातचीत नहीं करेंगे।’’

पूर्वोत्तर के उग्रवादी संगठनों से हिंसक गतिविधियों को त्यागने की अपील करते हुए गृह मंत्री ने कहा, ‘‘वे गरीब लोगों की समस्याओं को नहीं समझते हैं। गरीबों का नरसंहार हो रहा है और युवा चुप नहीं बैठ सकते। युवाओं को उनसे लड़ना होगा, चाहे वो कितना भी ताकतवर हों।’’

उन्होंने कहा, ‘‘हिंसा, लोगों को बांटने और उगाही में शामिल समूहों को किनारे लगाना होगा। मैं हिंसा और उग्रवाद से लड़ने में आपकी मदद मांगता हूं।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App