ताज़ा खबर
 

मौत के मोर्चे पर राहत नहीं 3971 लोगों की गई जान, चौबीस घंटे में कोविड-19 के 83,029 मामले

देश में अभी तक कुल 2,77,90,073 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं और मरीजों के ठीक होने की राष्ट्रीय दर भी बढ़कर 94.93 फीसद हो गई है। कोविड-19 से मत्यु दर 1.24 फीसद है।

Edited By Sanjay Dubey नई दिल्ली | Updated: June 12, 2021 4:22 AM
कोरोना टीका केंद्र पर अपनी बारी का इंतजार करता हुआ युवक। (फोटोः पीटीआई)

भारत में लगातार पांचवें दिन 24 घंटे में कोविड-19 के एक लाख से कम मामले सामने आए। शुक्रवार रात 10:26 तक 36 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में 83,029 संक्रमित मिले। वहीं मौत के मोर्चे पर राहत नहीं मिली। एक दिन में कोरोना विषाणु से 3,971 और लोगों की मौत हो गई। देश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 2,93,57,8001 हो गई है।

इससे पहले केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से शुक्रवार सुबह आठ बजे जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, देश में 3,403 और लोगों की संक्रमण से मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 3,63,079 हो गई थी। उपचाराधीन मरीजों की संख्या भी कम होकर 11,21,671 हो गई थी, जो कुल मामलों का 3.83 फीसद है। पिछले 24 घंटे में उपचाराधीन मामलों में कुल 46,281 की कमी आई है। आंकड़ों के अनुसार, देश में अभी तक कुल 37,42,42,384 नमूनों की कोविड-19 संबंधी जांच की गई है, जिनमें से 20,44,131 नमूनों की जांच गुरुवार को की गई।

नमूनों के संक्रमित आने की दैनिक दर 4.49 फीसद है। पिछले 18 दिन से संक्रमण की दैनिक दर 10 फीसद से कम बनी हुई है। वहीं, संक्रमण की साप्ताहिक दर भी कम होकर 5.14 फीसद हो गई है। संक्रमण मुक्त हुए लोगों की संख्या लगातार 29वें दिन संक्रमण के नए मामलों से अधिक रही।

देश में अभी तक कुल 2,77,90,073 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं और मरीजों के ठीक होने की राष्ट्रीय दर भी बढ़कर 94.93 फीसद हो गई है। कोविड-19 से मत्यु दर 1.24 फीसद है। देश में अभी तक कुल 24,60,85,649 लोगों को कोविड-19 रोधी टीके लग चुके हैं। आंकड़ों के अनुसार, देश में पिछले 24 घंटे में जिन 3,403 लोगों की मौत हुई, उनमें से महाराष्ट्र के 1,915, तमिलनाडु के 358 और कर्नाटक व केरल के 194-194 लोग थे।

कोवैक्सिन के इस्तेमाल की अमेरिका में फिलहाल मंजूरी नहीं
भारत बायोटेक के कोविड-19 टीका कोवैक्सीन को झटका देते हुए इसके अमेरिकी खाद्य एवं दवा नियामक ने इसके अमेरिकी साझेदार ओक्यूजेन इंक को सलाह दी है कि वह भारतीय टीके के इस्तेमाल की मंजूरी हासिल करने के लिए आपातकालीन उपयोग की अनुमति (ईयूए) की जगह अतिरिक्त आंकड़ों के साथ जैविक लाइसेंस आवेदन (बीएलए) मार्ग से अनुरोध करे।

Next Stories
1 मुकुल रॉय के टीएमसी में वापसी पर बोले संबित पात्रा, जान किसको नहीं प्यारी, डरकर बदली पार्टी
2 जब लाइव डिबेट में भिड़े भाजपा-सपा प्रवक्ता, बोले- बंगाल में खेला हुआ, यूपी में खदेड़ा होबे
3 सुवेंदु अधिकारी का नाम सुनते ही प्रेस कॉन्फ्रेंस ख़त्म कर चल दीं ममता बनर्जी, लोग करने लगे ऐसे कमेंट्स
ये  पढ़ा क्या?
X